Asianet News Hindi

ट्रम्प की सबसे सुरक्षित जगह की तस्वीर, यहां ऐसा क्या है कि मिसाइल और एटम बम भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता

First Published Jun 2, 2020, 1:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाशिंगटन. अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्यॉयड की मौत के बाद अमेरिका के 40 राज्य हिंसा की आग में झूलस रहे हैं। हालात ऐसे हो गए कि अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन समेत कई शहरों में हिंसा को काबू करने के लिए कर्फ्यू लगाना पड़ा। बावजूद इसके स्थिति नहीं संभल रही है। जिसके बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सेना बुलाने का ऐलान किया है। वहीं, पिछले दिनों प्रदर्शनकारियों ने ट्रंप के आधिकारिक निवास व्हाइट हाउस के सामने भारी प्रदर्शन किया था। साथ ही एक कूड़ेदान में आग लगा दिया था। जिसके बाद सुरक्षा एजेंसियों ने ट्रंप को व्हाइट हाउस में बने बंकर में लेकर चले गए थे। आइए जानते हैं व्हाइट हाउस में बने उस बंकर के बारे में जहां एटम बम भी बेअसर साबित होता है। 
 

व्हाइट हाउस में बने इस बंकर में राष्ट्रपति और उनके परिवार के अलावा सारे कर्मचारियों के रहने की भी पूरी व्यवस्था है। यह बंकर इतना शक्तिशाली है कि इस पर रॉकेट-मिसाइल तो छोड़िए अगर परमाणु बम से भी हमला किया जाए तो किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। 

व्हाइट हाउस में बने इस बंकर में राष्ट्रपति और उनके परिवार के अलावा सारे कर्मचारियों के रहने की भी पूरी व्यवस्था है। यह बंकर इतना शक्तिशाली है कि इस पर रॉकेट-मिसाइल तो छोड़िए अगर परमाणु बम से भी हमला किया जाए तो किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। 

इस बंकर में कई गुप्त सुरंग हैं जिससे अमेरिकी राष्ट्रपति किसी भी आपात स्थिति में कहीं भी आने-जाने में सक्षम हैं। वो इस सुरंग के जरिए किसी भी विभाग के दफ्तर पहुंच सकते हैं। 

इस बंकर में कई गुप्त सुरंग हैं जिससे अमेरिकी राष्ट्रपति किसी भी आपात स्थिति में कहीं भी आने-जाने में सक्षम हैं। वो इस सुरंग के जरिए किसी भी विभाग के दफ्तर पहुंच सकते हैं। 

व्हाइट हाउस के बंकर में राष्ट्रपति के लिए लिविंग रूम, टीवी, कॉफ्रेंस रूम के अलावा कमांड रूम भी है जहां वो 16 लोगों के साथ कभी भी बैठक कर सकते हैं। 

व्हाइट हाउस के बंकर में राष्ट्रपति के लिए लिविंग रूम, टीवी, कॉफ्रेंस रूम के अलावा कमांड रूम भी है जहां वो 16 लोगों के साथ कभी भी बैठक कर सकते हैं। 

पांच मंजिला खुफिया बंकर में राष्ट्रपति की गाड़ी के लिए पार्किंग और गैरेज की भी सुविधा है जहां उनके काफिले की गाड़ियों को सुरक्षित रखा जा सकता है।  (यह तस्वीर अमेरिका- वियतनाम युद्ध के दौरान की है।)

पांच मंजिला खुफिया बंकर में राष्ट्रपति की गाड़ी के लिए पार्किंग और गैरेज की भी सुविधा है जहां उनके काफिले की गाड़ियों को सुरक्षित रखा जा सकता है।  (यह तस्वीर अमेरिका- वियतनाम युद्ध के दौरान की है।)

1941 में बना था बंकर 
हिंसात्मक घटनाओं के बाद राष्ट्रपति ट्रंप को जिस बंकर में ले जाया गया। उसका निर्माण 1941 में कराया गया था। तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रैंकलिन रूजवेल्ट ने पर्ल हर्बल हमले के बाद कराया था। यह बंकर 600 वर्ग फुट में फैला हुआ है। यहां 16 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। 
 

1941 में बना था बंकर 
हिंसात्मक घटनाओं के बाद राष्ट्रपति ट्रंप को जिस बंकर में ले जाया गया। उसका निर्माण 1941 में कराया गया था। तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रैंकलिन रूजवेल्ट ने पर्ल हर्बल हमले के बाद कराया था। यह बंकर 600 वर्ग फुट में फैला हुआ है। यहां 16 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। 
 

युद्ध में बेहद कारगर
व्हाइट हाउस का खुफिया बंकर हर आधुनिक तकनीक से लैस है। यह हर प्रकार के हमले और युद्ध में बचाव कर सकता है। जानकारी के मुताबिक व्हाइट हाउस में बने इस बंकर पर मिसाइलों का भी कोई असर नहीं होता है। यह खुफिया बंकर आतंकी हमलों, बाढ़, भूकंप, आंधी-तूफान जैसी आपदा की परिस्थितियों में भी बचाव करने में सक्षम है। 

युद्ध में बेहद कारगर
व्हाइट हाउस का खुफिया बंकर हर आधुनिक तकनीक से लैस है। यह हर प्रकार के हमले और युद्ध में बचाव कर सकता है। जानकारी के मुताबिक व्हाइट हाउस में बने इस बंकर पर मिसाइलों का भी कोई असर नहीं होता है। यह खुफिया बंकर आतंकी हमलों, बाढ़, भूकंप, आंधी-तूफान जैसी आपदा की परिस्थितियों में भी बचाव करने में सक्षम है। 

खतरा टलने तक रह सकते हैं राष्ट्रपति 
व्हाइट हाउस में बने 4 मंजिला बंकर में राष्ट्रपति और उनका तब तक रह सकता है। जब तक कि देश में जारी खतरा टल जाता या युद्ध समाप्त नहीं हो जाता। इसमें  लिविंग रूम के अलावा, कमांड रूम, टीवी और कांफ्रेंस रूम भी है। 

खतरा टलने तक रह सकते हैं राष्ट्रपति 
व्हाइट हाउस में बने 4 मंजिला बंकर में राष्ट्रपति और उनका तब तक रह सकता है। जब तक कि देश में जारी खतरा टल जाता या युद्ध समाप्त नहीं हो जाता। इसमें  लिविंग रूम के अलावा, कमांड रूम, टीवी और कांफ्रेंस रूम भी है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios