Asianet News Hindi

कोरोना से जंग में बजा भारत का डंका, सम्मान में तिरंगे के रंग में रंगा स्विट्जरलैंड का मैटरहॉर्न पर्वत

First Published Apr 18, 2020, 4:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. दुनियाभर में कोरोना के खिलाफ जंग जारी है। भारत भी कोरोना को हराने के लिए लगतार कदम उठा रहा है। जिसकी WHO सहित कई संस्थाओं और देशों ने तारीफ की है। इन सब के बीच अब स्वीटरजलैंड ने भारत की अनोखे अंदाज में तारीफ की है। यहां स्विस आलप्स के मैटरहॉर्न पर्वत को रोशनी की मदद से तिरंगे से कवर करके भारत को सैल्यूट किया गया है। 

सभी देशों की मदद के लिए भारत ने आगे बढ़ाया हाथ 

भारत के लिए इस सम्मान की वजह यह भी है कि संकट की घड़ी में भारत ने एशिया हो या अफ्रीका, यूरोप या अमेरिका हर देश की मदद की है। पीएम मोदी ने तिरंगे के रंग से नहाए पर्वत की तस्वीर खुद रीट्वीट की है और कहा कि दुनिया कोविड19 के खिलाफ एकजुट होकर लड़ रही है। महामारी पर निश्चित रूप से मानवता की जीत होगी।'

सभी देशों की मदद के लिए भारत ने आगे बढ़ाया हाथ 

भारत के लिए इस सम्मान की वजह यह भी है कि संकट की घड़ी में भारत ने एशिया हो या अफ्रीका, यूरोप या अमेरिका हर देश की मदद की है। पीएम मोदी ने तिरंगे के रंग से नहाए पर्वत की तस्वीर खुद रीट्वीट की है और कहा कि दुनिया कोविड19 के खिलाफ एकजुट होकर लड़ रही है। महामारी पर निश्चित रूप से मानवता की जीत होगी।'

14,690 फुट ऊंचे पर्वत को तिरंगे के रंग में रंगा 

14,690 फुट ऊंचे पर्वत को तिरंगे के रंग से रोशन करने का काम किया है स्विट्जरलैंड के लाइट आर्टिस्ट गैरी हॉपस्टेटर ने। भारतीय विदेश सेवा की अधिकारी और विश्व व्यापार संगठन में भारत की सेकंड सेक्रटरी गुरलीन कौर ने ट्वीट किया, ' स्विट्जरलैंड ने दिखाया है कि वह कोविड19 से लड़ने में भारत के साथ खड़ा है। प्रति हिमालस से आल्पस तक दोस्ती। जरमैट टूरिजम आपका आभार।'
 

14,690 फुट ऊंचे पर्वत को तिरंगे के रंग में रंगा 

14,690 फुट ऊंचे पर्वत को तिरंगे के रंग से रोशन करने का काम किया है स्विट्जरलैंड के लाइट आर्टिस्ट गैरी हॉपस्टेटर ने। भारतीय विदेश सेवा की अधिकारी और विश्व व्यापार संगठन में भारत की सेकंड सेक्रटरी गुरलीन कौर ने ट्वीट किया, ' स्विट्जरलैंड ने दिखाया है कि वह कोविड19 से लड़ने में भारत के साथ खड़ा है। प्रति हिमालस से आल्पस तक दोस्ती। जरमैट टूरिजम आपका आभार।'
 

इटली-स्विट्जरलैंड की सीमा पर मौजूद 4478 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद इस पर्वत के जरिये गैरी पहले भी 'स्टे होम' का संदेश दे चुके हैं। स्विट्जरलैंड में 19 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त हो रहा है। गैरी का लक्ष्य इस अवधि तक देश की इमारतों, स्मारकों और पर्वत के जरिये लोगों को कोरोना से लड़ने का संदेश देना है। इसी के तहत उन्होंने तिरंगे को पर्वत पर जगह दी।

इटली-स्विट्जरलैंड की सीमा पर मौजूद 4478 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद इस पर्वत के जरिये गैरी पहले भी 'स्टे होम' का संदेश दे चुके हैं। स्विट्जरलैंड में 19 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त हो रहा है। गैरी का लक्ष्य इस अवधि तक देश की इमारतों, स्मारकों और पर्वत के जरिये लोगों को कोरोना से लड़ने का संदेश देना है। इसी के तहत उन्होंने तिरंगे को पर्वत पर जगह दी।

संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग करने के लिए भारत की सराहना की है। भारत ने अमेरिका, ब्राजील, इजराइल जैसे कई देशों को मलेरिया के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन भेजी थी। अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा इस दवा को कोरोना के इलाज के लिए उपयोगी माना गया है।

संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग करने के लिए भारत की सराहना की है। भारत ने अमेरिका, ब्राजील, इजराइल जैसे कई देशों को मलेरिया के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन भेजी थी। अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा इस दवा को कोरोना के इलाज के लिए उपयोगी माना गया है।

भारत में 3 मई तक लॉकडाउन

कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के बीच भारत में लॉकडाउन 2.0 लागू किया गया है। जो 3 मई तक जारी रहेगा। इससे पहले 24 मार्च की आधी रात से 21 दिन का लॉकडाउन जारी किया गया था। जिसकी मियाद 114 अप्रैल को पूरी हो रही थी। लेकिन कोरोना के संकट को देखते हुए राज्य सरकारों की सलाह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को लॉकडाउन को 3 मई तक आगे बढ़ा दिया है। 

भारत में 3 मई तक लॉकडाउन

कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के बीच भारत में लॉकडाउन 2.0 लागू किया गया है। जो 3 मई तक जारी रहेगा। इससे पहले 24 मार्च की आधी रात से 21 दिन का लॉकडाउन जारी किया गया था। जिसकी मियाद 114 अप्रैल को पूरी हो रही थी। लेकिन कोरोना के संकट को देखते हुए राज्य सरकारों की सलाह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को लॉकडाउन को 3 मई तक आगे बढ़ा दिया है। 

भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या 14 हजार 

भारत के 30 से अधिक राज्य कोरोना के संक्रमण से जूझ रहे हैं। देश में संक्रमित मरीजों की संख्या 14 हजार के पार पहुंच गई है। जबकि अब तक 496 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि राहत भरी बात है कि संक्रमण के शिकार 2056 लोग ठीक भी हो चुके हैं। 
 

भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या 14 हजार 

भारत के 30 से अधिक राज्य कोरोना के संक्रमण से जूझ रहे हैं। देश में संक्रमित मरीजों की संख्या 14 हजार के पार पहुंच गई है। जबकि अब तक 496 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि राहत भरी बात है कि संक्रमण के शिकार 2056 लोग ठीक भी हो चुके हैं। 
 

कोरोना के कहर से सबसे ज्यादा महाराष्ट्र प्रभावित है। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 3320 है। जबकि 201 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, दिल्ली में भी संक्रमित मरीजों की संख्या 1700 के पार है। 

कोरोना के कहर से सबसे ज्यादा महाराष्ट्र प्रभावित है। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 3320 है। जबकि 201 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, दिल्ली में भी संक्रमित मरीजों की संख्या 1700 के पार है। 

दुनिया में कोरोना

दुनिया के 210 देशों में कोरोना का संक्रमण जारी है। प्रभावित देशों में संक्रमित मरीजों की संख्या 22 लाख 61 हजार से अधिक है। जबकि अब तक 1 लाख 54 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि कोरोना के संक्रमण से अब तक 5 लाख 78 हजार से अधिक लोग ठीक भी हो चुके है।

दुनिया में कोरोना

दुनिया के 210 देशों में कोरोना का संक्रमण जारी है। प्रभावित देशों में संक्रमित मरीजों की संख्या 22 लाख 61 हजार से अधिक है। जबकि अब तक 1 लाख 54 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि कोरोना के संक्रमण से अब तक 5 लाख 78 हजार से अधिक लोग ठीक भी हो चुके है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios