Asianet News Hindi

इस देश ने जीत ली कोरोना से जंग, 70% संक्रमित हुए ठीक, भारत सहित दुनिया ले सकती है सीख

First Published Apr 21, 2020, 1:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: दुनिया में कोरोना का आतंक तेजी से फ़ैल रहा है। आज दुनिया में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 24 लाख 83 हजार पार है तो मौत का आंकड़ा 1 लाख 70 हजार क्रॉस कर गया है। दुनिया के लगभग हर देश में इस वायरस ने आतंक मचा रखा है। शक्तिशाली देशों में गिने जाने वाले अमेरिका को इस वायरस ने घुटनों पर ला दिया है। यहां मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। इस बीच एक अच्छी खबर ऑस्ट्रेलिया से सामने आई है। इस देश ने कुछ ही महीनों में इस वायरस पर कंट्रोल पा लिया है। देश के कुल संक्रमित मरीजों में से 70 प्रतिशत ठीक हो चुके हैं। बचे लोगों का भी इलाज चल रहा है। भारत सहित दुनिया के बाकी देश भी इस वायरस से जंग में ऑस्ट्रेलिया से सीख ले सकते हैं। आइये आपको बताते हैं कैसे ऑस्ट्रलिया ने इस वायरस से जंग लड़ी...  
 

ऑस्ट्रेलिया में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 6 हजार 6 सौ है। इस वायरस से 71 लोगों को मौत की नींद सुला दिया लेकिन वहीं देश के 4 हजार 6 सौ लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। 

ऑस्ट्रेलिया में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 6 हजार 6 सौ है। इस वायरस से 71 लोगों को मौत की नींद सुला दिया लेकिन वहीं देश के 4 हजार 6 सौ लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। 

आंकड़ों को देखकर ऐसा कहा जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया ने लगभग कोरोना से जंग जीत ली है। देश में कोरोना संक्रमितों के नए मामलों में कमी आई है। 

आंकड़ों को देखकर ऐसा कहा जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया ने लगभग कोरोना से जंग जीत ली है। देश में कोरोना संक्रमितों के नए मामलों में कमी आई है। 

देश में कोरोना के मरीजों की संख्या में तेजी से कमी आई है। इसकी वजह से जल्द ही ऑस्ट्रेलिया लॉकडाउन खत्म करने का ऐलान कर सकता है। जून के बाद लोगों को छोटी गेदरिंग्स  करने की अनुमति मिल सकती है। 

देश में कोरोना के मरीजों की संख्या में तेजी से कमी आई है। इसकी वजह से जल्द ही ऑस्ट्रेलिया लॉकडाउन खत्म करने का ऐलान कर सकता है। जून के बाद लोगों को छोटी गेदरिंग्स  करने की अनुमति मिल सकती है। 

देश में दिसंबर तक फ्लाइट्स शुरू किये जा सकते हैं। लेकिन ये विदेशों में होंगे या सिर्फ डोमेस्टिक ये हालात देखकर फैसला किया जाएगा। लेकिन अभी हाल-फिलहाल किसी तरह के स्पोर्ट्स इवेंट्स को नहीं करवाने का फैसला किया गया है। 

देश में दिसंबर तक फ्लाइट्स शुरू किये जा सकते हैं। लेकिन ये विदेशों में होंगे या सिर्फ डोमेस्टिक ये हालात देखकर फैसला किया जाएगा। लेकिन अभी हाल-फिलहाल किसी तरह के स्पोर्ट्स इवेंट्स को नहीं करवाने का फैसला किया गया है। 

देश की इस जीत के बारे में बात करते हुए डिप्टी चीफ मेडिकल अफसर ने कहा कि देश में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन किया जा रहा है। यही वजह है कि देश में कोरोना की रफ़्तार रोकी जा सकी है।  

देश की इस जीत के बारे में बात करते हुए डिप्टी चीफ मेडिकल अफसर ने कहा कि देश में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन किया जा रहा है। यही वजह है कि देश में कोरोना की रफ़्तार रोकी जा सकी है।  

वहीं वेस्टर्न ऑस्ट्रेलियन प्रीमियर का मानना है कि देश के बॉर्डर्स को पूरी तरह बंद करने के फैसले के कारण भी कोरोना पर लगाम लगाई जा सकी। 

वहीं वेस्टर्न ऑस्ट्रेलियन प्रीमियर का मानना है कि देश के बॉर्डर्स को पूरी तरह बंद करने के फैसले के कारण भी कोरोना पर लगाम लगाई जा सकी। 

20 अप्रैल को ऑस्ट्रेलिया से महज 13 नए मामले सामने आए। हालांकि, सरकार ने साफ़ किया है कि मेडिकल एक्सपर्ट्स से बातचीत के बाद ही लॉकडाउन पर कोई फैसला लिया जाएगा।  

20 अप्रैल को ऑस्ट्रेलिया से महज 13 नए मामले सामने आए। हालांकि, सरकार ने साफ़ किया है कि मेडिकल एक्सपर्ट्स से बातचीत के बाद ही लॉकडाउन पर कोई फैसला लिया जाएगा।  

देश में संक्रमितों की कुल संख्या अब 24 सौ रह गई है। जिसमें से मात्र 170 ही अस्पताल में एडमिट हैं। बाकी को उनके घरों में ही क्वारेंटाइन किया गया है। 
 

देश में संक्रमितों की कुल संख्या अब 24 सौ रह गई है। जिसमें से मात्र 170 ही अस्पताल में एडमिट हैं। बाकी को उनके घरों में ही क्वारेंटाइन किया गया है। 
 

इन संक्रमितों में 50 का इलाज आईसीयू में चल रहा है। अगर यहां इसी तरह संक्रमितों की संख्या में गिरवाट आती रहेगी तो जल्द ही ऑस्ट्रेलिया वायरस पर जीत पाने वाला पहला देश बन जाएगा। 

इन संक्रमितों में 50 का इलाज आईसीयू में चल रहा है। अगर यहां इसी तरह संक्रमितों की संख्या में गिरवाट आती रहेगी तो जल्द ही ऑस्ट्रेलिया वायरस पर जीत पाने वाला पहला देश बन जाएगा। 

बता दें कि मार्च में ही इस देश ने अपने सारे बॉर्डर्स सील कर दिए थे। ट्रेवल बैन कर दिया था और बिजनेस शट डाउन कर दिया था। इन फैसलों के बाद मार्च से अप्रैल तक कोरोना के मामलों में 90 प्रतिशत कमी दर्ज की गई।  
 

बता दें कि मार्च में ही इस देश ने अपने सारे बॉर्डर्स सील कर दिए थे। ट्रेवल बैन कर दिया था और बिजनेस शट डाउन कर दिया था। इन फैसलों के बाद मार्च से अप्रैल तक कोरोना के मामलों में 90 प्रतिशत कमी दर्ज की गई।  
 

भारत सहित दुनिया के बाकी देशों को ऑस्ट्रेलिया से सीख लेनी चाहिए। सख्ती से लॉकडाउन का पालन करना ही इस वायरस को हारने का एकमात्र तरीका है। दुनिया के कई देशों अब लॉकडाउन हटाने की बात चल रही है, जबकि वहां अभी भी वायरस तेजी से फ़ैल रहा है। ऐसे में देशों को दुबारा सोचना चाहिए। 

भारत सहित दुनिया के बाकी देशों को ऑस्ट्रेलिया से सीख लेनी चाहिए। सख्ती से लॉकडाउन का पालन करना ही इस वायरस को हारने का एकमात्र तरीका है। दुनिया के कई देशों अब लॉकडाउन हटाने की बात चल रही है, जबकि वहां अभी भी वायरस तेजी से फ़ैल रहा है। ऐसे में देशों को दुबारा सोचना चाहिए। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios