Asianet News Hindi

शख्स ने पत्नी व तीन बच्चों समेत किया सुसाइड, लेटर में लिखा- नहीं दे सका परिवार को कोई सुख

First Published Jun 5, 2020, 3:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बाराबंकी(Uttar Pradesh). यूपी के बाराबंकी में दिल-दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक ही परिवार के 5 लोगों के सुसाइड से हड़कंप मच गया है। सुसाइड करने वालों में मां-बाप और उनके तीन बच्चे शामिल हैं। बच्चों में दो बेटियां और एक बेटा है. शुरुआती पूछताछ में परिवार के आर्थिक तंगी के चलते सुसाइड करने की बात सामने आ रही है। पूरा परिवार दो दिन से घर से बाहर नही निकला तो परिवार के लोगों को जानकारी हुई। सूचना पर पहुंची पुलिस जांच-पड़ताल में जुटी हुई है।
 

बाराबंकी के नगर कोतवाली क्षेत्र के सफेदाबाद में रहने वाले विवेक शुक्ला, उनकी पत्नी अनामिका, दो बेटियां पोयम शुक्ला (10 वर्ष), ऋतु शुक्ला (7 वर्ष) और बेटा बबल शुक्ला 5 वर्ष घर में ही मृत पाए गए। आस-पड़ोस वालों के अनुसार परिवारवालों को दो दिन से किसी ने नहीं देखा था।

बाराबंकी के नगर कोतवाली क्षेत्र के सफेदाबाद में रहने वाले विवेक शुक्ला, उनकी पत्नी अनामिका, दो बेटियां पोयम शुक्ला (10 वर्ष), ऋतु शुक्ला (7 वर्ष) और बेटा बबल शुक्ला 5 वर्ष घर में ही मृत पाए गए। आस-पड़ोस वालों के अनुसार परिवारवालों को दो दिन से किसी ने नहीं देखा था।

 शुरुआती जांच में पुलिस को ऐसा लग रहा है कि बच्चों की हत्या करने के बाद पिता ने आत्महत्या की है। वहीं मामले में एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें विवेक शुक्ला ने लिखा है कि आर्थिक तंगी के चलते वह यह कदम उठा रहा है। वह अपने परिवार को कोई सुख नही दे पाया।

 शुरुआती जांच में पुलिस को ऐसा लग रहा है कि बच्चों की हत्या करने के बाद पिता ने आत्महत्या की है। वहीं मामले में एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें विवेक शुक्ला ने लिखा है कि आर्थिक तंगी के चलते वह यह कदम उठा रहा है। वह अपने परिवार को कोई सुख नही दे पाया।

परिजनों ने बताया शादी के बाद से ही विवेक अपने माता-पिता से ज्यादा बातचीत नहीं करता था। पहले वह मोबाइल का काम करता था, इसके बाद उसने कुछ और काम किए लेकिन सफल नहीं हो सका। इस दौरान उस पर उधारी काफी हो गई थी। जिसकी वजह से वह काफी परेशान रहता था। 
 

परिजनों ने बताया शादी के बाद से ही विवेक अपने माता-पिता से ज्यादा बातचीत नहीं करता था। पहले वह मोबाइल का काम करता था, इसके बाद उसने कुछ और काम किए लेकिन सफल नहीं हो सका। इस दौरान उस पर उधारी काफी हो गई थी। जिसकी वजह से वह काफी परेशान रहता था। 
 

विवेक के भाई विनोद ने बताया कि उनकी विवेक से बातचीत नहीं थी। विवेक की शादी के बाद से ही उनका उससे कोई लेना-देना नहीं था। विनोद ने बताया कि सुनने में आया है कि विवेक किसी कर्ज आदि को लेकर परेशान था। पुख्ता तौर पर वह कुछ नहीं कह सकते।
 

विवेक के भाई विनोद ने बताया कि उनकी विवेक से बातचीत नहीं थी। विवेक की शादी के बाद से ही उनका उससे कोई लेना-देना नहीं था। विनोद ने बताया कि सुनने में आया है कि विवेक किसी कर्ज आदि को लेकर परेशान था। पुख्ता तौर पर वह कुछ नहीं कह सकते।
 

विवेक के घर से कोई बाहर नही निकला था लेकिन घर की AC दो दिन से लगातार चल रही थी। शुक्रवार सुबह जब विवेक की मां ने छत से कमरे के जंगले में झांककर देखा तो विवेक की फंदे से लटकी लाश दिखी। इसके बाद उन्होंने अपने दूसरे बेटे को जानकारी दी, जिसके बाद सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है वहीं मामले की जांच की जा रही है।
 

विवेक के घर से कोई बाहर नही निकला था लेकिन घर की AC दो दिन से लगातार चल रही थी। शुक्रवार सुबह जब विवेक की मां ने छत से कमरे के जंगले में झांककर देखा तो विवेक की फंदे से लटकी लाश दिखी। इसके बाद उन्होंने अपने दूसरे बेटे को जानकारी दी, जिसके बाद सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है वहीं मामले की जांच की जा रही है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios