Asianet News Hindi

लॉकडाउन में होटल के कमरे से पकड़ा गया मुस्लिम कपल, सरेआम कोड़ों से पीटकर छील दी पीठ

First Published Apr 22, 2020, 10:31 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इंडोनेशिया के कई इलाकों में कड़े इस्लामिक कानून लागू हैं। वहां शराब पीने या किसी के साथ अवैध संबंध रखने पर पब्लिक प्लेस पर बेंत से मारने की सजा दी जाती है। जब भी किसी को ऐसी सजा दी जाती है, काफी संख्या में लोग देखने के लिए जुट जाते हैं। अक्सर वे अपने मोबाइल फोन से इसकी तस्वीरें भी लेते हैं। दो दिन पहले इंडोनेशिया के आचे प्रोविन्स में एक अनमैरिड कपल होटल के कमरे में पकड़ा गया, जिसे बेंत मारने की सजा सुनाई गई। वहीं, 4 लोग शराब पीते पकड़े गए, जिन्हें 40 बेंत मारने की सजा दी गई। इस प्रोविन्स के मुसलमान काफी कट्टर माने जाते हैं। यहां इस्लामिक कानूनों का उल्लंघन करने पर बहुत ही कड़ी सजा दी जाती है। वैसे, इस बार कोरोना महामारी की वजह से बेंत मारने की सजा बंद जगह में दी गई और बहुत ही कम लोग यह देखने के लिए आए। जो लोग यह देखने आए, उन्होंने मास्क पहन रखे थे। धार्मिक पुलिस के जो लोग बेंत मारने की सजा देते हैं, वे बुर्के से अपने पूरे शरीर को ढंके होते हैं। वैसे, जिन लोगों को बेंत मारने की सजा दी जाती है, जरूरी नहीं कि वे अपने चेहरे को पूरी तरह ढंक कर रखें। तस्वीरों में देखें कैसे दी जा रही है बेंतों की सजा। 

इस्लामिक कानूनों का उल्लंघन करने पर बेंत मारने की सजा आम तौर पर किसी सार्वजिनक जगह पर दी जाती है और काफी संख्या में लोग इसे देखने के लिए जुटते हैं, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से फिलहाल यह सजा खुली जगह में नहीं दी गई। 

इस्लामिक कानूनों का उल्लंघन करने पर बेंत मारने की सजा आम तौर पर किसी सार्वजिनक जगह पर दी जाती है और काफी संख्या में लोग इसे देखने के लिए जुटते हैं, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से फिलहाल यह सजा खुली जगह में नहीं दी गई। 

होटल के कमरे में एक शख्स के साथ पकड़ी गई अनमैरिड महिला की बेंत से पिटाई की जा रही है, वहीं पास में धार्मिक पुलिस के लोग मास्क पहने नजर आ रहे हैं। 

होटल के कमरे में एक शख्स के साथ पकड़ी गई अनमैरिड महिला की बेंत से पिटाई की जा रही है, वहीं पास में धार्मिक पुलिस के लोग मास्क पहने नजर आ रहे हैं। 

महिला के साथ होटल के कमरे में पकड़े गए इस शख्स की पीठ पर बेंत बरसाए जा रहे हैं। आसापास धार्मिक पुलिस के अलावा दूसरे लोग भी यह देखने के लिए खड़े हैं। कुछ लोग ऊपर की मंजिल से भी बेंतों से पिटाई की यह सजा दिए जाते देख रहे हैं। कोरोना की वजह से सभी ने मास्क पहन रखे हैं। 

महिला के साथ होटल के कमरे में पकड़े गए इस शख्स की पीठ पर बेंत बरसाए जा रहे हैं। आसापास धार्मिक पुलिस के अलावा दूसरे लोग भी यह देखने के लिए खड़े हैं। कुछ लोग ऊपर की मंजिल से भी बेंतों से पिटाई की यह सजा दिए जाते देख रहे हैं। कोरोना की वजह से सभी ने मास्क पहन रखे हैं। 

मास्क पहने इस शख्स की धार्मिक पुलिस द्वारा पिटाई  किए जाने के बाद एक मेडिकल स्टाफ उसके पल्स की जांच कर रहा है। 

मास्क पहने इस शख्स की धार्मिक पुलिस द्वारा पिटाई  किए जाने के बाद एक मेडिकल स्टाफ उसके पल्स की जांच कर रहा है। 

एक तरफ एस शख्स की पीठ पर बेंत बरसाए जा रहे हैं, वहीं धार्मिक पुलिस का एक स्टाफ रजिस्टर में यह दर्ज कर रहा है कि कितने बेंत मारे जा चुके। अपराध के हिसाब से बेंतों की सजा भी अलग-अलग दी जाती है। इस शख्स को शराब पीने के अपराध के कारण 50 बेंत मारने की सजा सुनाई गई थी। 

एक तरफ एस शख्स की पीठ पर बेंत बरसाए जा रहे हैं, वहीं धार्मिक पुलिस का एक स्टाफ रजिस्टर में यह दर्ज कर रहा है कि कितने बेंत मारे जा चुके। अपराध के हिसाब से बेंतों की सजा भी अलग-अलग दी जाती है। इस शख्स को शराब पीने के अपराध के कारण 50 बेंत मारने की सजा सुनाई गई थी। 

धार्मिक पुलिस का एक स्टाफ उस शख्स को बेंत देते हुए, जिसे फर्श पर झुक कर बैठे अपराधी को बेंत मारने की सजा देनी है। बेंत मारने की सजा देने वाले अपनी पूरी बॉडी को कवर करके रखते हैं। इसके लिए वे बुर्का का इस्तेमाल करते हैं।  

धार्मिक पुलिस का एक स्टाफ उस शख्स को बेंत देते हुए, जिसे फर्श पर झुक कर बैठे अपराधी को बेंत मारने की सजा देनी है। बेंत मारने की सजा देने वाले अपनी पूरी बॉडी को कवर करके रखते हैं। इसके लिए वे बुर्का का इस्तेमाल करते हैं।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios