Asianet News Hindi

खुदाई के दौरान मिली जानवरों की ऐसी कब्रगाह, 2 हजार साल से जमीन में दफन था राज

First Published Mar 2, 2021, 12:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: आपने ऐसे  कई मामले देखे होंगे जब पुरातत्व विभाग के लोगों ने खुदाई में पुरानी सभ्यताएं ढूंढ निकाली। खुदाई के इस काम से पुराने ज़माने के कई राज खुल जाते हैं। इजिप्ट में चल रही खुदाई में अचानक पुरात्तव विभाग को एक जगह से 600 लाशें मिली। लेकिन ये लाशें इंसान की नहीं थी। ये कब्रगाह थी जानवरों की। जी हां, इस कब्रगाह में जानवरों को रीति-रिवाज के साथ दफनाया जाता था। ऐसा इनकी बॉडी को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है। साथ में और भी कई चौंकाने वाले राज सामने आए हैं.... 

इजिप्ट के पुरातत्वविभाग के हाथ ऐसा कब्रगाह लगा है जिसे दुनिया का सबसे पुराना कब्रगाह कहा जा रहा है। ये इंसानों की नहीं, बल्कि जानवरों की कब्रगाह है। 

इजिप्ट के पुरातत्वविभाग के हाथ ऐसा कब्रगाह लगा है जिसे दुनिया का सबसे पुराना कब्रगाह कहा जा रहा है। ये इंसानों की नहीं, बल्कि जानवरों की कब्रगाह है। 

एक्सपर्ट्स ने अभी तक की खुदाई में कुल 600 लाशों को बाहर निकाला है जिसमें कुत्ते, बिल्ली और कई बंदरों की बॉडी शामिल है। इनमें से कई जानवरों के गले में कॉलर्स और पट्टे भी मिले हैं। 

एक्सपर्ट्स ने अभी तक की खुदाई में कुल 600 लाशों को बाहर निकाला है जिसमें कुत्ते, बिल्ली और कई बंदरों की बॉडी शामिल है। इनमें से कई जानवरों के गले में कॉलर्स और पट्टे भी मिले हैं। 

जब पहली बार इस कब्र को ढूंढा गया तब कयास लगाए गए कि शायद पुराने समय में किसी मन्नत के लिए इतने जानवरों की बलि चढ़ाई गई होगी। लेकिन जब एक्सपर्ट्स ने अच्छे से शोध किया तो पाया कि ये बात गलत है। 

जब पहली बार इस कब्र को ढूंढा गया तब कयास लगाए गए कि शायद पुराने समय में किसी मन्नत के लिए इतने जानवरों की बलि चढ़ाई गई होगी। लेकिन जब एक्सपर्ट्स ने अच्छे से शोध किया तो पाया कि ये बात गलत है। 

जितने भी जानवरों की बॉडी मिली, वो सभी काफी बूढ़े हो चुके थे और उनकी मौत या तो किसी बीमारी से हुई थी या उम्र ज्यादा होने की वजह से। ऐसे में ये कन्फर्म हुआ कि पुराने समय में लोग अपने पालतू जानवरों की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार करते थे। 

जितने भी जानवरों की बॉडी मिली, वो सभी काफी बूढ़े हो चुके थे और उनकी मौत या तो किसी बीमारी से हुई थी या उम्र ज्यादा होने की वजह से। ऐसे में ये कन्फर्म हुआ कि पुराने समय में लोग अपने पालतू जानवरों की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार करते थे। 

पुरानी चीजों की खोज करने वाली खोजी  Marta Osypinska और उनके पति Piotr ने इस साइट की खोज 2011 में की थी। उस समय सबसे पहले इसे बलि से जोड़ा गया था। हालांकि, अब इस सिद्धांत को खारिज कर दिया गया है। 

पुरानी चीजों की खोज करने वाली खोजी  Marta Osypinska और उनके पति Piotr ने इस साइट की खोज 2011 में की थी। उस समय सबसे पहले इसे बलि से जोड़ा गया था। हालांकि, अब इस सिद्धांत को खारिज कर दिया गया है। 

इस कब्रगाह से सबसे ज्यादा बिल्लियों की बॉडी निकाली गई। 600 में से कुल 100 लाशें बिल्लियों की थी। इजिप्ट में वैसे भी बिल्ली को काफी शुभ माना जाता है। ऐसे में जब ये मर जाती थीं, तो बाकायदा इनका अंतिम संस्कार किया जाता था।  

इस कब्रगाह से सबसे ज्यादा बिल्लियों की बॉडी निकाली गई। 600 में से कुल 100 लाशें बिल्लियों की थी। इजिप्ट में वैसे भी बिल्ली को काफी शुभ माना जाता है। ऐसे में जब ये मर जाती थीं, तो बाकायदा इनका अंतिम संस्कार किया जाता था।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios