Asianet News Hindi

सास ने दिया दामाद के बच्चे को जन्म, गोद में लेते ही बेटी ने कहा- मेरा सपना पूरा करने के लिए थैंक यू मॉम

First Published Nov 17, 2020, 11:08 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क : मां-बेटी की रिश्ता दुनिया का सबसे अनमोल रिश्ता हो, एक मां अपने बच्चों के लिए कुछ भी कर सकती हैं, फिर चाहे अपने बेटी के बच्चे को जन्म देना ही क्यों न हो। जी हां, अमेरिका के शिकागो में रहने वाली जूली ने अपनी बेटी के लिए अपनी पोती को जन्म दिया है। सरोगेसी (surrogacy) तकनीक का इस्तेमाल कर उन्होंने अपनी बेटी के बच्चे  को 9 महीने गर्भ में रखा और उसे इस दुनिया में लेकर आई। मां के इस गिफ्ट से उनकी बेटी भी बहुत खुश है और उन्हें इसके लिए धन्यवाद दे रही हैं, क्योंकि उसकी मां ने उसका मां बनने का सपना पूरा कर दिया है।

सुनने में ये थोड़ा अजीब जरूर लग सकता है कि एक सास ने अपने दामाद के बच्चे को जन्म दिया। लेकिन ये सच है अमेरिका में 51 साल की जूली (Julie) ने अपनी पोती को जन्म दिया है।
 

सुनने में ये थोड़ा अजीब जरूर लग सकता है कि एक सास ने अपने दामाद के बच्चे को जन्म दिया। लेकिन ये सच है अमेरिका में 51 साल की जूली (Julie) ने अपनी पोती को जन्म दिया है।
 

दरअसल जूली की बेटी ब्रियाना (Breanna Lockwood) को गर्भ धारण करने में कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। 4 साल में वह 2 बार प्रेग्नेंट भी हुई लेकिन उसका बच्चा बच नहीं पाया। इसके बाद सालों तक वह मां बनने का सपना देखती रही, लेकिन उसका सपना पूरा नहीं हो पाया।

दरअसल जूली की बेटी ब्रियाना (Breanna Lockwood) को गर्भ धारण करने में कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। 4 साल में वह 2 बार प्रेग्नेंट भी हुई लेकिन उसका बच्चा बच नहीं पाया। इसके बाद सालों तक वह मां बनने का सपना देखती रही, लेकिन उसका सपना पूरा नहीं हो पाया।

इसके बाद ब्रियाना का दर्द मां से देखा नहीं गया और उन्होंने बेटी के लिए सरोगेसी की मदद से बच्चा करने की ठानी। डॉक्टर्स से सलाह लेने के बाद वह 51 साल की उम्र में भी मां बन पाई।

इसके बाद ब्रियाना का दर्द मां से देखा नहीं गया और उन्होंने बेटी के लिए सरोगेसी की मदद से बच्चा करने की ठानी। डॉक्टर्स से सलाह लेने के बाद वह 51 साल की उम्र में भी मां बन पाई।

9 महीने तक जूली ने अपनी पोती को अपने गर्भ में रखा और सफलतापूर्वक उसे डिलीवर किया। बच्चे के दुनिया में आने से ब्रियाना और उनका पति भी बहुत खुश हैं। उनकी बेटी की नाम ब्रार जूलियट लॉकवुड (Briar Juliette Lockwood) है।

9 महीने तक जूली ने अपनी पोती को अपने गर्भ में रखा और सफलतापूर्वक उसे डिलीवर किया। बच्चे के दुनिया में आने से ब्रियाना और उनका पति भी बहुत खुश हैं। उनकी बेटी की नाम ब्रार जूलियट लॉकवुड (Briar Juliette Lockwood) है।

ब्रियाना कहती हैं कि उनकी मां एक रॉकस्टार हैं और जिस तरह से उन्होंने उनकी मदद की है, वह खुद को बेहद भाग्यशाली महसूस करती हैं। 

ब्रियाना कहती हैं कि उनकी मां एक रॉकस्टार हैं और जिस तरह से उन्होंने उनकी मदद की है, वह खुद को बेहद भाग्यशाली महसूस करती हैं। 

अपनी मां और उनके गर्भ में पल रहे बच्चे की तस्वीरें वो अक्सर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करती है। इंस्टाग्राम पर उनके 1.5 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

अपनी मां और उनके गर्भ में पल रहे बच्चे की तस्वीरें वो अक्सर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करती है। इंस्टाग्राम पर उनके 1.5 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

वहीं, जूली का कहना है कि वह अपनी बेटी की मदद खुद करना चाहती थी। उन्होंने बताया कि वह इससे पहले 30 साल पहले गर्भवती हुई थी। लेकिन एक बार फिर से बच्चे को जन्म देना उनके लिए बहुत अच्छा अनुभव था।

वहीं, जूली का कहना है कि वह अपनी बेटी की मदद खुद करना चाहती थी। उन्होंने बताया कि वह इससे पहले 30 साल पहले गर्भवती हुई थी। लेकिन एक बार फिर से बच्चे को जन्म देना उनके लिए बहुत अच्छा अनुभव था।

बता दें कि सरोगेसी एक ऐसा जरिया है जो किसी को भी संतान की खुशी हासिल करने में मदद करता है। इस लेटेस्ट टेक्निक को कोई भी माता-पिता होने का सुख भोग सकते हैं। सरोगेसी एक महिला और एक दंपती के बीच का एक एग्रीमेंट होता है, जो अपना खुद का बच्चा चाहता है। सामान्य शब्दों में अगर कहे तो सरोगेसी का मतलब है कि बच्चे के जन्म तक एक महिला की किराए की कोख।

बता दें कि सरोगेसी एक ऐसा जरिया है जो किसी को भी संतान की खुशी हासिल करने में मदद करता है। इस लेटेस्ट टेक्निक को कोई भी माता-पिता होने का सुख भोग सकते हैं। सरोगेसी एक महिला और एक दंपती के बीच का एक एग्रीमेंट होता है, जो अपना खुद का बच्चा चाहता है। सामान्य शब्दों में अगर कहे तो सरोगेसी का मतलब है कि बच्चे के जन्म तक एक महिला की किराए की कोख।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios