Asianet News Hindi

ना डायटिंग-ना कोई एक्सरसाइज, 100 साल की इस मॉर्डन दादी ने बताया लंबी उम्र पाने का अचूक तरीका

First Published Jan 9, 2021, 12:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क : कहते हैं कि हम सबको वक्त के साथ बदलना चाहिए। लेकिन कुछ लोगों के लिए अपनी पुरानी सोच बदलकर नए में ढलना मुश्किल होता है। खासकर उन लोगों के लिए जो ज्यादा उम्र के होते हैं, पर आजी (aaji) के नाम से मशहूर हो रही 100 साल (100 year old) की ये दादी काफी मॉर्डन हैं और खुद को वक्त के साथ बदलने पर विश्वास रखती हैं। इस उम्र में भी वह काफी हेल्दी और फिट हैं। इसका राज वो बताती है कि मैं हमेशा जियो और जीने दो पर विश्वास करती हूं। आजी अपने पोता-पोती के साथ बैठकर चिल करती हैं और दोस्त की तरह उनकी बातें भी सुनती हैं। ऐसी आजी पाकर घरवाले भी बहुत खुश हैं। आइए आज आपको भी मिलवाते हैं 100 साल की मगर दिल से 25 साल की यंग दादी से...

कहते है ना कि जिस घर में बड़ों का साया होता है, वहां भगवान वास करते हैं। बड़े-बुजुर्ग न सिर्फ हमें आशीर्वाद देते हैं, बल्कि हमारे अच्छे और बुरे वक्त में हमारे साथ होते हैं। लेकिन कई बार लोग बुजुर्गों को बोझ समझकर खुद से दूर कर देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि वो पुराने विचारों के हैं।

कहते है ना कि जिस घर में बड़ों का साया होता है, वहां भगवान वास करते हैं। बड़े-बुजुर्ग न सिर्फ हमें आशीर्वाद देते हैं, बल्कि हमारे अच्छे और बुरे वक्त में हमारे साथ होते हैं। लेकिन कई बार लोग बुजुर्गों को बोझ समझकर खुद से दूर कर देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि वो पुराने विचारों के हैं।

ये तो सब बीते जमाने की बात हो गई, आज हम आपको मिलवाते हैं ऐसी महिला से जो 100 साल की उम्र में भी काफी मॉर्डन और खुले विचारों की है। ये महिला आजी नाम से फेमस हो रही है। सोशल मीडिया पर आजी आजकल सुर्खियों में हैं। फेसबुक पेज 'ह्यूमंस ऑफ बॉम्बे' पर आजी की स्टोरी खूब वायरल हो रही है। 

ये तो सब बीते जमाने की बात हो गई, आज हम आपको मिलवाते हैं ऐसी महिला से जो 100 साल की उम्र में भी काफी मॉर्डन और खुले विचारों की है। ये महिला आजी नाम से फेमस हो रही है। सोशल मीडिया पर आजी आजकल सुर्खियों में हैं। फेसबुक पेज 'ह्यूमंस ऑफ बॉम्बे' पर आजी की स्टोरी खूब वायरल हो रही है। 

1920 में जन्मी आजी महात्मा गांधी के साथ स्वतंत्रता आंदोलन का हिस्सा रहीं थी। वहीं हिटलर की तानाशाही को भी उन्होंने करीब से देखा। वे अक्सर अपने परिवार के साथ अपनी कहानियां शेयर करती हैं।

1920 में जन्मी आजी महात्मा गांधी के साथ स्वतंत्रता आंदोलन का हिस्सा रहीं थी। वहीं हिटलर की तानाशाही को भी उन्होंने करीब से देखा। वे अक्सर अपने परिवार के साथ अपनी कहानियां शेयर करती हैं।

100 साल की उम्र में भी आजी बेहद फिट और हेल्दी है। जिसकी पीछे की वजह वो कहती हैं कि 'जियो और जीने दो, यही मेरी लाइफ की सोच है।' समय के साथ बदलने पर आजी हमेशा से ही विश्वास करती आई है। तभी तो उनके पोता-पोती उनके साथ दोस्त की तरह बातें शेयर करते हैं।

100 साल की उम्र में भी आजी बेहद फिट और हेल्दी है। जिसकी पीछे की वजह वो कहती हैं कि 'जियो और जीने दो, यही मेरी लाइफ की सोच है।' समय के साथ बदलने पर आजी हमेशा से ही विश्वास करती आई है। तभी तो उनके पोता-पोती उनके साथ दोस्त की तरह बातें शेयर करते हैं।

बता दें कि आजी के 5 बच्चे और 10 पोता-पोती हैं, जिनके साथ वो हर त्योहार सेलिब्रेट करती है। यहां तक की बच्चों के साथ पिज्जा पार्टी हो या बर्गर खाना वह हमेशा रेडी रहती हैं। बच्चे भी आजी की कंपनी बहुत एंजॉय करते है।

बता दें कि आजी के 5 बच्चे और 10 पोता-पोती हैं, जिनके साथ वो हर त्योहार सेलिब्रेट करती है। यहां तक की बच्चों के साथ पिज्जा पार्टी हो या बर्गर खाना वह हमेशा रेडी रहती हैं। बच्चे भी आजी की कंपनी बहुत एंजॉय करते है।

आजी बताती हैं कि मेरे साथ वाली महिलाएं मुझे हद से ज्यादा फॉरवर्ड मानती हैं। वे कहती हैं मैं अपने बच्चों को बिगाड़ रही हूं। लेकिन मैं इस बात में यकीन करती हूं कि वक्त के साथ हम सबको बदलना चाहिए।

आजी बताती हैं कि मेरे साथ वाली महिलाएं मुझे हद से ज्यादा फॉरवर्ड मानती हैं। वे कहती हैं मैं अपने बच्चों को बिगाड़ रही हूं। लेकिन मैं इस बात में यकीन करती हूं कि वक्त के साथ हम सबको बदलना चाहिए।

आजी के इन खुले विचारों को कई लोग सही मनाते है, तो कई उनकी आलोचना भी करते हैं। एक बार घर वालों के विरोध के बाद भी आजी से अपने बेटे की इंटरकास्ट मैरिज करवाई थी। हालांकि बाद में सब कुछ ठीक हो गया।

आजी के इन खुले विचारों को कई लोग सही मनाते है, तो कई उनकी आलोचना भी करते हैं। एक बार घर वालों के विरोध के बाद भी आजी से अपने बेटे की इंटरकास्ट मैरिज करवाई थी। हालांकि बाद में सब कुछ ठीक हो गया।

ये परिवार हंसी-खुशी अपनी जिंदगी जीता है। छोटे-बड़े हर तीज-त्योहार पर सब साथ होते हैं और हंसी की खूब ठिठोली लगती है।

ये परिवार हंसी-खुशी अपनी जिंदगी जीता है। छोटे-बड़े हर तीज-त्योहार पर सब साथ होते हैं और हंसी की खूब ठिठोली लगती है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios