Asianet News HindiAsianet News Hindi

लखीमपुर के बाद अब हरियाणा में कांड, सांसद के काफिले की गाड़ी ने किसानों को मारी टक्कर, मचा बवाल

अंबाला में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद नायब सैनी पर आरोप है कि उनके काफिले ने विरोध कर रहे किसान पर गाड़ी चढ़ा दी है। इसमें एक किसान घायल बताया जा रहा है।

Haryana BJP MP Naib Saini accused of attacking farmers in Ambala
Author
Ambala, First Published Oct 7, 2021, 4:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अंबाला : लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) का विवाद अभी शांत नहीं हुआ था कि अब हरियाणा के अंबाला से इसी तरह का बवाल शुरू हो गया है। आरोप है कि बीजेपी नेताओं का विरोध करने पहुंचे किसान पर गाड़ी चढ़ाई गई, जिसमें वह जख्मी हो गया। किसानों का आरोप है कि कुरुक्षेत्र से BJP सांसद नायब सैनी के काफिले ने अंबाला के नारायणगढ़ में विरोध कर रहे किसान पर गाड़ी चढ़ा दी। 

क्या है पूरा मामला
दरअसल एक कार्यक्रम में शामिल होने प्रदेश के खेल मंत्री संदीप सिंह और कुरुक्षेत्र से सांसद नायब सैनी नारायणगढ़ पहुंचने वाले थे। जब किसानों को इस बात का पता चला तो वे उस कार्यक्रम का विरोध करने पहुंच गए। किसानों ने जमकर नारेबाजी की, विरोध-प्रदर्शन किया। जानकारी के मुताबिक, सुबह 11 बजकर 15 मिनट पर भवन प्रीत सिंह नाम के किसान ने नारायणगढ़ के डीसीपी को शिकायत दी कि उसपर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश हुई। बताया गया कि वह गाड़ी सांसद नायब सैनी के काफिले की थी. फिलहाल कोई पुलिस केस रजिस्टर नहीं किया गया है। काफिले की आखिरी गाड़ी द्वारा भवन प्रीत को टक्कर मारने का आरोप है। 

इसे भी पढ़ें-Lakhimpur में मारे गए BJP कार्यकर्ताओं की फैमिली से मिलना चाहती हैं प्रियंका, लेकिन परिवार ने किया मना

जानबूझकर चढ़ाई गाड़ी - किसान
भारतीय किसान यूनियन चढूनी गुट ने नारायणगढ़ थाने में इसकी शिकायत की है। उनका आरोप  है कि किसान वहां पर काले झंड़े दिखाकर विरोध जता रहे थे। उसी दौरान सांसद के काफिले की एक गाड़ी ने किसान भवनप्रीत को टक्‍कर मार दी। टक्कर जानबूझकर मारा गया है। किसान की हत्या करने का  इरादा था।

लखीमपुर खीरी में क्या हुआ था
इससे पहले रविवार को उत्तर-प्रदेश के लखीमपुर खीरी में प्रदर्शन कर रहे किसानों को गाड़ी से कुचलने का मामला सामने आया था। इस मामले में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा का नाम आया है। आरोप है कि उन्होंने ही किसानों पर गाड़ी चढ़ाई। आशीष का नाम FIR में भी दर्ज है। वहां चार किसानों समेत 8 लोग मारे गए थे, जिसमें दो बीजेपी कार्यकर्ता, एक ड्राइवर और एक पत्रकार शामिल थे।

इसे भी पढ़ें-बैलून से बना ये अनोखा अस्पताल: जिस पर हवा-पानी और आग का भी नहीं होगा असर..जानिए खासियत

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios