Asianet News Hindi

West Bengal Election: कभी BJP कैंडिडेट और TMC सांसद की डेट की खबरें भी उड़ी थीं, पॉलिटिक्स ने बनाया 'विरोधी'

First Published Mar 17, 2021, 4:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पश्चिम बंगाल में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में इस बार टॉलीवुड का 'ग्लैमर' जबर्दस्त रंगत दिखा रहा है। तृणमूल कांग्रेस(TMC) हो या भाजपा...दोनों ने ही कई बंगाली अभिनेता और अभिनेत्रियों को टिकट दिया है। इनमें से एक हैं लोकप्रिय एक्टर और युवा दिलों की धड़कन यश दासगुप्ता। इन्हें भाजपा ने चंडीतल्ला सीट से मैदान में उतारा है। उन्हें टक्कर देने TMC ने अभिनेता सोहम चक्रवर्ती को टिकट दिया है। बता दें कि 17 फरवरी को ही यश दासगुप्ता ने भाजपा ज्वाइनिंग  की थी। यश दासगुप्ता TMC सांसद नुसरत जहां के बेहद करीबी माने जाते हैं। मीडिया में खबरें तो यहां तक आई थीं कि ये दोनों डेट कर रहे हैं।

यह तस्वीर 17 फरवरी की है, जब यश दासगुप्ता ने पश्चिम बंगाल के प्रभारी और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन की थी।
 

यह तस्वीर 17 फरवरी की है, जब यश दासगुप्ता ने पश्चिम बंगाल के प्रभारी और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन की थी।
 

यश दासगुप्ता ने 2016 में टॉलीवुड में अपनी एंट्री की थी। उनकी शुरुआती फिल्में-वन मोन जाने ना, टोटल दादागिरी, फिदा और एसओएस कोलकाता काफी लोकप्रिय रही थीं।

यश दासगुप्ता ने 2016 में टॉलीवुड में अपनी एंट्री की थी। उनकी शुरुआती फिल्में-वन मोन जाने ना, टोटल दादागिरी, फिदा और एसओएस कोलकाता काफी लोकप्रिय रही थीं।

फिल्मों से पहले यश दासगुप्ता ने बंदिनी, अदालत और ना आना इस देश लाडो जैसे हिंदी सीरियल्स में भी काम किया था।

फिल्मों से पहले यश दासगुप्ता ने बंदिनी, अदालत और ना आना इस देश लाडो जैसे हिंदी सीरियल्स में भी काम किया था।

यह बात सबको चौंकाती है कि यश और TMC की सांसद नुसरत जहां काफी करीबी माने जाते हैं। दोनों को लेकर खबरें भी उड़ी थीं कि ये डेट कर रहे हैं। इन खबरों के मुताबिक, दोनों राजस्थान में छुट्टियां मनाने गए थे। हालांकि यश ने इसे महज अफवाह बताया था।

यह बात सबको चौंकाती है कि यश और TMC की सांसद नुसरत जहां काफी करीबी माने जाते हैं। दोनों को लेकर खबरें भी उड़ी थीं कि ये डेट कर रहे हैं। इन खबरों के मुताबिक, दोनों राजस्थान में छुट्टियां मनाने गए थे। हालांकि यश ने इसे महज अफवाह बताया था।

बता दें कि नुसरत जहां ने 2 साल पहले निखिल जैन से शादी की थी। वे हिंदू धार्मिक कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती हैं, इस वजह से कट्टरपंथियों के निशाने पर बनी रहती हैं। लेकिन एक बार नुसरत ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से निखिल की तस्वीरें हटाकर यश की तस्वीरें शेयर की थीं।

बता दें कि नुसरत जहां ने 2 साल पहले निखिल जैन से शादी की थी। वे हिंदू धार्मिक कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती हैं, इस वजह से कट्टरपंथियों के निशाने पर बनी रहती हैं। लेकिन एक बार नुसरत ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से निखिल की तस्वीरें हटाकर यश की तस्वीरें शेयर की थीं।

बता दें कि यश जिस चंडीतल्ला सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, वहां 23 प्रतिशत मुसलमान हैं। पिछले दो बार से यहां तृणमूल के पूर्व सांसद अकबर अली खंडकार की पत्नी स्वाति जीतती आई हैं।

बता दें कि यश जिस चंडीतल्ला सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, वहां 23 प्रतिशत मुसलमान हैं। पिछले दो बार से यहां तृणमूल के पूर्व सांसद अकबर अली खंडकार की पत्नी स्वाति जीतती आई हैं।

10 अक्टूबर, 1985 को कोलकाता में जन्मे यश के पिता का नाम दीपक दासगुप्ता और मां का नाम ज्योति है। इनके पिता का नौकरी के सिलसिले में कई राज्यों में रहे। इसलिए यश का बचपन दिल्ली, मुंबई, मध्य प्रदेश और सिक्किम में भी बीता।

10 अक्टूबर, 1985 को कोलकाता में जन्मे यश के पिता का नाम दीपक दासगुप्ता और मां का नाम ज्योति है। इनके पिता का नौकरी के सिलसिले में कई राज्यों में रहे। इसलिए यश का बचपन दिल्ली, मुंबई, मध्य प्रदेश और सिक्किम में भी बीता।

बंगाल में पहले चरण में  294 में से 30 सीटों पर 27 मार्च को वोट डाले जाएंगे। दूसरे चरण में 30 सीटों पर एक अप्रैल को, तीसरे चरण में 31 सीटों पर 6 अप्रैल को, चौथे चरण में 44 सीटों पर 10 अप्रैल को, पांचवे चरण में 45 सीटों पर 17 अप्रैल को, छठे चरण में 43 सीटों पर 22 अप्रैल को, सातवें चरण में 36 सीटों पर 26 अप्रैल को और आठवें चरण में 35 सीटों पर 29 अप्रैल को वोटिंग होगी। पिछले चुनाव में TMC ने 211 सीटें जीती थीं। कांग्रेस ने 44, लेफ्ट ने 26, जबकि भाजपा को सिर्फ 3 सीटें मिली थीं। अन्य ने 10 सीटें जीती थीं। यहां सरकार बनाने 148 सीटें चाहिए।
 

बंगाल में पहले चरण में  294 में से 30 सीटों पर 27 मार्च को वोट डाले जाएंगे। दूसरे चरण में 30 सीटों पर एक अप्रैल को, तीसरे चरण में 31 सीटों पर 6 अप्रैल को, चौथे चरण में 44 सीटों पर 10 अप्रैल को, पांचवे चरण में 45 सीटों पर 17 अप्रैल को, छठे चरण में 43 सीटों पर 22 अप्रैल को, सातवें चरण में 36 सीटों पर 26 अप्रैल को और आठवें चरण में 35 सीटों पर 29 अप्रैल को वोटिंग होगी। पिछले चुनाव में TMC ने 211 सीटें जीती थीं। कांग्रेस ने 44, लेफ्ट ने 26, जबकि भाजपा को सिर्फ 3 सीटें मिली थीं। अन्य ने 10 सीटें जीती थीं। यहां सरकार बनाने 148 सीटें चाहिए।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios