इंसानों से जानवरों में फैल रहा कोरोना वायरस, करीबियों के संपर्क में आने से संक्रमित हुए पालतू कुत्ते

First Published 22, May 2020, 8:45 AM

हॉन्गकॉन्ग. इंसानों से कोरोना वायरस जानवरों में भी फैला रहा है। इस बात की पुष्टि हॉन्गकॉन्ग में एक शोध के दौरान हुई। यहां दो कुत्ते अपने करीबियों के संपर्क में आने के बाद कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इतना ही नहीं, इन कुत्तों में वायरस से लड़ने के लिए एंडीबॉडी भी बनी। हॉन्गकॉन्ग और ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने इंसानों से कुत्तों में कोरोना वायरस फैलने का दावा किया है।
 

<p>नेचर जर्नल में प्रकाशित इस रिसर्च के मुताबिक, कुत्तों में वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी का भी निर्माण हुआ है। इसका मतलब साफ है कि इन कुत्तों में वायरस पहले कभी नहीं था। इंसानों के संपर्क में आने के बाद ही इनमें संक्रमण फैला।</p>

नेचर जर्नल में प्रकाशित इस रिसर्च के मुताबिक, कुत्तों में वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी का भी निर्माण हुआ है। इसका मतलब साफ है कि इन कुत्तों में वायरस पहले कभी नहीं था। इंसानों के संपर्क में आने के बाद ही इनमें संक्रमण फैला।

<p>वैज्ञानिकों के मुताबिक, कुत्तों में संक्रमण उनके मालिकों से फैला। ये लोग पहले से ही संक्रमित थे। संक्रमण का कुत्तों की उम्र से कोई संबंध नहीं है। एक कुत्ता पोमेरेनियन (17 साल) का है और दूसरा कुत्ता जर्मन शेफर्ड (2.5 साल) का है। &nbsp;</p>

वैज्ञानिकों के मुताबिक, कुत्तों में संक्रमण उनके मालिकों से फैला। ये लोग पहले से ही संक्रमित थे। संक्रमण का कुत्तों की उम्र से कोई संबंध नहीं है। एक कुत्ता पोमेरेनियन (17 साल) का है और दूसरा कुत्ता जर्मन शेफर्ड (2.5 साल) का है।  

<p><strong>पहले से बीमारी से जूझ रहा था पोमेरेनियन</strong><br />
आमतौर पर पोमेरेनियन 12-16 साल तक जीता है। लेकिन जिस कुत्ते में संक्रमण की पुष्टि हुई है, उसकी उम्र 17 साल थी। उसे हार्ट और किडनी से संबंधित बीमारियां पहले से ही थीं। &nbsp;</p>

पहले से बीमारी से जूझ रहा था पोमेरेनियन
आमतौर पर पोमेरेनियन 12-16 साल तक जीता है। लेकिन जिस कुत्ते में संक्रमण की पुष्टि हुई है, उसकी उम्र 17 साल थी। उसे हार्ट और किडनी से संबंधित बीमारियां पहले से ही थीं।  

<p>वैज्ञानिकों के मुताबिक, कुत्तों में संक्रमण का उम्र से कोई लेना देना नहीं है। लेकिन बीमारी से जरूर है।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

वैज्ञानिकों के मुताबिक, कुत्तों में संक्रमण का उम्र से कोई लेना देना नहीं है। लेकिन बीमारी से जरूर है। 
 

<p>वहीं, जर्मन शेफर्ड कुत्ता जिसकी उम्र 2.5 साल है, उसे संक्रमण के वक्त कोई बीमारी नहीं थी। उसकी नाक और मुंह का सैंपल लिया गया तो उसे कोरोना निकला। लेकिन मल की रिपोर्ट निगेटिव आई। क्वारंटाइन के वक्त कुत्तों में कोई लक्षण नहीं दिखे।&nbsp;</p>

वहीं, जर्मन शेफर्ड कुत्ता जिसकी उम्र 2.5 साल है, उसे संक्रमण के वक्त कोई बीमारी नहीं थी। उसकी नाक और मुंह का सैंपल लिया गया तो उसे कोरोना निकला। लेकिन मल की रिपोर्ट निगेटिव आई। क्वारंटाइन के वक्त कुत्तों में कोई लक्षण नहीं दिखे। 

<p>जर्मन शेफर्ड के साथ घर में एक और कुत्ता था, वह संक्रमित नहीं हुआ। उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।&nbsp;</p>

जर्मन शेफर्ड के साथ घर में एक और कुत्ता था, वह संक्रमित नहीं हुआ। उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। 

<p><strong>&nbsp;एक कुत्ते की हुई मौत: </strong>क्वारंटाइन के बाद पोमेरेनियन कुत्ते की मौत हो गई। वैज्ञानिकों का मानना है कि कुत्ते को पहले से कई बीमारियां थीं, ये मौत की वजह हो सकती हैं।</p>

 एक कुत्ते की हुई मौत: क्वारंटाइन के बाद पोमेरेनियन कुत्ते की मौत हो गई। वैज्ञानिकों का मानना है कि कुत्ते को पहले से कई बीमारियां थीं, ये मौत की वजह हो सकती हैं।

<p><strong>न्यूयॉर्क में चीता और शेर हुए थे संक्रमित</strong><br />
इससे पहले भी इंसानों से जानवरों में कोरोना का संक्रमण फैलने की पुष्टि हुई थी। न्यूयॉर्क में एक चिड़ियाघर में कई नर और मादा चीता और शेर संक्रमित मिले थे। इनमें संक्रमण यहां काम करने वाले कर्मचारी से फैला था।</p>

न्यूयॉर्क में चीता और शेर हुए थे संक्रमित
इससे पहले भी इंसानों से जानवरों में कोरोना का संक्रमण फैलने की पुष्टि हुई थी। न्यूयॉर्क में एक चिड़ियाघर में कई नर और मादा चीता और शेर संक्रमित मिले थे। इनमें संक्रमण यहां काम करने वाले कर्मचारी से फैला था।

loader