Asianet News HindiAsianet News Hindi

अगर आप 10 मिनट से ज्यादा टॉयलेट में बिताते हैं समय, तो हो सकती है बवासीर की समस्या

क्या आप भी टॉयलेट में बैठकर घंटों तक अपना फोन स्क्रॉल करते रहते हैं? तो सावधान हो जाइए, क्योंकि आप एक गंभीर बीमारी को निमंत्रण दे रहे हैं।
 

If you spend more than 10 minutes in toilet you can get piles dva
Author
First Published Sep 29, 2022, 8:40 AM IST

हेल्थ डेस्क : पाइल्स (piles) एक ऐसी गंभीर समस्या है जो अगर किसी इंसान को हो जाए तो उसका बैठना, उठना, लेटना सब कुछ दूभर हो जाता है। यह ऐसा दर्द होता है जिसके बारे में ना आप खुलकर बता सकते हैं और ना ही इसे सहन कर सकते हैं। कई केस में तो पाइल्स का ऑपरेशन भी करवाना पड़ता है, जो और ज्यादा कष्टकारी होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं आपकी छोटी-छोटी हैबिट पाइल्स जैसी बीमारी को निमंत्रण देती है। जी हां, अगर आप भी टॉयलेट में बैठे हुए घंटों तक अपना फोन स्क्रॉल करते हैं या न्यूज़पेपर पढ़ते हैं या यूं ही बैठकर सोच विचार करते रहते हैं, तो आपको पाइल्स की समस्या हो सकती है। आइए आपको बताते हैं कि आपकी टॉयलेट में ज्यादा टाइम स्पेंड करने से इसका संपर्क कैसे है...

क्या होता है पाइल्स
Hemorrhoids या जिसे सामान्य भाषा में पाइल्स या बवासीर भी कहा जाता है, आपके गुदा और निचले मलाशय में वैरिकाज़ नसों के समान सूजी हुई नसें होती हैं। बवासीर मलाशय के अंदर या गुदा के आसपास की त्वचा के नीचे विकसित हो सकता है। जिससे मल त्यागने में समस्या होती है और कई बार तो यहां से खून भी निकलने लगता है। 

10 मिनट से ज्यादा टॉयलेट में नहीं बिताए समय
अगर आप टॉयलेट में 10 से ज्यादा मिनट बताते हैं, तो आपको पाइल्स होने की संभावना हो सकती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार जो लोग लंबे समय तक कमोड पर बैठे रहते हैं, उन्हें बवासीर की समस्या हो सकती है, क्योंकि आप जितना ज्यादा टाइम कमोड पर बैठे रहोगे उतना ही प्रेशर आपके बट के आजू-बाजू बनेगा। जिससे रेक्टल वेन्स (मलाशय की नसों) में ज्यादा ब्लड जमा हो सकता है और इससे पाइल्स हो सकता है। ऐसे में आपको 10 मिनट से ज्यादा टॉयलेट में नहीं बैठना चाहिए। जितना जल्दी हो आपको टॉयलेट से फ्रेश होकर बाहर आ जाना चाहिए। इसके साथ ही शौचालय के दौरान ज्यादा दबाव डालने से रक्त वाहिकाओं में सूजन आ जाएगी और बवासीर हो जाएगा।

बवासीर के लक्षण
ज्यादातर मामलों में, बवासीर के लक्षण गंभीर नहीं होते हैं और अपने आप ठीक हो जाते हैं। लेकिन पीड़ित व्यक्ति को निम्नलिखित लक्षणों का अनुभव हो सकता है-
- गुदा के अंदर और आसपास दर्दनाक गांठ
- गुदा के आसपास खुजली और बेचैनी
- मल त्याग के दौरान और बाद में बेचैनी
- मल में खून आना
- मल के पास घाव बन जाना

और पढ़ें: सेहत ही नहीं स्किन और बालों के लिए भी वरदान है लहसुन, ऐसे करें इस्तेमाल

पुरुषों के स्पर्म को लेकर वैज्ञानिकों का दंग कर देने वाला खुलासा

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios