कोरोना ने कैसे बर्बाद कर दिया रेड लाइट एरिया, खुद सेक्स वर्कर ने दुनिया को बताई तकलीफ

First Published 9, Aug 2020, 12:17 PM

हटके डेस्क: कोरोना वायरस की वजह से दुनिया को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। इस महामारी के कारण दुनिया के कई देश कई महीनों से बंद थे। अर्थव्यवस्था पर इसका बहुत निगेटिव असर पड़ा। खासकर उन लोगों के ऊपर जिनकी जिंदगी हर दिन कमा-खा कर  गुजरती थी। जबसे कोरोना का प्रकोप दुनिया पर पड़ा है, तबसे सबसे ज्यादा परेशानी सेक्स इंडस्ट्री के वर्कर्स को उठानी पड़ रही है। रेड लाइट्स एरिया महीनों से बंद हैं। जिन गलियों में कभी रौनक रहा करती थी, आज वहां सन्नाटा पसरा रहता है। हालांकि, अब कई महीनों बाद धीरे-धीरे सेक्स इंडस्ट्रीज दुबारा खुल रहे हैं। हाल ही में यूके में दुबारा रेड लाइट एरियाज खोल दिए गए। लेकिन इस बार यहां का नजारा अलग है। खुद सेक्स वर्कर ने बताया कि कोरोना की वजह से उन्हें काफी कुछ अलग झेलना पड़ रहा है। सेक्स इंडस्ट्री के बदलाव उसने दुनिया के साथ शेयर की है... 

<p>ब्रिटेन ने कई महीनों बाद सेक्स इंडस्ट्री की शुरुआत की है। लेकिन चीजें अब नॉर्मल नहीं है। कई सेक्स वर्कर्स ने लॉकडाउन के बाद खुले मार्केट को लेकर अपने एक्सपीरियंस शेयर किये हैं। &nbsp;</p>

ब्रिटेन ने कई महीनों बाद सेक्स इंडस्ट्री की शुरुआत की है। लेकिन चीजें अब नॉर्मल नहीं है। कई सेक्स वर्कर्स ने लॉकडाउन के बाद खुले मार्केट को लेकर अपने एक्सपीरियंस शेयर किये हैं।  

<p>ब्रिटेन में अब जब सेक्स मार्केट खुला है तो धीरे-धीरे लोग आना शुरू कर रहे हैं। लेकिन अब इनकी संख्या कम हो रही है। साथ ही कई तरह के बदलाव भी हैं। मास्क, सैनिटाइजर के अलावा अब लोगों के मन में वायरस को लेकर खौफ भी है।&nbsp;</p>

ब्रिटेन में अब जब सेक्स मार्केट खुला है तो धीरे-धीरे लोग आना शुरू कर रहे हैं। लेकिन अब इनकी संख्या कम हो रही है। साथ ही कई तरह के बदलाव भी हैं। मास्क, सैनिटाइजर के अलावा अब लोगों के मन में वायरस को लेकर खौफ भी है। 

<p>ब्रिटेन में रहने वाली लौरा वाटसन पिछले 10 साल से सेक्स वर्कर्स की लाइफ पर काम कर रही हैं। लेकिन अब लॉकडाउन में उन्होंने जब इन वर्कर्स से बातचीत की तो उन्हें काफी अलग चीजें पता चली।&nbsp;</p>

ब्रिटेन में रहने वाली लौरा वाटसन पिछले 10 साल से सेक्स वर्कर्स की लाइफ पर काम कर रही हैं। लेकिन अब लॉकडाउन में उन्होंने जब इन वर्कर्स से बातचीत की तो उन्हें काफी अलग चीजें पता चली। 

<p><br />
अब यहां की सेक्स वर्कर्स ने सरकार से इसे लीगलाइज करने को कहा है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में &nbsp;उन्हें सरकार से कोई मदद नहीं मिली क्यूंकि वहां सेक्स इंडस्ट्री लीगलाइज नहीं है। इस कारण उन्हें काफी परेशानी हुई। &nbsp;</p>


अब यहां की सेक्स वर्कर्स ने सरकार से इसे लीगलाइज करने को कहा है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में  उन्हें सरकार से कोई मदद नहीं मिली क्यूंकि वहां सेक्स इंडस्ट्री लीगलाइज नहीं है। इस कारण उन्हें काफी परेशानी हुई।  

<p>वाटसन को इन वर्कर्स ने बताया कि अभी भी क्लाइंट्स आते हैं लेकिन इनकी संख्या काफी कम हो गई है। खतरा काफी ज्यादा है लेकिन पैसों के लिए ये महिलाएं इस काम को करने को तैयार हो गई है।&nbsp;</p>

वाटसन को इन वर्कर्स ने बताया कि अभी भी क्लाइंट्स आते हैं लेकिन इनकी संख्या काफी कम हो गई है। खतरा काफी ज्यादा है लेकिन पैसों के लिए ये महिलाएं इस काम को करने को तैयार हो गई है। 

<p>वाटसन ने बताया कि ये महिलाएं रेंट और खाने के लिए सेक्स इंडस्ट्री में वापस लौटी हैं। हालांकि, अभी भी सेक्स वर्कर्स ऑनलाइन ही काम कर रही हैं। इसमें सेक्स वर्कर्स वीडियो कॉल के जरिये क्लाइंट्स से मिल रहे हैं। &nbsp;</p>

वाटसन ने बताया कि ये महिलाएं रेंट और खाने के लिए सेक्स इंडस्ट्री में वापस लौटी हैं। हालांकि, अभी भी सेक्स वर्कर्स ऑनलाइन ही काम कर रही हैं। इसमें सेक्स वर्कर्स वीडियो कॉल के जरिये क्लाइंट्स से मिल रहे हैं।  

<p>हालांकि, कई सेक्स वर्कर्स ने इस बात का भी खुलासा किया कि लॉकडाउन के दौरान वो कुछ स्पेशल क्लाइंट्स के साथ डील कर रही थी। वो घर जाकर सर्विस दे रही थी।&nbsp;</p>

हालांकि, कई सेक्स वर्कर्स ने इस बात का भी खुलासा किया कि लॉकडाउन के दौरान वो कुछ स्पेशल क्लाइंट्स के साथ डील कर रही थी। वो घर जाकर सर्विस दे रही थी। 

<p>ब्रिटेन में अब सेक्स इंडस्ट्री खोले जाने के बाद सेक्स वर्कर्स को कई गाइडलाइन्स दिए हैं। इसमें दो पोजीशन से लेकर मास्क का मेंडेटरी यूज शामिल है। सेक्स वर्कर्स को शक है कि शायद ही कभी सेक्स इंडस्ट्री नॉर्मलाइज होगी। &nbsp;&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

ब्रिटेन में अब सेक्स इंडस्ट्री खोले जाने के बाद सेक्स वर्कर्स को कई गाइडलाइन्स दिए हैं। इसमें दो पोजीशन से लेकर मास्क का मेंडेटरी यूज शामिल है। सेक्स वर्कर्स को शक है कि शायद ही कभी सेक्स इंडस्ट्री नॉर्मलाइज होगी।   
 

loader