Asianet News Hindi

जज्बा: स्कूल से घर आते हुए पैर पर चढ़ गया था ट्रक का पहिया, लोगों ने बुलाया लंगड़ी तो ऐसे दिया मुंहतोड़ जवाब

First Published Jan 8, 2021, 5:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: कहते हैं ना कि अगर इरादे बुलंद  हो तो इंसान किसी भी मुश्किल से पार पा जाता है। सिर्फ आपके अंदर जज्बा होना चाहिए। जहां आज के समय में लोग छोटी-छोटी परेशानियों से घबराकर हार मान लेते हैं, वहीं जिस महिला के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं, उसने अपनी जिंदगी में वो कर दिखाया जो बहुत कम लोग कर पाते हैं। हम बात कर रहे हैं चीन में रहने वाली गुई युना (Gui Yuna) की। गुई ने सात साल की उम्र में अपने पैर खो दिए थे। स्कूल में सभी उसे लंगड़ी बोलकर चिढ़ाते थे। पहले तो इससे आहत होकर गुई रोती थी। लेकिन बाद में उसने इसे अपनी ताकत बनाने का फैसला किया। आज गुई एक पैर के साथ ही पैराऑलम्पिक्स से लेकर बॉडीबिल्डिंग के क्षेत्र में धमाल मचा रही हैं। आइए आपको दिखाते हैं कैसे मुश्किलों को पार कर आज कामयाबी की सीढ़ी चढ़ रही है गुई युना... 

Gui Yuna ने 2004 में एथेंस पैराओलंपिक्स में हिस्सा लिया था।  अब उन्होंने वेट लिफ्टिंग में हाथ आजमाया है और पहली ही बार में उन्होंने जीत दर्ज कर ली। 
 

Gui Yuna ने 2004 में एथेंस पैराओलंपिक्स में हिस्सा लिया था।  अब उन्होंने वेट लिफ्टिंग में हाथ आजमाया है और पहली ही बार में उन्होंने जीत दर्ज कर ली। 
 

अपनी जीत के बाद Gui Yuna भावुक हो गई थी। उन्होंने आंखों में आंसू लेकर बताया कि  कैसे उन्होंने सात साल की उम्र में अपने पैर गंवा दिए थे। इसके बाद उसके स्कूलमेट्स उसे लंगड़ी बुलाने लगे थे। कई बार उसे कुर्सी से नीचे गिरा दिया जाता था। 

अपनी जीत के बाद Gui Yuna भावुक हो गई थी। उन्होंने आंखों में आंसू लेकर बताया कि  कैसे उन्होंने सात साल की उम्र में अपने पैर गंवा दिए थे। इसके बाद उसके स्कूलमेट्स उसे लंगड़ी बुलाने लगे थे। कई बार उसे कुर्सी से नीचे गिरा दिया जाता था। 

11 दिसंबर 2020 को Gui Yuna ने बीजिंग के इंटरनेशनल वेटलिफ्टिंग फेडरेशन द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। 

11 दिसंबर 2020 को Gui Yuna ने बीजिंग के इंटरनेशनल वेटलिफ्टिंग फेडरेशन द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। 

इसमें जीत हासिल करते ही Gui Yuna ने ना सिर्फ खिताब बल्कि लोगों का दिल भी जीत लिया। उनकी इंस्पिरेशनल स्टोरी सोशल मीडिया पर छा गई है। 
 

इसमें जीत हासिल करते ही Gui Yuna ने ना सिर्फ खिताब बल्कि लोगों का दिल भी जीत लिया। उनकी इंस्पिरेशनल स्टोरी सोशल मीडिया पर छा गई है। 
 

Gui Yuna  प्रतियोगिता में एक पैर में हील सैंडल और बिकिनी पहन हिस्सा लिया।  उनके   कॉन्फिडेंस ने लोगों का दिल ही जीत लिया। 
 

Gui Yuna  प्रतियोगिता में एक पैर में हील सैंडल और बिकिनी पहन हिस्सा लिया।  उनके   कॉन्फिडेंस ने लोगों का दिल ही जीत लिया। 
 

अपनी जीत के बारे में बात करते हुए Gui Yuna ने कहा कि हो सकता है कि वो अपने मसल्स की वजह से नहीं बल्कि अपने कॉन्फिडेंस की वजह से जीती हैं। उन्होंने आगे कहा कि हार मान लेने से कभी आप आगे नहीं बढ़ पाते। 

अपनी जीत के बारे में बात करते हुए Gui Yuna ने कहा कि हो सकता है कि वो अपने मसल्स की वजह से नहीं बल्कि अपने कॉन्फिडेंस की वजह से जीती हैं। उन्होंने आगे कहा कि हार मान लेने से कभी आप आगे नहीं बढ़ पाते। 

Gui Yuna अपने कटे पैर के साथ ही जिम में इंटेंस वर्कआउट करती हैं। टिकटोक पर 2 लाख फॉलोवर्स के साथ वो लगातार अपने वीडियोज शेयर करती है। 
 

Gui Yuna अपने कटे पैर के साथ ही जिम में इंटेंस वर्कआउट करती हैं। टिकटोक पर 2 लाख फॉलोवर्स के साथ वो लगातार अपने वीडियोज शेयर करती है। 
 

अपने  एक्सीडेंट के बारे में Gui Yuna को बस इतना याद है कि स्कूल से घर जाते हुए ट्रक ने उन्हें धक्का मार दिया था। इसके बाद उनके एक पैर को काटना पड़ा। स्कूल में बच्चे उसे लंगड़ी बुलाते थे। 
 

अपने  एक्सीडेंट के बारे में Gui Yuna को बस इतना याद है कि स्कूल से घर जाते हुए ट्रक ने उन्हें धक्का मार दिया था। इसके बाद उनके एक पैर को काटना पड़ा। स्कूल में बच्चे उसे लंगड़ी बुलाते थे। 
 

पहले वो इससे दुखी होकर रो पड़ती थी। लेकिन फिर उन्होने इस हालात का सामना करने का फैसला किया। आज वो कहती हैं कि अगर उन्हें चिढ़ाया नहीं जाता, तो वो इस मुकाम तक नहीं आ पाती। 

पहले वो इससे दुखी होकर रो पड़ती थी। लेकिन फिर उन्होने इस हालात का सामना करने का फैसला किया। आज वो कहती हैं कि अगर उन्हें चिढ़ाया नहीं जाता, तो वो इस मुकाम तक नहीं आ पाती। 

पिता की मौत के बाद Gui Yuna को उनकी मां ने एक;अकेले पाला था। जब वो स्पोर्ट्स से रिटायर हुई, तब उन्होने 20 से ज्यादा जगह जॉब के लिए अप्लाई किया। लेकिन उन्हें कहीं हायर नहीं किया गया। 
 

पिता की मौत के बाद Gui Yuna को उनकी मां ने एक;अकेले पाला था। जब वो स्पोर्ट्स से रिटायर हुई, तब उन्होने 20 से ज्यादा जगह जॉब के लिए अप्लाई किया। लेकिन उन्हें कहीं हायर नहीं किया गया। 
 

इसके बाद उन्होंने वेटलिफ्टिंग में हाथ आजमाया। जीत के बाद अब उनके पास कई मॉडलिंग असाइनमेंट भी हैं। आज Gui Yuna कामयाबी की मिसाल पेश कर रही हैं। 
 

इसके बाद उन्होंने वेटलिफ्टिंग में हाथ आजमाया। जीत के बाद अब उनके पास कई मॉडलिंग असाइनमेंट भी हैं। आज Gui Yuna कामयाबी की मिसाल पेश कर रही हैं। 
 

Gui Yuna के वर्कआउट वीडियोज भी वायरल हो रहे हैं। वो अपने ट्रेनर की मदद से हेवी वेट लिफ्ट करती हैं। Gui Yuna आज कई लोगों के लिए इंस्पिरेशन बनी हुई है। 
 

Gui Yuna के वर्कआउट वीडियोज भी वायरल हो रहे हैं। वो अपने ट्रेनर की मदद से हेवी वेट लिफ्ट करती हैं। Gui Yuna आज कई लोगों के लिए इंस्पिरेशन बनी हुई है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios