Asianet News Hindi

जिस अनामिका के नाम से नौकरी कर रहे थे 25 लोग, उसे अब मिला रोजगार; इस स्कूल में बनीं टीचर

First Published Jun 13, 2020, 10:49 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गोडा(Uttar Pradesh). यूपी में जिस अनामिका शुक्ला के नाम से दो दर्जन से अधिक लोग फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे थे उस बेरोजगार अनामिका को अब जाकर रोजगार मिला है। गोंडा के एक निजी स्कूल ने अनामिका शुक्ला ने नौकरी दी है। नौकरी पाकर अनामिका के खुशी का ठिकाना नहीं है। दूसरी ओर अनामिका ने फर्जी नौकरी मामले में कोतवाली में तहरीर दी है। अनामिका की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

गौरतलब है कि प्रदेश के कई जिलों के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया था। इन स्कूलों में अनामिका शुक्ला के नाम से फर्जी तरीके से कई शिक्षिकाएं नौकरी कर रही थीं।

गौरतलब है कि प्रदेश के कई जिलों के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया था। इन स्कूलों में अनामिका शुक्ला के नाम से फर्जी तरीके से कई शिक्षिकाएं नौकरी कर रही थीं।

सरकार के निर्देश पर जब कस्तूरबा विद्यालयों में कार्यरत शिक्षिकाओं का डाटाबेसतैयार किया जाने लगा तब जाकर इस मामले का खुलासा हुआ। जिसके बाद इस मामले अलग-अलग कई FIR दर्ज किए गए।
 

सरकार के निर्देश पर जब कस्तूरबा विद्यालयों में कार्यरत शिक्षिकाओं का डाटाबेसतैयार किया जाने लगा तब जाकर इस मामले का खुलासा हुआ। जिसके बाद इस मामले अलग-अलग कई FIR दर्ज किए गए।
 

मामले की जांच आगे बढ़ी तो गोंडा के कमरावा में भुलईडीह गांव की रहने वाली असली अनामिका शुक्ला सामने आईं। अनामिका ने बताया कि साल 2017 में उन्होंने कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में साइंस टीचर के लिए आवेदन किया था।
 

मामले की जांच आगे बढ़ी तो गोंडा के कमरावा में भुलईडीह गांव की रहने वाली असली अनामिका शुक्ला सामने आईं। अनामिका ने बताया कि साल 2017 में उन्होंने कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में साइंस टीचर के लिए आवेदन किया था।
 

उन्होंने कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में साइंस टीचर के लिए सुल्तानपुर, जौनपुर, बस्ती, मिर्जापुर और लखनऊ में आवेदन किया था। लेकिन वह गर्भवती थीं और काउंसिलिंग से पहले उनकी बड़ी बेटी ऑपरेशन से हुई, जिस वजह से वह काउंसिलिंग में जा नहीं सकीं। जिसके बाद उनके दस्तावेजों को इस्तेमाल कर ये बड़ा फर्जीवाड़ा किया गया।
 

उन्होंने कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में साइंस टीचर के लिए सुल्तानपुर, जौनपुर, बस्ती, मिर्जापुर और लखनऊ में आवेदन किया था। लेकिन वह गर्भवती थीं और काउंसिलिंग से पहले उनकी बड़ी बेटी ऑपरेशन से हुई, जिस वजह से वह काउंसिलिंग में जा नहीं सकीं। जिसके बाद उनके दस्तावेजों को इस्तेमाल कर ये बड़ा फर्जीवाड़ा किया गया।
 

अनामिका ने कहा था कि ये गलत हो रहा है मेरे साथ। उन्होंने कहा कि इसमें शिक्षा विभाग के लोग ही शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हर इंसान अपने मां-पिता का नाम रोशन करने के लिए पढ़ता है। सरकार से निवेदन है कि वो मेरे दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ कर इतना बड़ा फर्जीवाड़ा करने वाले लोगों को चिन्हित करे उनके खिलाफ कारवाई करे ।
 

अनामिका ने कहा था कि ये गलत हो रहा है मेरे साथ। उन्होंने कहा कि इसमें शिक्षा विभाग के लोग ही शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हर इंसान अपने मां-पिता का नाम रोशन करने के लिए पढ़ता है। सरकार से निवेदन है कि वो मेरे दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ कर इतना बड़ा फर्जीवाड़ा करने वाले लोगों को चिन्हित करे उनके खिलाफ कारवाई करे ।
 

असली अनामिका शुक्ला की खबरें मीडिया में आने और जिले की इस प्रतिभा को सम्मान देने के लिए स्कूल ने नौकरी देकर सहायक शिक्षक के पद पर नियुक्त किया है। भैया हरिभान दत्त स्मारक विद्यालय के प्रबंधक ने शुक्रवार को अनामिका शुक्ला को नियुक्ति पत्र दिया। ऐसे में जिस अनामिका शुक्ला की डिग्री, मार्कशीट पर 2 दर्जन लोग फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे थे, उस असली अनामिका शुक्ला को अब रोजगार मिला है।

असली अनामिका शुक्ला की खबरें मीडिया में आने और जिले की इस प्रतिभा को सम्मान देने के लिए स्कूल ने नौकरी देकर सहायक शिक्षक के पद पर नियुक्त किया है। भैया हरिभान दत्त स्मारक विद्यालय के प्रबंधक ने शुक्रवार को अनामिका शुक्ला को नियुक्ति पत्र दिया। ऐसे में जिस अनामिका शुक्ला की डिग्री, मार्कशीट पर 2 दर्जन लोग फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे थे, उस असली अनामिका शुक्ला को अब रोजगार मिला है।

फर्जी नौकरी के मामले में अनामिका शुक्ला की तहरीर पर शहर कोतवाली पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और विधिक कार्रवाई में जुट गई है। अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार के अनुसार केस दर्ज कर लिया गया है, जांच की जा रही है।
 

फर्जी नौकरी के मामले में अनामिका शुक्ला की तहरीर पर शहर कोतवाली पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और विधिक कार्रवाई में जुट गई है। अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार के अनुसार केस दर्ज कर लिया गया है, जांच की जा रही है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios