Asianet News Hindi

कोरोना वायरस का सच बताने वालों को गायब कर रहा चीन, वुहान की रिपोर्टिंग करने वाला पत्रकार भी लापता

First Published Feb 10, 2020, 4:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बीजिंग. कोरोना वायरस से चीन में महामारी जैसी स्थिति हो गई है। अब तक सैकड़ों लोगों की जानें गई और उससे चार गुना लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं। मुंह पर मास्क लगाए लोग अपनों से मिल भी नहीं पा रहे हैं। चीन के वुहान शहर को कोरोना का गढ़ बताया जा रहा है। इस बीच खबर सामने आई है कि, कोरोना वायरस से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी देने वाले को चीन सरकार गायब कर दे रही हैं। कोरोना के इलाज के लिए भी तक कोई उपचार या दवा नहीं बनाई जा सकती है। चीन में इस वायरस की चपेट में आकर मरने वालों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। 

कोरोना वायरस की वजह से सोमवार को 900 की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़कर 40 हजार से ऊपर हो गए हैं। सिर्फ रविवार को संक्रमण की वजह से 97 लोगों की मौत हुई है, जबकि 3,062 संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। दुनिया भर में बदनामी की वजह से चीन की सरकार कोरोना वायरस की सच्चाई छिपा रही है।

कोरोना वायरस की वजह से सोमवार को 900 की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़कर 40 हजार से ऊपर हो गए हैं। सिर्फ रविवार को संक्रमण की वजह से 97 लोगों की मौत हुई है, जबकि 3,062 संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। दुनिया भर में बदनामी की वजह से चीन की सरकार कोरोना वायरस की सच्चाई छिपा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है चीन में वायरस संक्रमण से पीड़ित और मौतों की संख्या बहुत ज्यादा है। चीन की सरकार जानबूझ कर कम बता रही है, कोरोना वायरस की सच्चाई बताने वाले लोग गायब हो रहे हैं। पिछले हफ्ते ही सबसे पहली बार कोरोना वायरस को लेकर जानकारी देने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत हो गई। अब इस वायरस और उसके संक्रमण की सच्चाई का पता लगाने वाला एक चीनी पत्रकार चेन कुशी गायब है। पत्रकार के गायब होने के बाद नागरिक सरकार पर सवाल उठा रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है चीन में वायरस संक्रमण से पीड़ित और मौतों की संख्या बहुत ज्यादा है। चीन की सरकार जानबूझ कर कम बता रही है, कोरोना वायरस की सच्चाई बताने वाले लोग गायब हो रहे हैं। पिछले हफ्ते ही सबसे पहली बार कोरोना वायरस को लेकर जानकारी देने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत हो गई। अब इस वायरस और उसके संक्रमण की सच्चाई का पता लगाने वाला एक चीनी पत्रकार चेन कुशी गायब है। पत्रकार के गायब होने के बाद नागरिक सरकार पर सवाल उठा रहे हैं।

चेन कुशी चीन के शहर वुहान से कोरोना वायरस पर रिपोर्टिंग कर रहा था। वुहान से ही कोरोना वायरस की बीमारी फैली है। चीन के लोग कोरोना वायरस को लेकर सच्चाई बताने की मांग कर रहे हैं। उनकी आवाज को दबाया जा रहा है। इस बीच कोरोना वायरस की रिपोर्टिंग कर रहा चेन कुशी गुरुवार से ही गायब है। कुशी के गायब होने से मामला संवेदनशील बन गया है।

चेन कुशी चीन के शहर वुहान से कोरोना वायरस पर रिपोर्टिंग कर रहा था। वुहान से ही कोरोना वायरस की बीमारी फैली है। चीन के लोग कोरोना वायरस को लेकर सच्चाई बताने की मांग कर रहे हैं। उनकी आवाज को दबाया जा रहा है। इस बीच कोरोना वायरस की रिपोर्टिंग कर रहा चेन कुशी गुरुवार से ही गायब है। कुशी के गायब होने से मामला संवेदनशील बन गया है।

चेन कुशी के रिश्तेदारों और दोस्तों ने पुलिस से संपर्क किया है। पुलिस का कहना है कि चेन कुशी को संक्रमण से बचाने के लिए उसे अलग-थलग रखा गया है जबकि कुशी के रिश्तेदारों और दोस्तों का कहना है कि संक्रमण के बहाने उसे हिरासत में रखा गया है। चीन के सोशल मीडिया पर चेन कुशी की रिहाई की मांग की जा रही है।

चेन कुशी के रिश्तेदारों और दोस्तों ने पुलिस से संपर्क किया है। पुलिस का कहना है कि चेन कुशी को संक्रमण से बचाने के लिए उसे अलग-थलग रखा गया है जबकि कुशी के रिश्तेदारों और दोस्तों का कहना है कि संक्रमण के बहाने उसे हिरासत में रखा गया है। चीन के सोशल मीडिया पर चेन कुशी की रिहाई की मांग की जा रही है।

चीन में कोरोना वायरस को लेकर पहली बार चेतावनी देने वाले डॉ ली वेनलियांग की मौत हो गई है। डॉ ली वेनलियांग की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से ही हुई लेकिन लोगों का कहना हैकोरोना वायरस की सच्चाई बताने को लेकर डॉक्टर को डराया धमकाया गया था। वो इसमें चीनी सरकार का हाथ मानते हैं।

चीन में कोरोना वायरस को लेकर पहली बार चेतावनी देने वाले डॉ ली वेनलियांग की मौत हो गई है। डॉ ली वेनलियांग की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से ही हुई लेकिन लोगों का कहना हैकोरोना वायरस की सच्चाई बताने को लेकर डॉक्टर को डराया धमकाया गया था। वो इसमें चीनी सरकार का हाथ मानते हैं।

24 जनवरी को वुहान शहर जाकर पत्रकार कुशी ने रिपोर्टिंग की और सारे वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिए। कुशी ने कोरोना वायरस से संक्रमण वाले अस्पतालों का दौरा किया, वो बताना चाह रहा था कि चीन में कोरोना वायरस की वजह से हालात कितने खराब हैं। इसके बाद से वो गायब हो गया। उसके एक दोस्त ने उसकी मां का एक वीडियो संदेश सोशल मीडिया पर अपलोड किया, जिसमें उसके गायब होने की बात कही गई थी।

24 जनवरी को वुहान शहर जाकर पत्रकार कुशी ने रिपोर्टिंग की और सारे वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिए। कुशी ने कोरोना वायरस से संक्रमण वाले अस्पतालों का दौरा किया, वो बताना चाह रहा था कि चीन में कोरोना वायरस की वजह से हालात कितने खराब हैं। इसके बाद से वो गायब हो गया। उसके एक दोस्त ने उसकी मां का एक वीडियो संदेश सोशल मीडिया पर अपलोड किया, जिसमें उसके गायब होने की बात कही गई थी।

इसके बाद से सोशल मीडिया पर कुशी हीरो बन चुका है लोग उसकी तलाश की मांग कर रहे हैं। चेन कुशी चीन की सोशल मीडिया में काफी पॉपुलर है लेकिन उसके सभी सोशल मीडिया एकाउंट को डिलीट कर दिया गया है। अपने एक वीडियो में उसने कहा था कि वो अपने कैमरे के जरिए वुहान की असली तस्वीर दुनिया के सामने लाएगा। चीन के लोग अब चेन कुशी को अपना हीरो मान रहे हैं। चीन में अब चेन कुशी का नाम लेना एक संवेदनशील मुद्दा बन गया है।

इसके बाद से सोशल मीडिया पर कुशी हीरो बन चुका है लोग उसकी तलाश की मांग कर रहे हैं। चेन कुशी चीन की सोशल मीडिया में काफी पॉपुलर है लेकिन उसके सभी सोशल मीडिया एकाउंट को डिलीट कर दिया गया है। अपने एक वीडियो में उसने कहा था कि वो अपने कैमरे के जरिए वुहान की असली तस्वीर दुनिया के सामने लाएगा। चीन के लोग अब चेन कुशी को अपना हीरो मान रहे हैं। चीन में अब चेन कुशी का नाम लेना एक संवेदनशील मुद्दा बन गया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios