Asianet News Hindi

भारत में जन्मीं सालेहा जबीन बनी अमेरिकी सेना में पहली मुस्लिम चैपलिन, इससे पहले हिंदू लड़की को मिला था गौरव

First Published Feb 18, 2021, 2:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भारत में जन्मीं सालेहा जबीन अमेरिका सेना में पहली भारतीय मुस्लिम ‘चैपलिन’बनी हैं। चैपलिन यूएस आर्मी में एक आध्यात्मिक सलाहकार का पद होता है। यह एक प्रोफेशनल पोस्ट होती है। बुधवार को यूएस आर्मी ने इस संबंध में एक आधिकारिक बयान जारी किया। इसके अनुसार, 5 फरवरी को ऐतिहासिक स्नातक समारोह आयोजित किया गया था। इसमें सालेहा को चैपलिन बनाया गया। इससे पहले पटना में जन्मी प्रतिमा धर्म अमेरिकी सेना में पहली हिंदू चैपलिन बनी थीं।

14 साल पहले अमेरिका आई थी सालेहा
सालेहा एक स्टूडेंट के तौर पर 14 साल पहले अमेरिका आई थीं। इन्हें पिछले साल दिसंबर में शिकागो में 'कैथोलिक थियोलॉजिकल यूनियन' में बतौर सेकंड लेफ्टिनेंट नियुक्त किया गया था। अब उन्हें रक्षा विभाग में पहली मुस्लिम चैपलिन होने का गौरव हासिल हुआ है।

14 साल पहले अमेरिका आई थी सालेहा
सालेहा एक स्टूडेंट के तौर पर 14 साल पहले अमेरिका आई थीं। इन्हें पिछले साल दिसंबर में शिकागो में 'कैथोलिक थियोलॉजिकल यूनियन' में बतौर सेकंड लेफ्टिनेंट नियुक्त किया गया था। अब उन्हें रक्षा विभाग में पहली मुस्लिम चैपलिन होने का गौरव हासिल हुआ है।

इस पद को मिलने के बाद सालेहा ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उनके आसपास के लोग उनका बहुत सम्मान करते हैं। एक आध्यात्मिक नेता और प्रवासी के तौर पर उनके साथ काम करने को सब उत्साहित हैं।
 

इस पद को मिलने के बाद सालेहा ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उनके आसपास के लोग उनका बहुत सम्मान करते हैं। एक आध्यात्मिक नेता और प्रवासी के तौर पर उनके साथ काम करने को सब उत्साहित हैं।
 

इस पद को मिलने के बाद सालेहा ने कहा कि उन्हें यह अवसर मिला, इसके लिए वे बहुत आभारी हैं। अब उन्हें उदाहरण पेश करना होगा कि जो लोग सेवा करना चाहते हैं, सेना में उनके लिए अच्छा अवसर है।

इस पद को मिलने के बाद सालेहा ने कहा कि उन्हें यह अवसर मिला, इसके लिए वे बहुत आभारी हैं। अब उन्हें उदाहरण पेश करना होगा कि जो लोग सेवा करना चाहते हैं, सेना में उनके लिए अच्छा अवसर है।

चैपलिन कनने के बाद सेना के अधिकारियों के साथ कुछ यूं खुशी जाहिर की सालेहा जबीन ने।

चैपलिन कनने के बाद सेना के अधिकारियों के साथ कुछ यूं खुशी जाहिर की सालेहा जबीन ने।

मुंबई की प्रतिमा बनी थीं पहली हिंदू चैपलिन
बता दें कि इससे पहले पटना में जन्मीं और मुंबई में पली-बढ़ीं प्रतिमा धर्म को अमेरिकी सेना में पहली हिंदू चैपलिन बनने का अवसर मिला था। वर्ष, 2006 में जब प्रतिमा थियोलॉजी में मास्टर डिग्री ले रही थीं, तभी अमेरिकी सेना की ओर से उन्हें कॉल आया था। प्रतिमा चिन्मय मिशन से संबंध रखती हैं।

मुंबई की प्रतिमा बनी थीं पहली हिंदू चैपलिन
बता दें कि इससे पहले पटना में जन्मीं और मुंबई में पली-बढ़ीं प्रतिमा धर्म को अमेरिकी सेना में पहली हिंदू चैपलिन बनने का अवसर मिला था। वर्ष, 2006 में जब प्रतिमा थियोलॉजी में मास्टर डिग्री ले रही थीं, तभी अमेरिकी सेना की ओर से उन्हें कॉल आया था। प्रतिमा चिन्मय मिशन से संबंध रखती हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios