Asianet News Hindi

कभी अमिताभ के आगे केबीसी में फूट-फूटकर रोने लगी थी ये महिला, अब मिला ऐसा मुकाम

First Published May 14, 2020, 3:38 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

प्रयागराज ( Uttar Pradesh)। महानायक अमिताभ बच्चन के क्वीज शो 'कौन बनेगा करोड़पति' (केबीसी) की हॉट सीट पर बैठने के बाद करोड़पति बनने से चुकी मेजा रामनगर की रहने वाली ऊषा यादव एक बार फिर सुर्खियों में आ गई हैं। ऊषा ने शो के बाद एक और सफलता की सीढ़ी चढ़ ली है। इस बार उन्होंने यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा में बाजी मारी है। 69000 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में उषा को 123 नंबर प्राप्त किए हैं, जो उनके और पूरे परिवार के लिए काफी खुशी की बात है। बता दें कि 23 सितंबर 2019 को कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी) के शो में ऊषा यादव हिस्सा ली थी। इस दौरान हॉट सीट पर अमिताभ बच्चन के सामने बैठते ही रोने लगी थी। हालांकि 13 सालों का जवाब देते हुए 25 लाख रुपए जीत लिए थे। आज हम आपको केबीसी के दौरान ऊषा से जुड़ी कई रोंचक बातें बता रहे हैं।


मेजा रामनगर क्षेत्र के उरूवा की रहने वाली ऊषा यादव 23 सितंबर 2019 को कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी) के शो में हिस्सा ली थी। ऊषा यादव फास्टेस्ट फिंगर राउंड में सबसे जल्दी जवाब देकर हॉट सीट पर पहुंचीं थीं। 
 


मेजा रामनगर क्षेत्र के उरूवा की रहने वाली ऊषा यादव 23 सितंबर 2019 को कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी) के शो में हिस्सा ली थी। ऊषा यादव फास्टेस्ट फिंगर राउंड में सबसे जल्दी जवाब देकर हॉट सीट पर पहुंचीं थीं। 
 


अमिताभ बच्चन के सामने पहुंचकर ऊषा यादव फूट-फूटकर रोने लगीं। जिसके बाद अमिताभ सीट से उठे और उन्हें टीशू पेपर दिया।
 


अमिताभ बच्चन के सामने पहुंचकर ऊषा यादव फूट-फूटकर रोने लगीं। जिसके बाद अमिताभ सीट से उठे और उन्हें टीशू पेपर दिया।
 


अमिताभ बच्चन ऊषा यादव से उस समय बोले थे कि आप तो हमारे ही जन्मस्थल इलाहाबाद यानी प्रयागराज से हैं। इतना सुनते ही ऊषा कहती हैं कि वो प्रयागराज के मेजा तहसील की रहने वाली हैं।


अमिताभ बच्चन ऊषा यादव से उस समय बोले थे कि आप तो हमारे ही जन्मस्थल इलाहाबाद यानी प्रयागराज से हैं। इतना सुनते ही ऊषा कहती हैं कि वो प्रयागराज के मेजा तहसील की रहने वाली हैं।

ऊषा की बात सुनकर अमिताभ बच्चन ने कहा था कि वो भी 1984 में वहां एक बार गए थे। जिस पर ऊषा ने कहा था कि मैं उस वक्त पैदा नहीं हुई थी।

ऊषा की बात सुनकर अमिताभ बच्चन ने कहा था कि वो भी 1984 में वहां एक बार गए थे। जिस पर ऊषा ने कहा था कि मैं उस वक्त पैदा नहीं हुई थी।


उषा का जवाब सुनकर अमिताभ बच्चन चुटकी लेते हुए बोले थे कि बस बता दिया ना आप मेरी उम्र। आप कहना चाहती हैं कि आपके सामने एक बूढ़ा बैठा हुआ है। इतना सुनते ही शो में पहुंचे दर्शक हंसने लगते थे।


उषा का जवाब सुनकर अमिताभ बच्चन चुटकी लेते हुए बोले थे कि बस बता दिया ना आप मेरी उम्र। आप कहना चाहती हैं कि आपके सामने एक बूढ़ा बैठा हुआ है। इतना सुनते ही शो में पहुंचे दर्शक हंसने लगते थे।


ऊषा ने खेल के दौरान 13 सवालों के सही जवाब दिए और 25 लाख रुपये जीतने में कामयाब रहीं थी। 13वें सवाल पर ऊषा यादव अटक गईं और उन्होंने एक्सपर्ट की सलाह ली। जिसके बाद वो सही जवाब देकर 25 लाख जीतने में कामयाब हुई थीं।


 


ऊषा ने खेल के दौरान 13 सवालों के सही जवाब दिए और 25 लाख रुपये जीतने में कामयाब रहीं थी। 13वें सवाल पर ऊषा यादव अटक गईं और उन्होंने एक्सपर्ट की सलाह ली। जिसके बाद वो सही जवाब देकर 25 लाख जीतने में कामयाब हुई थीं।


 


अमिताभ बच्चन ने ऊषा यादव से 14वां सवाल पूछा कि मान्यतानुसार हिरण्यकश्यप की पत्नी और प्रह्लाद की माता का नाम क्या था?' ऊषा इस सवाल के जवाब में कन्फ्यूज थीं इसलिए उन्होंने गेम से क्विट करना ही सही समझा। उन्होंने उत्तर में 'कौशिकी' पर अनुमान लगाया जबकि सही उत्तर था 'कयाधु'।


अमिताभ बच्चन ने ऊषा यादव से 14वां सवाल पूछा कि मान्यतानुसार हिरण्यकश्यप की पत्नी और प्रह्लाद की माता का नाम क्या था?' ऊषा इस सवाल के जवाब में कन्फ्यूज थीं इसलिए उन्होंने गेम से क्विट करना ही सही समझा। उन्होंने उत्तर में 'कौशिकी' पर अनुमान लगाया जबकि सही उत्तर था 'कयाधु'।


उषा यादव ने कौन बनेगा करोड़पति के सेट पर अमिताभ बच्चन के सवालों का जवाब देने के दौरान ये बात भी कही थी कि वो यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा के नतीजों का इंतजार कर रहीं हैं।


उषा यादव ने कौन बनेगा करोड़पति के सेट पर अमिताभ बच्चन के सवालों का जवाब देने के दौरान ये बात भी कही थी कि वो यूपी शिक्षक भर्ती परीक्षा के नतीजों का इंतजार कर रहीं हैं।

जीत के बाद ऊषा यादव ने कहा था कि 'मेरे मन में हमेशा से यह रहा कि कुछ ऐसा करूं जिससे मेरा और परिवार का नाम रौशन हो। पति बहुत पहले से केबीसी के लिए प्रयास कर रहे थे। पहले मेरे पास एंड्रायड फोन नहीं था। लेकिन, फोन मिलने के बाद पति ने मुझसे भी प्रयास करने के लिए कहा और अब मैं यहां से 25 लाख जीतने में कामयाब रही।

जीत के बाद ऊषा यादव ने कहा था कि 'मेरे मन में हमेशा से यह रहा कि कुछ ऐसा करूं जिससे मेरा और परिवार का नाम रौशन हो। पति बहुत पहले से केबीसी के लिए प्रयास कर रहे थे। पहले मेरे पास एंड्रायड फोन नहीं था। लेकिन, फोन मिलने के बाद पति ने मुझसे भी प्रयास करने के लिए कहा और अब मैं यहां से 25 लाख जीतने में कामयाब रही।


बता दें कि ऊषा ने बीएड किया है। इस 69000 उत्तर प्रदेश सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में उषा को 123 नंबर प्राप्त किए हैं, जो उनके और पूरे परिवार के लिए काफी खुशी की बात है।


बता दें कि ऊषा ने बीएड किया है। इस 69000 उत्तर प्रदेश सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में उषा को 123 नंबर प्राप्त किए हैं, जो उनके और पूरे परिवार के लिए काफी खुशी की बात है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios