Asianet News Hindi

TV एंकर के टोकने पर दिखा दी थी बीच की ऊंगली, कौन हैं महुआ मोइत्रा, जो लंदन की नौकरी छोड़कर राजनीति में आईं

First Published Mar 25, 2021, 12:32 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के दौरान टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा काफी आक्रामक नजर आ रही हैं। वह अपने बयानों से लगातार विपक्ष पर निशाना साध रही हैं। महुआ मोइत्रा लोकसभा में भी अपने उग्र भाषण के लिए जानी जाती हैं। ऐसे में बताते हैं कि आखिर कौन हैं महुआ मोइत्रा और राजनीति में उनकी एंट्री कैसे हुई?


महुआ मोइत्रा पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर से 17 वीं लोकसभा में सांसद हैं। उनका  जन्म 12 अक्टूबर 1974 को असम के कछार जिले के लबैक में हुआ। उन्होंने कोलकाता में स्कूलिंग की।  
 


महुआ मोइत्रा पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर से 17 वीं लोकसभा में सांसद हैं। उनका  जन्म 12 अक्टूबर 1974 को असम के कछार जिले के लबैक में हुआ। उन्होंने कोलकाता में स्कूलिंग की।  
 

महुआ मोइत्रा अमेरिकी मल्टीनेशनल इनवेंस्टमेंट बैंक जेपी मॉर्गन में इनवेस्टमेंट बैंकर थीं। राजनीति में आने के लिए उन्होंने साल 2009 में नौकरी छोड़ दी। उस वक्त वे लंदन में थीं।  
 

महुआ मोइत्रा अमेरिकी मल्टीनेशनल इनवेंस्टमेंट बैंक जेपी मॉर्गन में इनवेस्टमेंट बैंकर थीं। राजनीति में आने के लिए उन्होंने साल 2009 में नौकरी छोड़ दी। उस वक्त वे लंदन में थीं।  
 

महुआ मोइत्रा ने संयुक्त राज्य अमेरिका के मैसाचुसेट्स माउंट होलोके कॉलेज में उच्च शिक्षा हासिल की। उन्होंने गणित और अर्थशास्त्र की पढ़ाई की है।

महुआ मोइत्रा ने संयुक्त राज्य अमेरिका के मैसाचुसेट्स माउंट होलोके कॉलेज में उच्च शिक्षा हासिल की। उन्होंने गणित और अर्थशास्त्र की पढ़ाई की है।

महुआ मोइत्रा ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत पश्चिम बंगाल में कांग्रेस से की। लेकिन 2010 में ममता बनर्जी की अगुवाई वाली टीएमसी में शामिल हो गईं।
 

महुआ मोइत्रा ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत पश्चिम बंगाल में कांग्रेस से की। लेकिन 2010 में ममता बनर्जी की अगुवाई वाली टीएमसी में शामिल हो गईं।
 

महुआ ने अपने जीवन का पहला चुनाव पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए 2016 में लड़ा। वह नादिया के करीमपुर से चुनाव जीतीं और अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी माकपा के समरेंद्र घोष को 16 हजार मतों से हराया।
 

महुआ ने अपने जीवन का पहला चुनाव पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए 2016 में लड़ा। वह नादिया के करीमपुर से चुनाव जीतीं और अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी माकपा के समरेंद्र घोष को 16 हजार मतों से हराया।
 

महुआ मोइत्रा ने कई सालों तक टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के रूप में काम किया। वे टेलीविजन की बहसों में नियमित रूप से दिखाई देती हैं।
 

महुआ मोइत्रा ने कई सालों तक टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के रूप में काम किया। वे टेलीविजन की बहसों में नियमित रूप से दिखाई देती हैं।
 

2019 के लोकसभा चुनावों में महुआ मोइत्रा ने 60,000 से अधिक मतों से भाजपा के कल्याण चौबे के खिलाफ चुनाव जीता।
 

2019 के लोकसभा चुनावों में महुआ मोइत्रा ने 60,000 से अधिक मतों से भाजपा के कल्याण चौबे के खिलाफ चुनाव जीता।
 

साल 2015 में महुआ उस समय विवादों में आईं, जब राष्ट्रीय चैनल पर हो रहे एक बहस में उन्होंने अपनी बीच की ऊंगली दिखाई थी। 
 

साल 2015 में महुआ उस समय विवादों में आईं, जब राष्ट्रीय चैनल पर हो रहे एक बहस में उन्होंने अपनी बीच की ऊंगली दिखाई थी। 
 


10 जनवरी 2017 को महुआ मोइत्रा ने टेलीविजन बहस के दौरान भारतीय जनता पार्टी के सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के खिलाफ कथित तौर पर अपमान करने का आरोप लगाया और पुलिस शिकायत की। बाद में इस शिकायत को कलकत्ता उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया। 
 


10 जनवरी 2017 को महुआ मोइत्रा ने टेलीविजन बहस के दौरान भारतीय जनता पार्टी के सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के खिलाफ कथित तौर पर अपमान करने का आरोप लगाया और पुलिस शिकायत की। बाद में इस शिकायत को कलकत्ता उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया। 
 

महुआ मोइत्रा पर सिलचर हवाई अड्डे पर असम पुलिस की एक महिला कांस्टेबल पर हमला करने का आरोप है। यह घटना तब हुई जब तृणमूल कांग्रेस का आठ सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल सिलचर एनसीआर मुद्दे पर चर्चा करने के लिए असम की दो दिवसीय यात्रा पर भेजा गया था।
 

महुआ मोइत्रा पर सिलचर हवाई अड्डे पर असम पुलिस की एक महिला कांस्टेबल पर हमला करने का आरोप है। यह घटना तब हुई जब तृणमूल कांग्रेस का आठ सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल सिलचर एनसीआर मुद्दे पर चर्चा करने के लिए असम की दो दिवसीय यात्रा पर भेजा गया था।
 

साल 2019 में चुनाव आयोग को दिये हलफनामे में महुआ मोइत्रा ने बताया था कि उनके पास कुल Rs 2,64,95,250 करोड़ की चल अचल संपत्ति है। उन्हें गहने काफी पसंद हैं। कुल संपत्ति में से करीब 1 करोड़ 11 लाख रुपए के तो सिर्फ गहने ही हैं।
 

साल 2019 में चुनाव आयोग को दिये हलफनामे में महुआ मोइत्रा ने बताया था कि उनके पास कुल Rs 2,64,95,250 करोड़ की चल अचल संपत्ति है। उन्हें गहने काफी पसंद हैं। कुल संपत्ति में से करीब 1 करोड़ 11 लाख रुपए के तो सिर्फ गहने ही हैं।