KBC में 5 करोड़ जीतने के बाद कंगाल हो गए थे सुशील कुमार, अब कर रहे हैं ये काम

First Published 2, Sep 2019, 5:03 PM IST

बिहार: इन दिनों टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति टेलीकास्ट हो रहा है। कई कंटेस्टेंट यहां अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। लेकिन क्या आपको 2011 में पांच करोड़ जीतकर इतिहास रचने वाले सुशील कुमार याद हैं? इन्होंने उस सीजन में 5 करोड़ अपने नाम किया था। आप सोचते होंगे कि इसके बाद वो आलिशान बंगले में रहते होंगे। लेकिन आपको बता दें कि सुशील कुमार ने इतनी बड़ी राशि जीतने के बाद समाजसेवा का फैसला किया। 

बिहार के चंपारण में रहने वाले सुशील कुमार ने 2011 में मशहूर टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति में 5 करोड़ की धनराशि जीती थी। इसके बाद वो काफी चर्चा में आ गए थे। इसके तीन साल बाद खबर आई कि उनकी नौकरी चली गई है। शो जीतने से पहले वो 6 हजार प्रति माह की सैलरी पर काम कर रहे थे। लेकिन शो जीतने के बाद वो बेरोजगार हो गए थे।

बिहार के चंपारण में रहने वाले सुशील कुमार ने 2011 में मशहूर टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति में 5 करोड़ की धनराशि जीती थी। इसके बाद वो काफी चर्चा में आ गए थे। इसके तीन साल बाद खबर आई कि उनकी नौकरी चली गई है। शो जीतने से पहले वो 6 हजार प्रति माह की सैलरी पर काम कर रहे थे। लेकिन शो जीतने के बाद वो बेरोजगार हो गए थे।

हालांकि, इन दिनों सुशील कुमार पर्यावरण संरक्षण के लिए काम कर रहे हैं। वो अपने होमटाउन में पौधारोपण कर रहे हैं।

हालांकि, इन दिनों सुशील कुमार पर्यावरण संरक्षण के लिए काम कर रहे हैं। वो अपने होमटाउन में पौधारोपण कर रहे हैं।

उन्होंने इस अभियान की शुरुआत चंपारण से शुरू की थी। इसमें उन्होंने 70 हजार पौधे लगाए थे। इस अभियान का नाम उन्होंने चंपा से चंपारण दिया।

उन्होंने इस अभियान की शुरुआत चंपारण से शुरू की थी। इसमें उन्होंने 70 हजार पौधे लगाए थे। इस अभियान का नाम उन्होंने चंपा से चंपारण दिया।

सुशील कुमार के मुताबिक, चंपारण में पहले चंपा के कई पेड़ थे। लेकिन बीते कुछ सालों से इनकी संख्या में कमी आई थी। वो फिर से इलाके में चंपा के पेड़ देखना चाहते थे। इसलिए उन्होंने पौधारोपण शुरू किया।

सुशील कुमार के मुताबिक, चंपारण में पहले चंपा के कई पेड़ थे। लेकिन बीते कुछ सालों से इनकी संख्या में कमी आई थी। वो फिर से इलाके में चंपा के पेड़ देखना चाहते थे। इसलिए उन्होंने पौधारोपण शुरू किया।

अब सुशील कुमार के इस अभियान से कई लोग जुड़ गए हैं। उनकी टीम अलग-अलग जगहों पर पौधरोपण करते हैं।

अब सुशील कुमार के इस अभियान से कई लोग जुड़ गए हैं। उनकी टीम अलग-अलग जगहों पर पौधरोपण करते हैं।

साथ ही पौधे लगाने के बाद वो ये भी चेक करते हैं कि पौधे सूखे तो नहीं हैं। अगर पौधे सूख जाते हैं तो उसकी जगह फिर से नया पौधा लगाया जाता है।

साथ ही पौधे लगाने के बाद वो ये भी चेक करते हैं कि पौधे सूखे तो नहीं हैं। अगर पौधे सूख जाते हैं तो उसकी जगह फिर से नया पौधा लगाया जाता है।

loader