Asianet News Hindi

मजबूत है कलेजा तभी देखें पाकिस्तान ब्लास्ट की ये तस्वीरें, पढ़ते-पढ़ते ही मांस के लोथड़ों में बदल गए मासूम बच्चे

First Published Oct 27, 2020, 12:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: पाकिस्तान ने दुनिया को तबाह करने की नियत से  आतंकवादियों को पनाह दी थी। लेकिन कुछ ही समय में उसे भी समझ आ गया कि जो गड्ढा उसने दूसरों के लिए खोदा था, उसमें वो खुद ही गिर चुका है। आतंकवादियों ने पाकिस्तान को अंदर से ही खोखला कर दिया। 27 अक्टूबर को भी जब पेशावर में लोग एक नॉर्मल सुबह को जी रहे थे, तभी अचानक मदरसे में हुए ब्लास्ट के बाद वहां अफरा-तफरी मच गई। अभी तक मरने वालों की तय संख्या सामने नहीं आई है। एक के बाद एक लाशें और घायल मिलते ही जा रहे हैं। हालांकि, मरने वालों में ज्यादातर बच्चे हैं, ये कंफर्म है। अभी तक 7 डेड बॉडीज और 70 घायलों को अस्पताल ले जाया गया है। घायलों को लेडी रीडिंग हॉस्पिटल ले जाया गया। ब्लास्ट के बाद की तस्वीरें बेहद वीभत्स हैं। आइये आपको दिखाते हैं कैसे दिया गया इस विस्फोट को अंजाम... 

पेशावर के पुलिस ऑफिसर वकार अज़ीम ने लोकल मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि ये विस्फोट तब हुआ जब एक मौलवी पेशावर के कमिअ जुबैरिया मदरसा में लेक्चर दे रहा था। इसी दौरान तेज धमाका हुआ।  
 

पेशावर के पुलिस ऑफिसर वकार अज़ीम ने लोकल मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि ये विस्फोट तब हुआ जब एक मौलवी पेशावर के कमिअ जुबैरिया मदरसा में लेक्चर दे रहा था। इसी दौरान तेज धमाका हुआ।  
 

विस्फोट ठीक सुबह साढ़े आठ बजे हुआ। जब स्पिन जमात मस्जिद में मौलवी बच्चों को पढ़ा रहे थे। इस विस्फोट में मरने वाले और घायलों में सबसे ज्यादा बच्चे ही हैं। 

विस्फोट ठीक सुबह साढ़े आठ बजे हुआ। जब स्पिन जमात मस्जिद में मौलवी बच्चों को पढ़ा रहे थे। इस विस्फोट में मरने वाले और घायलों में सबसे ज्यादा बच्चे ही हैं। 

विस्फोट किसी सुसाइड बम से नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि मदरसे के अंदर एक बैग में ही बम रखा गया था। इसे विस्फोट से कुछ मिनट पहले ही किसी ने अंदर रखा था। 
 

विस्फोट किसी सुसाइड बम से नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि मदरसे के अंदर एक बैग में ही बम रखा गया था। इसे विस्फोट से कुछ मिनट पहले ही किसी ने अंदर रखा था। 
 

पेशावर अफगानिस्तान की सीमा से लगे पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वा प्रांत की प्रांतीय राजधानी है। यह प्रांत हाल के वर्षों में इस तरह के आतंकवादी हमलों का मेन स्पॉट रहा है, लेकिन इस स्तर के अटैक की किसी ने उम्मीद नहीं की थी। 

पेशावर अफगानिस्तान की सीमा से लगे पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वा प्रांत की प्रांतीय राजधानी है। यह प्रांत हाल के वर्षों में इस तरह के आतंकवादी हमलों का मेन स्पॉट रहा है, लेकिन इस स्तर के अटैक की किसी ने उम्मीद नहीं की थी। 

बता दें कि पेशावर में हुए इस ताजा हमले से ठीक दो दिन पहले ही दक्षिण-पश्चिमी शहर क्वेटा में भी बमबारी हुई थी। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले के ठीक दो दिन बाद पेशावर के मदरसे को उड़ा दिया गया। 

बता दें कि पेशावर में हुए इस ताजा हमले से ठीक दो दिन पहले ही दक्षिण-पश्चिमी शहर क्वेटा में भी बमबारी हुई थी। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले के ठीक दो दिन बाद पेशावर के मदरसे को उड़ा दिया गया। 

विस्फोट के बाद की तस्वीरें शॉकिंग हैं। बारूद से भरे बैग के नजदीक बैठे लोगों की बॉडी मांस के लोथड़ों में बदल गई। हर तरफ खून और लोगों की चीखें सुनाई दी। 

विस्फोट के बाद की तस्वीरें शॉकिंग हैं। बारूद से भरे बैग के नजदीक बैठे लोगों की बॉडी मांस के लोथड़ों में बदल गई। हर तरफ खून और लोगों की चीखें सुनाई दी। 

वहीं मस्जिद के अंदर मुख्य प्रेयर हॉल को भी काफी नुकसान पहुंचा। हॉल की छत कई जगह से गिर गई और जमीनदोज हो गई। 

वहीं मस्जिद के अंदर मुख्य प्रेयर हॉल को भी काफी नुकसान पहुंचा। हॉल की छत कई जगह से गिर गई और जमीनदोज हो गई। 

घायलों को अस्पताल ले जाकर उनका इलाज करना सबसे पहली प्राथमिकता है। घटनास्थल पर रेस्क्यू टीम जोरों से लगी हुई है। हर तरफ खून से सने लोगों को उठा कर अस्पताल ले जाया जा  रहा है। 

घायलों को अस्पताल ले जाकर उनका इलाज करना सबसे पहली प्राथमिकता है। घटनास्थल पर रेस्क्यू टीम जोरों से लगी हुई है। हर तरफ खून से सने लोगों को उठा कर अस्पताल ले जाया जा  रहा है। 

डॉन की खबर के मुताबिक, मरने वालों की संख्या तेजी से बढ़ सकती है क्यूंकि घायलों में कई की हालत काफी गंभीर है। ऐसे में उनकी स्थिति ठीक ना होने पर आंकड़ा बढ़ता जाएगा। 

डॉन की खबर के मुताबिक, मरने वालों की संख्या तेजी से बढ़ सकती है क्यूंकि घायलों में कई की हालत काफी गंभीर है। ऐसे में उनकी स्थिति ठीक ना होने पर आंकड़ा बढ़ता जाएगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios