हेल्थ डेस्क। नारियल का फल हमारे देश में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। शादी-ब्याह से लेकर किसी भी पूजा-पाठ में नारियल का होना जरूरी है। नारियल बहुत ही गुणकारी फल है। नारियल जब कच्चा होता है तो इसका पानी पीने से बहुत फायदा होता है। इसके नियमित इस्तेमाल से कई बीमारियां दूर रहती हैं। साथ ही, यह स्त्रियों के सौंदर्य को भी बढ़ता है। यह उनकी त्वचा में निखार लाता है और उन्हें चमकदार बनाए रखता है। नारियल में  कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम और दूसरे विटामिन भी काफी मात्रा में होते हैं। खास बात है कि इसमें कोलेस्ट्रॉल और फैट नहीं होता। इसलिए इसके सेवन से मोटापे की समस्या में भी फायदा होता है। जानते हैं, नारियल पानी पीने के कुछ खास फायदे। 

1. ब्लड प्रेशर में है रामबाण
नारियल पानी ऐसे तो हर तर हस फायदेमंद है, लेकिन ब्लड प्रेशर की समस्या में यह रामबाण की तरह काम करता है। इसमें मौजूद पोटैशियम, मैग्नाशियम और विटामिन सी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है।  नारियल का पानी पीने से कोलेस्ट्रॉल भी नहीं बढ़ता है। यह हाइपरटेंशन को भी कंट्रोल करता है। 

2. शुगर में भी है फायदेमंद
नारियल पानी सिर्फ ब्लड प्रेशर को ही कंट्रोल नहीं करता, बल्कि यह शुगर की समस्या में भी फायदा पहुंचाता है। यह ब्लड में ग्लूकोज के लेवल को बढ़ने नहीं देता है। इससे डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारी नहीं होती है। 

3. इम्यून सिस्टम को करता है मजबूत
नारियल का पानी हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। इम्यून सिस्टम सही रहने से कई बीमारियां नहीं होतीं। इसके साथ ही यह एजिंग प्रॉसेस को भी रोकता है। यह चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियों को कम करता है और वजन को भी घटाता है। 

4. वायरल इन्फेक्शन को करत है दूर
नारियल का पानी लगातार पीने से जल्दी किसी तरह का वायरल इन्फेक्शन नहीं होता है। इसमें एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। यह किसी भी तरह का इन्फेक्शन को रोकता है और इनसे होने वाली बीमारियों से बचाव करता है। 

5. इनसोमनिया यानी नींद न आने की बीमारी में है कारगर  
आजकल ज्यादातर लोग तनाव और डिप्रेशन का शिकार होने की वजह से इनसोमनिया यानी नींद नहीं आने की समस्या से ग्रस्त हैं। ऐसे लोग अगर नियमित तौर पर डिनर के बाद आधा गिलास नारियल पानी पीते हैं तो कुछ समय के बाद उन्हें अच्छी नींद आने लगती है। इनसोमनिया के वे मरीज जो नींद की दवाइयों पर निर्भर हैं, नारियल पानी पीकर इसके असर को देख सकते हैं। पर बिना डॉक्टर की सलाह के वे नींद की दवा लेना बंद न करें।