Asianet News HindiAsianet News Hindi

बज रही थी फोन की घंटी, उठाने वाला नहीं था कोई..पास जाकर देखा तो दुनिया छोड़ चुके थे बचपन के दो दोस्त

हरियाणा से एक दर्दनाक हादसे की खबर सामने आई है, जहां बचपन के दो दोस्तों की एक साथ दर्दनाक मौत हो गई। घटना की जानकारी उनके मोबाइल से पता चली है। बता दें कि दोनों की मौत नहर में डूबने से हुई। 

haryana news two friends dead bodies found in canal hisar kpr
Author
Hisar, First Published Jul 28, 2020, 2:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सिरसा. हरियाणा से एक दर्दनाक हादसे की खबर सामने आई है, जहां बचपन के दो दोस्तों की एक साथ दर्दनाक मौत हो गई। घटना की जानकारी उनके मोबाइल से पता चली है। बता दें कि दोनों की मौत नहर में डूबने से हुई। 

मोबाइल की घंटी बज रही, लेकिन उठाने वाला नहीं था
दरअसल, यह घटना सिरसा जिले के चौपटा क्षेत्र की है, जहां की नहर में यह दर्दनाक हादसा हुआ। बता दें कि हादसे की जानकारी उस वक्त लगी जब नहर किनारे खड़ी एक बाइक से मोबाइल की घंटी लगातार बज रही थी। काफी देर हो जाने के बाद कोई फोन नहीं उठा रहा था, इसी दौरान वहां काम कर रहे कुछ किसानों की नजर मोबाइल पर गई। उन्होंने सोचा ऐसा कौन है जो काफी घंटी बजने के बाद भी फोन नहीं उठा रहा है। वह पास में पहुंचे तो देखा वहां पर कोई नहीं था, सिर्फ एक बाइक और कुछ सामान बिखरा पड़ा था। 

एक फोन कॉल से खुल गया सारा राज
जब कोई नहीं आया तो किसानों ने खुद उस मोबाइल को उठाया और बात की। वहां से किसी महिला की आवाज आ रही थी, वह बोली कहां हो कब से फोन लगा रही हूं, क्यों नहीं उठा रहे। फिर किसान ने बताया बहनजी आपने जिसको कॉल किया वह यहां पर नहीं है, मैंने उनका काफी इंतजार करने के बाद फोन उठाया है। यहां पर एक बाइक खड़ी हुई है और कुछ सामान, ऐसा लगता है जैसे कुछ अनहोनी हुई हो। इसके बाद किसान ने पुलिस को सूचना देकर मौके पर बुलाया और हादसे होने की अंशका जताई।

20 घंटे तक रेस्क्यू टीम उनको खोजती रही
थाना प्रभारी जयभगवान शर्मा ने मौके पर पहुंचकर गोताखोरों के जरिए सर्च अभियान चलाया। 20 घंटे तक लगातार रेस्क्यू टीम उनको खोजती रही, लेकिन कहीं कुछ पता नहीं चला। जब सोमवार सुबह नहर का बहाव कम कराया तब जाकर दोनों युवकी की लाश बरामद की। जहां मरने वाले युवकों की पहचान  सन्नी और प्रखर जोधा के रूप में हुई। 

पिता बोले-छुट्टी के दिन काम पर नहीं जाते तो जिंदा होते 
बत दें कि दोनों युवक एक निजी कंपनी में जॉब करते थे, रविवार के दिन वह ड्यटी से लौट रहे थे, उस वक्त यह हादसा हुआ। मृतक के पिता का कहना है कि अगर छुट्टी के दिन उन्हें काम के लिए नहीं बुलाया होता तो शायद दोनों बच्चे जिंदा होते। 

एक को बचाने में गई दूसरे की जान
वहीं घटना को लेकर पुलिस का मानना है कि नहर में एक युवक पानी पीने के लिए उतरा होगा, उसी समय पानी का तेज बहाव आया होगा जिससे वह डूबने लगा होगा, उसको बचाने के लिए दूसरे युवक ने भी छलांग लगा दी होगी। जिसके चलते उनको मौत हो गई। दोनों तैरना नहीं जानते थे। आसपास किसी ने उन्हें डूबते नहीं देखा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios