Asianet News Hindi

16 सौ साल पहले रातों-रात गायब हो गया था चर्च, लॉकडाउन में इस हाल में अचानक आ गया सामने

First Published Jun 12, 2020, 9:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क। कोरोना वायरस ने जहां पूरी दुनिया में कोहराम मचा दिया है। वहीं कुछ चीजें ऐसी भी हैं जो कोरोना काल में अच्छी हुई हैं। कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन में प्रकृति ने खुलकर सांस ली हैं। बड़ी बड़ी फ्रैक्ट्रियों के बंद होने से नदियां पूरी तरह से साफ हो गई हैं। नदियों का पानी पीने लायक हो गया है। ये वे नदियां हैं जिन पर सरकारों ने करोड़ों रुपये खर्च कर दिए लेकिन गंदगी साफ नहीं हो पाई। इस सब का सबसे बढ़िया उदाहरण है टर्की। जहां 1600 साल से डूबा एक चर्च आप पानी के ऊपर आ गया है। आइये जानते हैं इस लेक के बारे में।

16 सौ साल पहले टर्की की इजनिक झील में ये चर्च डूब गया था, जिसे गंदगी के वजह से देख पाना भी मुश्किल था।

16 सौ साल पहले टर्की की इजनिक झील में ये चर्च डूब गया था, जिसे गंदगी के वजह से देख पाना भी मुश्किल था।

कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन में ये झील बिल्कुल साफ हो गई है। पानी एकदम क्रिस्टल क्लीयर दिखाई देता है।

कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन में ये झील बिल्कुल साफ हो गई है। पानी एकदम क्रिस्टल क्लीयर दिखाई देता है।

16 साल बाद जब पानी साफ हुआ तो चर्च भी पानी के अंदर स्पष्ट रूप से दिखाई दी है। 
 

16 साल बाद जब पानी साफ हुआ तो चर्च भी पानी के अंदर स्पष्ट रूप से दिखाई दी है। 
 

ये जगह इतिहास की सबसे पुरानी जगह है और ईसाइयों के सबसे महत्वपूर्ण स्थानों में से एक है। 

ये जगह इतिहास की सबसे पुरानी जगह है और ईसाइयों के सबसे महत्वपूर्ण स्थानों में से एक है। 

इस चर्च का निर्माण 390 वीं ईसवी में हुआ था। वहीं पुरातत्व विभाग का कहना है कि भूकंप के वजह ये चर्च विलुप्त हो गई थी

इस चर्च का निर्माण 390 वीं ईसवी में हुआ था। वहीं पुरातत्व विभाग का कहना है कि भूकंप के वजह ये चर्च विलुप्त हो गई थी

इतिहास कारों का मानना है कि भूकंप की वजह से ये चर्च टूट गया था। 

इतिहास कारों का मानना है कि भूकंप की वजह से ये चर्च टूट गया था। 

पानी में दिखाई दे रही ये संरचना सतह के नीचे 1.5 से 2 मीटर के बीच में स्थित है। सबसे बड़ी बात ये है कि 1600 सालों में पहली बार इसे स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। 

पानी में दिखाई दे रही ये संरचना सतह के नीचे 1.5 से 2 मीटर के बीच में स्थित है। सबसे बड़ी बात ये है कि 1600 सालों में पहली बार इसे स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। 

इस झील की सतह पर दिखाई दे रही इस चर्च की फोटो को ड्रोन कैमरे के जरिए कैद किया गया है। 
 

इस झील की सतह पर दिखाई दे रही इस चर्च की फोटो को ड्रोन कैमरे के जरिए कैद किया गया है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios