Asianet News HindiAsianet News Hindi

स्कैन तो बड़ी मेहनत से किया था 500 का नोट, लेकिन फीकी स्याही लोगों को धोखा नहीं दे सकी


हरियाणा में पुलिस ने नकली नोट छापने वाले गिरोह को पकड़ा है। ये कम्प्यूटर और स्कैनर की मदद से 500 के नकली नोट तैयार कर रहे थे।

Shocking case of fake Indian currency in Haryana kpa
Author
Kaithal, First Published Mar 18, 2020, 7:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कैथल, हरियाणा. यहां की पुलिस ने नकली नोट छापने वाले गिरोह को पकड़ा है। ये कम्प्यूटर और स्कैनर की मदद से 500 के नकली नोट तैयार कर रहे थे। ये आरोपी 500 के नोट को कम्प्यूटर पर स्कैन कर लेते थे। इसके बाद प्रिंट निकाल रहे थे। आरोपियों ने माना कि वे 500 रुपये के लाखों नकली नोट छाप चुके थे। पुलिस ने गिरोह के पास से साढ़े 5 लाख रुपए के नकली नोट जब्त किए हैं। आरोपी पिछले 6 महीने से इस गोरखधंधे में लगे हुए थे। 


पुलिस चेकिंग में पकड़े गए...
कैथल SP शशांक कुमार सावन ने बताया कि 17 मार्च को पुलिस की एक टीम वाहनों की चैकिंग कर रही थी। इसी दौरान एक आरोपी वहां से निकला। जब उसे रोका गया और बाइक के कागजात दिखाने को कहा, तो बहाने बनाने लगा। पुलिस ने जब पड़ता की, तो बाइक एचआर 33 एफ 4407 चोरी की निकली। इसके बाद पुलिस ने आरोपी विजयपाल पुत्र वीरभान गांव कठवाड़ कैथल को अरेस्ट कर लिया। पुलिस ने जब उसकी तलाशी ली, तो उसके पास से 500-500 के 40 नोट निकले। इनका सीरियल नंबर एक ही था। मालूम चला कि सभी नोट नकली थे। इसके बाद पुलिस ने आरोपी से पूछताछ के बाद उसके 5 अन्य साथियों को धरदबोचा। ये हैं दिनेश पुत्र शेर सिंह निवासी क्योड़क, संजय पुत्र जगदीश निवासी जसवंती, अनिल पुत्र अर्जुन निवासी क्योड़क, जसबीर पुत्र राये सिंह निवासी मलिकपुर और सुखविंद्र पुत्र नसीब सिंह निवासी रसुलपुर।  आरोपी नोट छापने हल्के कागज का इस्तेमाल करते थे। इस वजह से स्याही हल्की आती थी। इस वजह से वे पुलिस को धोखा नहीं दे सके। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios