Asianet News HindiAsianet News Hindi

Breast Cancer Awareness Month:मैमोग्राम क्या है और क्यों पड़ती है महिलाओं को इसकी जरूरत

कम उम्र की महिलाओं को विश्वास नहीं होता कि उन्हें स्तन कैंसर का खतरा है। लेकिन, यह किसी भी उम्र में हमला कर सकता है। इसलिए हमें हमेशा सर्तक रहना चाहिए।

Breast cancer awareness month when should a woman go for mammograms
Author
Delhi, First Published Oct 20, 2021, 3:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ब्रेस्ट कैंसर दुनियाभर की महिलाओं के लिए मौत का कारण बन गया है। जिसके लिए उन्हें आवश्कता है नियमित जांच की, जो उन्हें इस खतरे से बचा सकती है। इसलिए महिलाओं को अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए जांच नियमित रूप से करानी चाहिए।

ब्रेस्ट कैंसर के लिए आप करा सकते हैं मैमोग्राम जांच

Breast cancer awareness month when should a woman go for mammograms

 

ब्रेस्ट कैंसर के लिए कई तरह की जांच कराई जाती है। जिसमें से एक है मैमोग्राम जांच। ये एक तरह की स्क्रीनिंग जांच होती है। जिसे डॉक्टर के कहने पर ही किया जात है। इसके जरिए ये पता लगाया जाता है कि, ब्रेस्ट में कहां-कहां गाठ हैं जो आगे जा के कैंसर का रूप ले सकती है। इसलिए मैमोग्राम जांच कराई जाती है। एक अध्ययन में पाया गया है कि, इस जांच के बाद मृत्यृ दर में कमी दर्ज की गई है वहीं कुछ लोग अभी भी इस जांच पर विश्वास नहीं कर पा रहे हैं। आपको बता दें कि, ये जांच 40 से ऊपर की महिलाओं के लिए हैं।

इसे भी पढ़ें: आप जिसे मोटापा समझ रहे हैं वह ट्यूमर हो सकता है, डॉक्टर ने किया चौंकाने वाला खुलासा

क्या 40 से कम उम्र की महिलाओं को हो सकता है ब्रेस्ट कैंसर?

कम उम्र की महिलाओं का मानना है कि , वो ब्रेस्ट कैंसर का शिकार नहीं हो सकती। ऐसा नहीं है। हां ये बत सच है कि, 40 से ऊपर की महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा सबसे ज्यादा देखने को मिलता है। लेकिन आजकल की दिनर्चया के हिसाब से कम उम्र की महिलाएं भी ब्रेस्ट कैंसर का शिकार हो सकती है। ऐसे में अगर आपको किसी प्रकार के कोई भी संकेत ब्रेस्ट कैंसर से जुड़े मिले तो अपनी जांच जरूर करवा लें। 

इन उपायों से कर सकते हैं ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम

  • अपने वजन को कम रखे ताकि आपको इसका खतरा कम हो।
  • शराब का सेवन ना करें।
  • रोजाना एक्सरसाइज करें।
  • अपने खान-पान का खास ध्यान रखें।

ब्रेस्ट कैंसर विकसित होने पर होती हैं ये परेशानियां

  • गांठ होना।
  • निपल निर्वहन।
  • जिस जगह गांठ है वहां दर्द रहना।
  • स्किन में बदलाव नजर आना।

अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो आप इस कैंसर की बीमारी से अपने आपको सुरक्षित रख पाएंगे। क्योंकि बीमारी आपको अंदर से खोखला कर देती है। इसलिए अपना ख्याल रखना बेहद जरूरी है ताकि आप सुरक्षित और हेल्दी रहे।

इसे भी पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर से लेकर स्ट्रोक और ट्यूमर तक..आखें बता देती हैं कि आप किस बीमारी से पीड़ित हैं

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios