Asianet News HindiAsianet News Hindi

बाप-बेटे ने बच्चे की बलि देने के लिए खोदा 7 फीट का गड्ढा, मासूम को काजल लगा माला डाल किया खड़ा और...

गुरुग्राम में कुछ तांत्रिक एक 12 साल के बच्चे की नरबलि देने जा रहा थे। लेकिन एन वक्त मासूम की मां ने आकर उसको बचा लिया। आरोपियो ने इसके लिए 7 फीट गहरा गड्डा भी खोद लिया था।

12 year old innocent child kidnapped sacrifice in gurugram haryana KPR
Author
Gurugram, First Published Dec 21, 2019, 6:49 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुरुग्राम (हरियाणा). 21वी शताब्दी में लोग भले ही जागरुक हो गए हो। लेकिन आज भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो तंत्र-मंत्र में फंसकर नुकसान करवा बैठते हैं। ऐसा ही मामला गुरुग्राम में सामने आया है। जहां तांत्रिक के 12 साल के बच्चे की बलि देने जा रहा था। लेकिन एन वक्त मासूम की मां ने आकर उसको बचा लिया।

बच्चे को काजल लगाकर गड्डे के पास किया था खड़ा
दरअसल, हैरान कर देने वाला यह मामला फर्रुखनगर की एक कॉलोनी में सामने आया है। जहां 6th क्लास के एक बच्चे की  तांत्रिक पिता-पुत्र बलि देने की तैयार कर रहे थे। इसके लिए दोनों ने सात फीट गहरा गड्डा भी खोद लिया था। साथ ही मासूम को भी माला और काजल लगाकर पास खड़ा कर लिया था। हालांकि समय रहते हुए बच्चे की मां पहुंच गई और उसको बचा लिया।

जर सी देर होती तो बच्चे की चढ़ जाती बलि
बच्चे की मां पिंकी ने पुलिस को बताया कि उसके बेटे का नाम हर्ष है। मेरी ही कॉलोनी में रहने वाले प्रमोद और उसका पिता गोविंद बच्चे को बहला-फुसला को बाइक पर बैठाकर अपने साथ ले गए थे। जब कुछ देर बाद मैंने देखा तो हर्ष वहां से गायब था। फिर में बेटे को तलाशते हुए उनके घर पहुंची तो पिता-पुत्र दो बबाओं के साथ तंत्र विधा कर रहे थे। पास में ही बेटा खड़ा हुआ था, वहां करीब 7 से 8 फीट का गहरा गड्डा भी खोदा गया था। अगर में मेरे पहुंने में तोड़ी भी देर हो जाती तो वह दोनों मासूम की बलि चढ़ा देते। 

दोनों पिता-पुत्र को किया गया गिरफ्तार
मामले की शिकायत के बाद पुलिस ने दोनों पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं थाना प्रभारी राव राजेंद्र सिंह ने बताया की मामले की गहराई से जांच की जा रही है। जल्द से जल्द इस मामले में लिप्त अन्य आरोपियों को भी हिरासत में ले लिया जाएगा। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios