Asianet News Hindi

व्हाट्सएप पर भेजी जाती थी लड़कियों की फोटो, फोन पर तय होता था रेट; ऐसे हुआ देह व्यापार के गिरोह का खुलासा

First Published Sep 2, 2020, 7:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

महराजगंज(Uttar Pradesh). उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले में पुलिस ने सोमवार रात शहर के एक मोहल्ले के एक मकान से देह व्यापार के आरोप में दो पुरुष व चार महिलाओं को पकड़ा था। मंगलवार को सभी को जेल भेज दिया गया। पुलिस ने इन लोगों की गिरफ्तारी के बाद पूरे मकान की गहन छानबीन की तो चौंकाने वाला सच सामने आया। मकान के एक कमरे में भारी मात्रा में शक्तिवर्धक दवाएं और अन्य कई प्रतिबंधित सामान मिले। यही नहीं कमरे से कई छात्राओं की तस्वीरें भी मिली हैं। इसमें कुछ स्कूल की यूनिफॉर्म में भी हैं। गिरफ्तार लोगों के पास मिली डायरी में इनका फोन नंबर भी मिला है। अब पुलिस इस बात का पता लगाने में जुटी है कि आखिर कम उम्र की स्कूली लड़कियों को इस दलदल में लाने वाले लोग कौन हैं।
 

पुलिस की छापेमारी में पकड़े गए दो पुरुष बिहार के निवासी हैं। वे नगर में फेरी का काम करते थे। यहां वे रात को इस धंधे को चलाने वाले महिला के ही साथ रहते थे। गिरफ्तार महिलाओं में से एक महिला लड़कियों का इंतजाम करती थी। 
 

पुलिस की छापेमारी में पकड़े गए दो पुरुष बिहार के निवासी हैं। वे नगर में फेरी का काम करते थे। यहां वे रात को इस धंधे को चलाने वाले महिला के ही साथ रहते थे। गिरफ्तार महिलाओं में से एक महिला लड़कियों का इंतजाम करती थी। 
 

पहले छात्राओं की फोटो वाट्सएप पर पसंद करने के लिए भेजी जाती थी उसके बाद कमरे में रात गुजारने के लिए ग्राहकों के साथ भेज दिया जाता था। इसके लिए बाकायदा व्हाट्सएप और फोन पर पहले ही रेट तय होता था।
 

पहले छात्राओं की फोटो वाट्सएप पर पसंद करने के लिए भेजी जाती थी उसके बाद कमरे में रात गुजारने के लिए ग्राहकों के साथ भेज दिया जाता था। इसके लिए बाकायदा व्हाट्सएप और फोन पर पहले ही रेट तय होता था।
 


इस रैकेट को चलाने वाले महिला के यहां आने जाने वाले लोगों पर नजर रखने के लिए मोहल्ले के ही एक व्यक्ति ने अपने घर के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगवा दिया। जिसके बाद पड़ोस के घर में सभी आने जाने वालों की तस्वीर कैमरे में कैद हो जाती थी। इसकी फुटेज को देखने पर पता चला कि 32 मिनट में 14 लड़कियां आते जाते दिखीं। मोहल्ले में बाइक सड़क के किनारे खड़ी रहती थी। अगर कोई विरोध करता था तो उससे धंधा कराने वाली महिला झगड़ा करने लगती थी। एक बार एक व्यक्ति की कार का शीशा भी तोड़ दिया गया था।


इस रैकेट को चलाने वाले महिला के यहां आने जाने वाले लोगों पर नजर रखने के लिए मोहल्ले के ही एक व्यक्ति ने अपने घर के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगवा दिया। जिसके बाद पड़ोस के घर में सभी आने जाने वालों की तस्वीर कैमरे में कैद हो जाती थी। इसकी फुटेज को देखने पर पता चला कि 32 मिनट में 14 लड़कियां आते जाते दिखीं। मोहल्ले में बाइक सड़क के किनारे खड़ी रहती थी। अगर कोई विरोध करता था तो उससे धंधा कराने वाली महिला झगड़ा करने लगती थी। एक बार एक व्यक्ति की कार का शीशा भी तोड़ दिया गया था।

महिला के इस काम से मोहल्ले के लोग परेशान हो गए थे। कई बार तो ग्राहक दूसरों के घरों का दरवाजा खटखटाने लगते थे। इसे लेकर मोहल्ले के संभ्रात लोग काफी परेशान थे। पुलिस की इस कार्रवाई पर लोगों ने राहत महसूस की।
 

महिला के इस काम से मोहल्ले के लोग परेशान हो गए थे। कई बार तो ग्राहक दूसरों के घरों का दरवाजा खटखटाने लगते थे। इसे लेकर मोहल्ले के संभ्रात लोग काफी परेशान थे। पुलिस की इस कार्रवाई पर लोगों ने राहत महसूस की।
 

अपर पुलिस अधीक्षक निवेश कटियार ने बताया कि पकडे़ गए छह आरोपियों के खिलाफ देह व्यापार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कर जेल भेज दिया गया। उनके पास से आधार कार्ड, वोटर कार्ड, दवा, पासबुक, तीन बाइक आदि सामान बरामद हुआ है। कोतवाल सदर एके सिंह ने बताया कि गिरफ्तार छह आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। पूछताछ में जो तथ्य सामने आए हैं, उसके हिसाब से आगे की कार्रवाई की जा रही है। क्षेत्र में इस तरह का धंधा किसी भी हालत में नहीं चलने दिया जाएगा।
 

अपर पुलिस अधीक्षक निवेश कटियार ने बताया कि पकडे़ गए छह आरोपियों के खिलाफ देह व्यापार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कर जेल भेज दिया गया। उनके पास से आधार कार्ड, वोटर कार्ड, दवा, पासबुक, तीन बाइक आदि सामान बरामद हुआ है। कोतवाल सदर एके सिंह ने बताया कि गिरफ्तार छह आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। पूछताछ में जो तथ्य सामने आए हैं, उसके हिसाब से आगे की कार्रवाई की जा रही है। क्षेत्र में इस तरह का धंधा किसी भी हालत में नहीं चलने दिया जाएगा।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios