Asianet News Hindi

दिल जीतने वाली तस्वीरः DSP बिटिया से हुआ इंस्पेक्टर पिता का सामना, गर्व से किया सैल्यूट

First Published Jan 5, 2021, 11:08 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

तिरुपति, आंध्रप्रदेश. हर पिता की इच्छा होती है कि उनके बच्चे किसी मुकाम पर पहुंचें। उनसे ज्यादा ऊंचा ओहदा हासिल करें और नाम कमाएं। ऐसा ही यहां भी हुआ। अपनी डीएसपी बेटी को सैल्यूट मा रहे पिता के चेहरे पर दिख रही मुस्कान उनके गौरव को दिखाती है। पिता का नाम है वाई श्याम सुंदर। ये सर्कल इंस्पेक्टर हैं। जबकि बेटी प्रशांति डीएसपी है। ये दोनों तिरुपति में चल रही पुलिस की ड्यूटी मीट 'इग्नाइट' में शामिल होने पहुंचे थे। इसी बीच पिता-बेटी का जब सामना हुआ, तो पिता ने बेटी को यूं सैल्यूट मारा। बाद में बेटी ने भी मुस्कराते हुए सैल्यूट किया।

यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई है। तस्वीर को तिरुपति के SP रमेश रेड्‌डी ने खूब सराहा है।  वहीं आंध्र प्रदेश पुलिस ने भी इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। पुलिस ने लिखा है कि ‘साल की पहली ड्यूटी मीट ने एक परिवार को मिला दिया। सच में यह एक दुर्लभ और भावुक कर देने वाला दृश्य है!’
 

यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई है। तस्वीर को तिरुपति के SP रमेश रेड्‌डी ने खूब सराहा है।  वहीं आंध्र प्रदेश पुलिस ने भी इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। पुलिस ने लिखा है कि ‘साल की पहली ड्यूटी मीट ने एक परिवार को मिला दिया। सच में यह एक दुर्लभ और भावुक कर देने वाला दृश्य है!’
 

बता दें कि प्रशांति ने इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया है। इसके बाद वे 2018 में आंध्र प्रदेश सर्विस कमिशन ग्रुप-1 में सिलेक्ट हुईं।

बता दें कि प्रशांति ने इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया है। इसके बाद वे 2018 में आंध्र प्रदेश सर्विस कमिशन ग्रुप-1 में सिलेक्ट हुईं।

प्रशांति ने एक मीडिया से बातचीत मे कहा कि उनके पिता चाहते थे कि वो आईएएस बनें। बेशक वे उसमें कामयाब नहीं हो सकीं, लेकिन बाद में ग्रुप-1 में शामिल हुईं।

प्रशांति ने एक मीडिया से बातचीत मे कहा कि उनके पिता चाहते थे कि वो आईएएस बनें। बेशक वे उसमें कामयाब नहीं हो सकीं, लेकिन बाद में ग्रुप-1 में शामिल हुईं।

प्रशांति ने कहा कि उनके पैरेंट्स हमेशा यही चाहते थे कि वे देश की सेवा करें। पुलिस विभाग में आकर उनकी यह कामना पूरी हुई।

प्रशांति ने कहा कि उनके पैरेंट्स हमेशा यही चाहते थे कि वे देश की सेवा करें। पुलिस विभाग में आकर उनकी यह कामना पूरी हुई।

प्रशांति की छोटी बहन आंध्र प्रदेश के गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर है। वे कहती हैं कि उन्होंने पिता का सपना पूरा किया, यह उनके लिए खुशी की बात है।
 

प्रशांति की छोटी बहन आंध्र प्रदेश के गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर है। वे कहती हैं कि उन्होंने पिता का सपना पूरा किया, यह उनके लिए खुशी की बात है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios