Asianet News HindiAsianet News Hindi

Covid New Variant AY-4: पुराने वैरिएंट से ज्यादा तेजी से आपको बना सकता है अपना शिकार, जानें इसका इलाज

Coronavirus के मामलो में थोड़ी गिरावट आनी शुरू हुई ही थी कि, अब एक नए वैरिएंट AY-4 के 7 मामले इंदौर में सामने आए हैं। जिसको लेकर स्वास्थय विभाग काफी बौखलाया हुआ नजर आ रहा है।

Corona virus new variant AY4 can infect you than the previous one, know its treatment
Author
Delhi, First Published Oct 26, 2021, 6:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। Coronavirus जितनी तेजी से बढ़ना शुरू हुआ था। लोगों के दिलों में एक संकट पैदा हो गया था कि, क्या हम इससे बच पाएंगे। लेकिन जुलाई महीने के बाद कोरोना के मामलो में कमी देखी गई। जिसके बाद अनुमान लगाया गया कि, तीसरी लहर नहीं आएगी। अब सवाल ये उठ रहे हैं कि, तीसरी लहर नहीं आएगी तो ये नया वैरिएंट कहां से आया। 

मुंबई में अप्रैल में मिला था पहला केस

डेल्टा के इस नए Variant AY-4 के सबसे पहले केस की जानकारी मुंबई से मिली थी। जहां अप्रैल के महीने में इसका एक मामला सामने आया था। अब इंदौर में इससे लोग संक्रमित हो रहे हैं। अबतक वहां 7 मामले सामने आ गए हैं। वहीं डॉक्टर्स का मानना है कि, इस वैरिएंट के बारे में रिसर्च अभी चल रही है, इसलिए उससे पहले इसके बारे में कुछ कहना अभी ठीक नहीं होगा। लेकिन आप घबराएं नहीं बस अपने आपको सुरक्षित रखें।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के कम होते मामलों के बीच भारत में मिला नया वैरिएंट, जानें कितना है खतरनाक

Infection से सावधान रहें

डॉक्टर्स का कहना है कि, आपको इससे ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है बस आपको इसके Infection से सावधान रहना है, ताकि आप सुरक्षित रहें। इसके लिए आपको कई चीजों का खास ध्यान रखना होगा।

  • जिनको भी इसका खतरा है उनसे उचित दूरी बनाकर रखें।
  • सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सही तरह से करें।
  • बाहर जाते समय मास्क और सेनेटाइजर को जरूर कैरी करें।
  • बाहर की बनी चीजों का सेवन कम से कम करें।
  • बाहर से आने के बाद नहाएं और अपने कपड़ो को साबून से अच्छे से साफ करें।
  • आपको अगर इसके लक्षण अपने अंदर दिखाई दें तो अपने आपको Quarantine कर लें।

क्या है इसका इलाज

इसका अभी कोई भी इलाज तय नहीं किया गया है, फिलहाल जिन लोगों को ये हो रहा है उन्हें Isolation में रखा जा रहा है, ताकि उनसे किसी और को ये खतरा पैदा ना हो, क्योंकि इसका इंफेक्शन काफी तेजी से फैलता है। इसलिए दूरी का खास ध्यान रखना होगा।

क्या वैक्सीन के बाद भी हो सकता है खतरा?

डॉक्टर्स का कहना है कि, इससे जुड़ी जानकारी, अभी नहीं दी जा सकती। इसके लिए हमें थोड़े वक्त का इंतजार करना होगा। क्योंकि हर एक बीमारी के वैरिएंट के खतरे का पता एक महीने के बाद ही पता चलता है। लेकिन 50 प्रतिशत चांस है कि, आपको वैक्सीन के बाद भी इसका खतरा हो सकता है। इसके लिए आपको एहतियात बरतनी होगी, ताकि आप अपने आपको सुरक्षित रख सके।

इसे भी पढ़ें; Heart Attack: मुंह में दिखने वाले ऐसे लक्षण भी होते हैं हार्ट अटैक के कारण, ना करें इग्नोर

घबराएं नहीं... जागरूक रहें

आपको इस नए वैरिएंट से बिल्कुल घबराने की जरूरत नहीं है। आपको बस थोड़ा सा सतर्क रहना होगा। क्योंकि ऐसा माना जा रहा है कि, ये वैरिएंट पहले वाले से ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में आपको सतर्क के साथ जागरूक भी रहना होगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios