पानी से मर सकता है कोरोना वायरस, रूसी वैज्ञानिकों ने किए ये चौंकाने वाले दावे

First Published 31, Jul 2020, 2:06 PM

मास्को. कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में जारी है। अब तक 1.7 करोड़ केस सामने आ चुके हैं। 6 लाख लोगों की मौत इस महामारी से हो चुकी है। कोरोना वायरस से निपटने के लिए साफ सफाई से लेकर बार बार हाथ धोने की अपील की जा रही है। वहीं, कोरोना को लेकर तमाम प्रकार के दावे किए जा रहे हैं। अब रूस के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि कोरोना वायरस पानी से पूरी तरह खत्म हो जाता है। 

<p>रूस के स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी में यह दावा किया गया है। इस रिसर्च में डॉक्टरों ने कहा, पानी से कोरोना वायरस 72 घंटे में खत्म हो सकता है। साथ ही वायरस का रूप भी सीधे तौर पर पानी के तापमान पर निर्भर करता है। <br />
 </p>

रूस के स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी में यह दावा किया गया है। इस रिसर्च में डॉक्टरों ने कहा, पानी से कोरोना वायरस 72 घंटे में खत्म हो सकता है। साथ ही वायरस का रूप भी सीधे तौर पर पानी के तापमान पर निर्भर करता है। 
 

<p>वैज्ञानिकों के मुताबिक, 90 फीसदी वायरस के कण कमरे के सामान्य तापमान पर रखे पानी में 24 घंटे में मर जाते हैं।</p>

वैज्ञानिकों के मुताबिक, 90 फीसदी वायरस के कण कमरे के सामान्य तापमान पर रखे पानी में 24 घंटे में मर जाते हैं।

<p>इसके अलावा रिसर्च में कहा गया है कि उबलते पानी में कोरोना तुरंत मर जाता है। हालांकि, कुछ स्थितियों में कोरोना वायरस पानी में रह सकता है। लेकिन समुद्र या ताजे पानी में नहीं बढ़ता। </p>

इसके अलावा रिसर्च में कहा गया है कि उबलते पानी में कोरोना तुरंत मर जाता है। हालांकि, कुछ स्थितियों में कोरोना वायरस पानी में रह सकता है। लेकिन समुद्र या ताजे पानी में नहीं बढ़ता। 

<p>वैज्ञानिकों ने दावा किया कि स्टेनलेस स्टील, लिनोलियम, कांच, प्लास्टिक और सिरेमिक सतह पर 48 घंटे तक कोरोना सक्रिय रहता है। हालांकि, वायरस एक जगह टिका नहीं रहता। इतना ही नहीं ज्यादातर घरेलू कीटनाशक भी इसे खत्म कर सकते हैं। </p>

वैज्ञानिकों ने दावा किया कि स्टेनलेस स्टील, लिनोलियम, कांच, प्लास्टिक और सिरेमिक सतह पर 48 घंटे तक कोरोना सक्रिय रहता है। हालांकि, वायरस एक जगह टिका नहीं रहता। इतना ही नहीं ज्यादातर घरेलू कीटनाशक भी इसे खत्म कर सकते हैं। 

<p>रिसर्च के मुताबिक, 30% कॉन्सन्ट्रेशन के एथिल और आइसोप्रोपाइल अल्कोहल आधे मिनट में कोरोना के 1 लाख कणों को मार सकता है। हालांकि, पहले की रिसर्च में दावा किया गया था कि कोरोना के 1 लाख कणों को मारने के लिए 60% से ज्यादा कॉन्सन्ट्रेशन के एथिल और आइसोप्रोपाइल  की जरूरत होती है। </p>

रिसर्च के मुताबिक, 30% कॉन्सन्ट्रेशन के एथिल और आइसोप्रोपाइल अल्कोहल आधे मिनट में कोरोना के 1 लाख कणों को मार सकता है। हालांकि, पहले की रिसर्च में दावा किया गया था कि कोरोना के 1 लाख कणों को मारने के लिए 60% से ज्यादा कॉन्सन्ट्रेशन के एथिल और आइसोप्रोपाइल  की जरूरत होती है। 

<p>इसके अलावा सतह को साफ करने के लिए क्लोरीन भी कारगार साबित होता है। यह अन्य वायरसों को भी 30 सेकंड में खत्म कर सकता है। <br />
 </p>

इसके अलावा सतह को साफ करने के लिए क्लोरीन भी कारगार साबित होता है। यह अन्य वायरसों को भी 30 सेकंड में खत्म कर सकता है। 
 

loader