Asianet News Hindi

डाइजेशन ठीक नहीं हो तो अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे, जल्दी मिलेगी राहत

मौसम में बदलाव होने पर कई तरह की बीमारियां होने लगती हैं। सर्दी, जुकाम, सिरदर्द, बुखार तो आम शिकायतें हैं, अक्सर पेट से संबंधित दिक्कतें भी होने लगती हैं।

If the digestion is not good, follow these 5 home remedies, will get relief soon
Author
New Delhi, First Published Feb 16, 2020, 11:04 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हेल्थ डेस्क। मौसम में बदलाव होने पर कई तरह की बीमारियां होने लगती हैं। सर्दी, जुकाम, सिरदर्द, बुखार तो आम शिकायतें हैं, अक्सर पेट से संबंधित दिक्कतें भी होने लगती हैं। कई बार खाना ठीक से नहीं पचता। इससे एसिडिटी की समस्या पैदा हो जाती है। एसिडिटी होने पर छाती में जलन और उल्टियां तक होने लगती हैं। वहीं, डाइजेशन सही नहीं रहने पर दस्त भी लग जाते हैं। इससे काफी कमजोरी हो जाती है। इसलिए मौसम बदलने के दौरान खान-पान पर खास ध्यान देना जरूरी होता है। कुछ घरेलू उपाय अपना कर इन समस्याओं से निजात पाई जा सकती है। इससे इम्यूनिटी भी बढ़ती है। जानते हैं इनके बारे में।

1. नारियल पानी
अगर दिन की शुरुआत चाय की जगह नारियल पानी से की जाए तो सामान्य बीमारियों से बचाव हो सकता है। नारियल पानी से इम्यूनिटी तो बढ़ाती ही है, साथ ही यह पेट के लिए भी काफी बढ़िया होता है। नारियल पानी का नियमित सेवन करने पर एसिडिटी जैसी समस्या नहीं होती।

2. अदरक और पुदीना
पेट संबंधी समस्याओं में अदरक और पुदीने का रस बेहद कारगर साबित होता है। अदरक और पुदीने की पत्तियों को गर्म पानी में डालकर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें और इन्हें पानी में अच्छी तरह घुलने दें। इसके बाद पानी को पी लें। इससे डाइजेशन से जुड़ी दिक्कतें दूर रहेंगी।

3. अजवाइन
अजवाइन अपच और पेट की दूसरी बीमारियों में रामबाण का काम करता है। करीब 25-30 ग्राम अजवाइन के रस का सेवन रोजाना करें। इससे किडनी को डिटॉक्स करने में भी मदद मिलती है। इसके सेवन से ताजगी बनी रहती है।

4. भरपूर पानी पिएं
मौसम कोई भी हो, पानी भरपूर मात्रा में पीना चाहिए। पानी से पेट की सफाई होती है और विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं। इसके अलावा, इससे बॉडी हाइड्रेट भी रहती है। रोज 8-9 गिलास पानी पीना जरूरी है।

5. त्रिफला
त्रिफला का इस्तेमाल आयुर्वेद में बहुत पुराने समय से कई तरह की बीमारियों को दूर करने के लिए किया जा रहा है। इसे त्रिदोष नाशक कहा गया है। त्रिफला का चूर्ण सुबह और रात में सोते समय गुनगुने पानी के साथ लेने पर पेट संबंधी बीमारियां दूर तो रहती ही हैं, इससे आंखों की रोशनी भी बढ़ती है। त्रिफला से और भी कई फायदे हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios