Asianet News Hindi

विदेश जाने का ख्वाब टूटा..तो लिखा आखिरी खत, 6 महीने से चक्कर काटते हुए थक चुका है..

किसी ने इस शख्स से विदेश भेजने के नाम पर 10 लाख रुपए ले लिए थे। मामला हरियाणा के कुरुक्षेत्र का है।

Shocking case related to suicide of a young man in Kurukshetra kpa
Author
Kurukshetra, First Published Feb 26, 2020, 1:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कुरुक्षेत्र, हरियाणा. विदेश जाने की उम्मीद में एक युवक ने किसी परिचित को 10 लाख रुपए दे दिए। लेकिन उसकी मुराद अधूरी रह गई। वो पिछले 6 महीने से लगातार अपने पैसों की वापसी के लिए संबंधित व्यक्ति के घर चक्कर काट रहा था। जब मायूस हुआ..तो ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी। पुलिस को युवक के पास से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें उसने इस बात का जिक्र किया है।

मैं थक चुका हूं...
मृतक अंकुर दुरेजा अर्बन एस्टेट में रहता था। उसने मंगलवार सुबह कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी थी। मृतक ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि उसे कुरुक्षेत्र के एक दीक्षित परिवार ने विदेश भेजने के नाम पर ठगा। उसने 10 लाख रुपए दिए थे। लेकिन उसे न तो विदेश भेजा गया और न पैसे वापस किए गए। वो पिछले 6 महीने से अपने पैसों के लिए चक्कर काट रहा था।

जांच अधिकारी एसआई ईशम सिंह ने बताया कि युवक सुबह से ही स्टेशन पर घूम रहा था। जैसे ही दिल्ली से पंजाब जा रही मेरी एक्सप्रेस वहां पहुंची..वो आगे कूद गया। मृतक के पिता हरीश के मुताबिक उनका बेटा मानसिक रूप से परेशान था। उसे धमकाया भी गया था। अंकुर उनका इकलौता बेटा था। अंकुर की बहन विदेश में रहती है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios