Asianet News Hindi

जब मोदी ने बाइडेन से मांगा था 1 गिलास गर्म पानी, सालों पुरानी है नए राष्ट्रपति के साथ PM की दोस्ती

First Published Nov 8, 2020, 8:12 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: 3 नवंबर को अमेरिका में हुए राष्ट्रपति चुनावों का नतीजा आखिरकार आ ही गया। डोनाल्ड ट्रंप को मात देते हुए डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता जो बाइडेन ने शानदार जीत दर्ज की। बाइडेन की जीत के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें शुभकामना भी दी। साथ ही लिखा कि अब वो उनके साथ आगे काम करने के लिए उत्साहित हैं। अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडेन और मोदी के बीच के रिश्ते भी काफी मधुर ही रहे हैं। 2014 में जब बाइडेन उपराष्ट्रपति थे, उस दौरान बाइडेन ने मोदीजी के लिए डिनर का आयोजन किया था। हालांकि उस दौरान मोदीजी नवरात्र के व्रत रख रहे थे। इस कारण उन्होंने सिर्फ मेजबान से एक गिलास गर्म पानी मांगा था। आइए आपको दिखाते हैं 6 साल पहले कितनी गर्मजोशी से बाइडेन से मिले थे नरेंद्र मोदी.... 
 

अक्टूबर 2014 में नरेंद्र मोदी जब अमेरिकी दौरे पर गए थे तब जो बाइडेन ने बड़ी गर्मजोशी से उनका स्वागत किया था। उस समय बराक ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति थे और जो बाइडेन उपराष्ट्रपति थे। 

अक्टूबर 2014 में नरेंद्र मोदी जब अमेरिकी दौरे पर गए थे तब जो बाइडेन ने बड़ी गर्मजोशी से उनका स्वागत किया था। उस समय बराक ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति थे और जो बाइडेन उपराष्ट्रपति थे। 

वाशिंगटन के स्टेट डिपार्टमेंट में जो बाइडेन ने मोदीजी के लिए लंच का आयोजन किया था। लेकिन नवरात्र के व्रत की वजह से मोदीजी ने लंच नहीं किया था। उन्होंने सिर्फ अपने लिए मेजबान से एक गिलास गर्म पानी ही मंगवाया था। 

वाशिंगटन के स्टेट डिपार्टमेंट में जो बाइडेन ने मोदीजी के लिए लंच का आयोजन किया था। लेकिन नवरात्र के व्रत की वजह से मोदीजी ने लंच नहीं किया था। उन्होंने सिर्फ अपने लिए मेजबान से एक गिलास गर्म पानी ही मंगवाया था। 

इस मुलाक़ात की तस्वीरें सोशल मीडिया पर एक बार फिर  वायरल हो रही हैं। ट्रंप और मोदी जी की दोस्ती से तो सभी अवगत है ही। लेकिन नए राष्ट्रपति के साथ भी मोदी जी के रिश्ते काफी मधुर हैं। ऐसे में अमेरिका के साथ आगे भारत के रहते मधुर रहेंगे इसकी चर्चा है।  

इस मुलाक़ात की तस्वीरें सोशल मीडिया पर एक बार फिर  वायरल हो रही हैं। ट्रंप और मोदी जी की दोस्ती से तो सभी अवगत है ही। लेकिन नए राष्ट्रपति के साथ भी मोदी जी के रिश्ते काफी मधुर हैं। ऐसे में अमेरिका के साथ आगे भारत के रहते मधुर रहेंगे इसकी चर्चा है।  

6 साल पहले जब नवरात्र के समय मोदीजी वाशिंगटन गए थे, तब बाइडेन ने उनकी जरुरत का पूरा ध्यान रखा था।  लंच का मेन्यू पूरी तरह शाकाहारी रखा गया था। हालांकि, मोदीजी सिर्फ इस दौरान नींबू पानी ही पीते हैं। 

6 साल पहले जब नवरात्र के समय मोदीजी वाशिंगटन गए थे, तब बाइडेन ने उनकी जरुरत का पूरा ध्यान रखा था।  लंच का मेन्यू पूरी तरह शाकाहारी रखा गया था। हालांकि, मोदीजी सिर्फ इस दौरान नींबू पानी ही पीते हैं। 

इस लंच में मोदीजी ने बाकी मेहमानों को टेस्टी खाने का लुत्फ़ उठाने को कहा और खुद के लिए पानी का गिलास मंगवाया था। इस पूरे इवेंट में बाइडेन ने जबरदस्त होस्ट की भूमिका निभाई थी।  
 

इस लंच में मोदीजी ने बाकी मेहमानों को टेस्टी खाने का लुत्फ़ उठाने को कहा और खुद के लिए पानी का गिलास मंगवाया था। इस पूरे इवेंट में बाइडेन ने जबरदस्त होस्ट की भूमिका निभाई थी।  
 

इस लंच की तैयारी बाइडेन ने महीनों पहले से कर दी। इसके मेन्यू से लेकर गेस्ट की लिस्ट तक के लिए बाइडेन ने ही अरेंजमेंट किये थे। मोदीजी की पसंद नापसंद का भी खासा ध्यान रखा गया था।  

इस लंच की तैयारी बाइडेन ने महीनों पहले से कर दी। इसके मेन्यू से लेकर गेस्ट की लिस्ट तक के लिए बाइडेन ने ही अरेंजमेंट किये थे। मोदीजी की पसंद नापसंद का भी खासा ध्यान रखा गया था।  

आपको बता दें कि बाइडेन सबसे युवा सीनेटर के साथ-साथ सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बनने के रिकॉर्ड को अपने नाम कर चुके हैं। 77 साल के बाइडेन 6 बार सीनेटर रहे हैं। बराक ओबामा जब अमेरिका के राष्ट्रपति थे तब बाइडेन उपराष्ट्रपति थे। 

आपको बता दें कि बाइडेन सबसे युवा सीनेटर के साथ-साथ सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बनने के रिकॉर्ड को अपने नाम कर चुके हैं। 77 साल के बाइडेन 6 बार सीनेटर रहे हैं। बराक ओबामा जब अमेरिका के राष्ट्रपति थे तब बाइडेन उपराष्ट्रपति थे। 

हालांकि, ये पहली बार नहीं था जब बाइडेन राष्ट्रपति चुनाव की दौड़ में शामिल हुए थे। इससे पहले 1988 और 2008 में भी उन्होंने किस्मत आजमाई थी। लेकिन उस समय उन्हें नाकामयाबी मिली थी।  

हालांकि, ये पहली बार नहीं था जब बाइडेन राष्ट्रपति चुनाव की दौड़ में शामिल हुए थे। इससे पहले 1988 और 2008 में भी उन्होंने किस्मत आजमाई थी। लेकिन उस समय उन्हें नाकामयाबी मिली थी।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios