Asianet News Hindi

दुनिया का इकलौता देश जहां नहीं रहता 1 भी मुस्लिम, इस धर्म के लोगों ने इनको बसने नहीं दिया

First Published Feb 9, 2021, 8:25 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: अगर आपको ऐसा लगता है कि दुनिया में हिन्दुओं की संख्या मुस्लिमों से अधिक है तो आप बिलकुल गलत हैं। धर्म के नाम पर आबादी को तौलें तो दुनिया में सबसे अधिक संख्या में ईसाई लोग रहते हैं। इसके बाद दूसरे नंबर पर आते हैं मुस्लिम। जी हां, दुनिया जनसंख्या के हिसाब से मुसलमानों की संख्या दूसरे नंबर पर है। वहीं हिंदू धर्म तीसरे स्थान पर आता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में कुल 197 देशों में से 57 देश इस्लामिक हैं। इसके अलावा बाकी देशों में भी मुस्लिमों ने अपनी मजबूत जगह बनाई हुई है। हालांकि, दुनिया में एक ऐसा देश है, जहां एक भी मुस्लिम आपको नहीं मिलेगा। आइये जानते हैं इस अनोखे देश के बारे में... 

भारत एक सेक्युलर देश है। यहां हर धर्म के लोग रहते हैं और हर धर्म के लोग पूजा-पाठ करते हैं। किसी को कोई रोक-टोक नहीं है। यहां होली से लेकर ईद और गुरुपर्व भी मनाया जाता है। भारत में वैसे तो हिंदू समाज की संख्या ज्यादा है लेकिन धीरे-धीरे यहां मुस्लिम वर्ग भी अपनी पकड़ बनाता जा रहा है। 

भारत एक सेक्युलर देश है। यहां हर धर्म के लोग रहते हैं और हर धर्म के लोग पूजा-पाठ करते हैं। किसी को कोई रोक-टोक नहीं है। यहां होली से लेकर ईद और गुरुपर्व भी मनाया जाता है। भारत में वैसे तो हिंदू समाज की संख्या ज्यादा है लेकिन धीरे-धीरे यहां मुस्लिम वर्ग भी अपनी पकड़ बनाता जा रहा है। 

बात अगर दुनिया में धर्म के आधार पर जनसँख्या की करें,तो कुल 7.8 बिलियन लोगों में से 2.2 बिलियन ईसाई धर्म के लोग रहते हैं। इसी के साथ ईसाई धर्म दुनिया में फॉलो किया जाने वाला सबसे बड़ा धर्म है। 

बात अगर दुनिया में धर्म के आधार पर जनसँख्या की करें,तो कुल 7.8 बिलियन लोगों में से 2.2 बिलियन ईसाई धर्म के लोग रहते हैं। इसी के साथ ईसाई धर्म दुनिया में फॉलो किया जाने वाला सबसे बड़ा धर्म है। 

ईसाई के बाद इस्लाम का नंबर आता है। दुनिया में 1.6 अरब मुस्लिम रहते हैं। सबसे अधिक मुस्लिम इंडोनेशिया में रहते हैं। यहां उनकी संख्या 20 करोड़ है। यानी इतनी बड़ी आबादी यहां इस्लाम को मानती है। 

ईसाई के बाद इस्लाम का नंबर आता है। दुनिया में 1.6 अरब मुस्लिम रहते हैं। सबसे अधिक मुस्लिम इंडोनेशिया में रहते हैं। यहां उनकी संख्या 20 करोड़ है। यानी इतनी बड़ी आबादी यहां इस्लाम को मानती है। 

दुनिया के 197 देशों में से 57 देशों को मुस्लिम राष्ट्र घोषित किया गया है। इसी से समझा जा सकता है कि इस्लाम की पकड़ दुनिया में कितनी है? हिंदू मुस्लिमों से कम हैं। दुनिया में हिंदू धर्म मानने वाले लोगों की संख्या 1 अरब है। 

दुनिया के 197 देशों में से 57 देशों को मुस्लिम राष्ट्र घोषित किया गया है। इसी से समझा जा सकता है कि इस्लाम की पकड़ दुनिया में कितनी है? हिंदू मुस्लिमों से कम हैं। दुनिया में हिंदू धर्म मानने वाले लोगों की संख्या 1 अरब है। 

दुनिया में मुस्लिम भले ही अपनी पकड़ बनाते जा रहे हैं लेकिन एक ऐसा देश भी है, जहां एक भी मुस्लिम नहीं रहता। जी हां, हम बात कर रहे हैं वेटिकन सिटी की। इस देश में मुस्लिम समाज का एक भी इंसान आपको नहीं मिलेगा। 
 

दुनिया में मुस्लिम भले ही अपनी पकड़ बनाते जा रहे हैं लेकिन एक ऐसा देश भी है, जहां एक भी मुस्लिम नहीं रहता। जी हां, हम बात कर रहे हैं वेटिकन सिटी की। इस देश में मुस्लिम समाज का एक भी इंसान आपको नहीं मिलेगा। 
 

वेटिकन सिटी दुनिया का सबसे छोटा देश है। इसे इंटरनेशनल मान्यता मिली हुई है। लेकिन इस देश में एक भी मुस्लिम नहीं रहता। इस देश की स्थापना 1929 में हुई थी। ये देश इटली की राजधानी रोम के बीच बसा हुआ है। 

वेटिकन सिटी दुनिया का सबसे छोटा देश है। इसे इंटरनेशनल मान्यता मिली हुई है। लेकिन इस देश में एक भी मुस्लिम नहीं रहता। इस देश की स्थापना 1929 में हुई थी। ये देश इटली की राजधानी रोम के बीच बसा हुआ है। 

इस देश में ईसाई धर्म के पोप का रूल चलता है। बात अगर इस देश की टोटल जनसँख्या की करें, तो 2020 में यहां मात्र 801 रहते थे।  आंकड़ा यूएन वर्ल्ड पॉप्युलेशन प्रॉस्पेक्ट्स के आधार पर है। इसमें ज्यादातर लोग ईसाई धर्म को मानते हैं। 

इस देश में ईसाई धर्म के पोप का रूल चलता है। बात अगर इस देश की टोटल जनसँख्या की करें, तो 2020 में यहां मात्र 801 रहते थे।  आंकड़ा यूएन वर्ल्ड पॉप्युलेशन प्रॉस्पेक्ट्स के आधार पर है। इसमें ज्यादातर लोग ईसाई धर्म को मानते हैं। 

देश की जनसंख्या के आधार पर यहां एक भी मुस्लिम नहीं है। यहां मुस्लिम टूरिस्ट बनकर आते हैं। लेकिन किसी को भी देश की नागरिकता नहीं मिली है। ऐसे में वेटिकन सिटी दुनिया का इकलौता देश है, जहां एक भी मुस्लिम नहीं रहता। 

देश की जनसंख्या के आधार पर यहां एक भी मुस्लिम नहीं है। यहां मुस्लिम टूरिस्ट बनकर आते हैं। लेकिन किसी को भी देश की नागरिकता नहीं मिली है। ऐसे में वेटिकन सिटी दुनिया का इकलौता देश है, जहां एक भी मुस्लिम नहीं रहता। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios