अब चीन पर कहर बरसाएगी कोरोना की दूसरी लहर, तस्वीरों में देखें वायरस से निपटने के लिए कैसी है तैयारी

First Published 14, Jun 2020, 4:56 PM

बीजिंग. कोरोना वायरस ने एक बार फिर चीन की धड़कने बढ़ा दी हैं। बताया जा रहा है कि चीन पर कोरोना महामारी की दूसरी लहर का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। वुहान में कोरोना पर काबू पाने के बाद चीन में पहली बार सबसे अधिक 66 मामले सामने आए हैं। बीजिंग में मामले मिलने के बाद चीन में अधिकारी एक बार फिर युद्ध स्तर की तैयारियों में जुट गए हैं।  

<p>चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि कोरोना वायरस के शनिवार को 57 नए मामले सामने आए। इनमें से 38 मामले स्थानीय संक्रमण हैं। नौ बिना लक्षण वाले मरीज भी मिले हैं। इससे पहले बिना लक्षण वाले 103 मरीजों को अलग किया गया था। </p>

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि कोरोना वायरस के शनिवार को 57 नए मामले सामने आए। इनमें से 38 मामले स्थानीय संक्रमण हैं। नौ बिना लक्षण वाले मरीज भी मिले हैं। इससे पहले बिना लक्षण वाले 103 मरीजों को अलग किया गया था। 

<p>अधिकारियों के मुताबिक, सबसे ज्यादा चिंता का सबब बिना लक्षण वाले मरीज होते हैं। क्यों कि ये मरीज संक्रमित तो होते हैं लेकिन उनमें बुखार, खांसी या गले में सूजन जैसे कोई लक्षण नहीं होते। इन लोगों से दूसरों में बीमारी फैलने का खतरा ज्यादा रहता है। </p>

अधिकारियों के मुताबिक, सबसे ज्यादा चिंता का सबब बिना लक्षण वाले मरीज होते हैं। क्यों कि ये मरीज संक्रमित तो होते हैं लेकिन उनमें बुखार, खांसी या गले में सूजन जैसे कोई लक्षण नहीं होते। इन लोगों से दूसरों में बीमारी फैलने का खतरा ज्यादा रहता है। 

<p>शनिवार को बीजिंग में 36 और लियाओनिंग में 2 नए मामले सामने आए हैं। बीजिंग में अब 46 मामले हो गए हैं। बीजिंग में बढ़ते मामलों ने सभी को चिंता में डाल दिया है। </p>

शनिवार को बीजिंग में 36 और लियाओनिंग में 2 नए मामले सामने आए हैं। बीजिंग में अब 46 मामले हो गए हैं। बीजिंग में बढ़ते मामलों ने सभी को चिंता में डाल दिया है। 

<p>चीन में अब संक्रमण के कुल 83,132 हो गए हैं। हालांकि, इनमें से सिर्फ 129 मरीजों का इलाज चल रहा है। बाकी सब ठीक हो चुके हैं। हालांकि, जानकारों का मानना है कि चीन ने कोरोना के आंकड़ों को छिपाया है। </p>

चीन में अब संक्रमण के कुल 83,132 हो गए हैं। हालांकि, इनमें से सिर्फ 129 मरीजों का इलाज चल रहा है। बाकी सब ठीक हो चुके हैं। हालांकि, जानकारों का मानना है कि चीन ने कोरोना के आंकड़ों को छिपाया है। 

<p>चीन में कोरोना से अब तक 4634 लोगों की मौत हुई है। स्थानीय संक्रमण के मामले सामने आने के बाद कोरोना के रोकथाम के कदमों को कड़ा कर दिया गया है। यहां सब्जी और खाने पीने की चीजों के बाजारों को बंद कर दिया गया है। <br />
 </p>

चीन में कोरोना से अब तक 4634 लोगों की मौत हुई है। स्थानीय संक्रमण के मामले सामने आने के बाद कोरोना के रोकथाम के कदमों को कड़ा कर दिया गया है। यहां सब्जी और खाने पीने की चीजों के बाजारों को बंद कर दिया गया है। 
 

<p>राजधानी के सबसे बड़े सब्जी और मांस मार्केट में भी कोरोना का मामला मिला है। इससे चिंता और बढ़ गई है। क्यों कि इस मार्केट से करीब 90 फीसदी आपूर्ति होती है। इसके अलावा 6 और बाजारों को बंद कर दिया गया। </p>

राजधानी के सबसे बड़े सब्जी और मांस मार्केट में भी कोरोना का मामला मिला है। इससे चिंता और बढ़ गई है। क्यों कि इस मार्केट से करीब 90 फीसदी आपूर्ति होती है। इसके अलावा 6 और बाजारों को बंद कर दिया गया। 

<p>बीजिंग में बाजार में मछली काटने वाले बोर्ड पर कोरोना वायरस पाया गया है। इस बाजार से लिए गए 40 पर्यावरणीय नमूने भी संक्रमित पाए गए हैं।</p>

बीजिंग में बाजार में मछली काटने वाले बोर्ड पर कोरोना वायरस पाया गया है। इस बाजार से लिए गए 40 पर्यावरणीय नमूने भी संक्रमित पाए गए हैं।

<p>इस बाजार से संबंधित 10 हजार लोगों की जांच शुरू कर दी है। यहां अब तक 6 लोग संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा यहां ढाका से ग्वांग्झू के लिए उड़ानों को भी बंद कर दिया गया है। 17 यात्री संक्रमित पाए जाने के बाद ये कदम उठाया गया था। </p>

इस बाजार से संबंधित 10 हजार लोगों की जांच शुरू कर दी है। यहां अब तक 6 लोग संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा यहां ढाका से ग्वांग्झू के लिए उड़ानों को भी बंद कर दिया गया है। 17 यात्री संक्रमित पाए जाने के बाद ये कदम उठाया गया था। 

<p><strong>चीन ने छिपाए आंकड़े</strong><br />
चीन ने कोरोना को लेकर जो आंकड़े सबके सामने रखे हैं, उस पर दुनिया यकीन नहीं कर पा रही है। अब एक स्टडी में दावा किया गया है कि चीन ने वुहान में हुई मौत के आंकड़ों में 10 गुना की कमी की है।  <br />
 </p>

चीन ने छिपाए आंकड़े
चीन ने कोरोना को लेकर जो आंकड़े सबके सामने रखे हैं, उस पर दुनिया यकीन नहीं कर पा रही है। अब एक स्टडी में दावा किया गया है कि चीन ने वुहान में हुई मौत के आंकड़ों में 10 गुना की कमी की है।  
 

<p>वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी और ओहियो स्‍टेट यूनिवर्सिटी की रिसर्च के मुताबिक,  वुहान में 36,000 लोगों की मौत हुई है। यह स्टडी श्मशानों से मिलने वाले डाटा पर केंद्रित है।</p>

वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी और ओहियो स्‍टेट यूनिवर्सिटी की रिसर्च के मुताबिक,  वुहान में 36,000 लोगों की मौत हुई है। यह स्टडी श्मशानों से मिलने वाले डाटा पर केंद्रित है।

<p>स्‍टडी के मुताबिक, जनवरी से मार्च के बीच वुहान के श्‍मशानों में 24 घंटे अंतिम संस्‍कार हो रहे थे। वुहान में अस्पतालों का बुरा हाल हो गया था। वुहान में देशभर से  42,600 डॉक्टर और हेल्थ वर्कर्स भेजे गए थे। जबकि वहां 90 हजार पहले से मौजूद थे। जबकि वुहान में सिर्फ 50 हजार केस बताए गए। ऐसे में सवाल उठता है कि जब सिर्फ 50 हजार केस थे तो इतने डॉक्टरों की जरूरत क्यों पढ़ीं ? </p>

स्‍टडी के मुताबिक, जनवरी से मार्च के बीच वुहान के श्‍मशानों में 24 घंटे अंतिम संस्‍कार हो रहे थे। वुहान में अस्पतालों का बुरा हाल हो गया था। वुहान में देशभर से  42,600 डॉक्टर और हेल्थ वर्कर्स भेजे गए थे। जबकि वहां 90 हजार पहले से मौजूद थे। जबकि वुहान में सिर्फ 50 हजार केस बताए गए। ऐसे में सवाल उठता है कि जब सिर्फ 50 हजार केस थे तो इतने डॉक्टरों की जरूरत क्यों पढ़ीं ? 

loader