Asianet News Hindi

अमिताभ बच्चन को है लिवर की बीमारी, जानें इन 5 वजहों से होता है लिवर कमजोर

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन लिवर की गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। उनके लिवर का सिर्फ 25 प्रतिशत हिस्सा ही काम कर रहा है। लिवर की बीमारी बढ़ जाने पर जानलेवा साबित होती है। यह जानना जरूरी है कि किन कारणों से लिवर कमजोर हो जाता है।

Liver disease can be fatal, know what causes liver weakening
Author
New Delhi, First Published Oct 18, 2019, 2:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हेल्थ डेस्क। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन लिवर की गंभीर बीमारी से पीड़ित होकर अस्पताल में भर्ती हैं। अमिताभ बच्चन के लिवर में हेपटाइटिस बी का संक्रमण हो गया था। हेपटाइटिस बी का संक्रमण हो जाने पर लिवर के फंक्शन पर बुरा असर पड़ता है और धीरे-धीरे लिवर कमजोर होने लगता है। इस संक्रमण को दूर करने की कोई दवा अभी तक सामने नहीं आई है। जब यह संक्रमण बढ़ जाता है तो लिवर सिरोसिस और लिवर कैंसर जैसी बीमारी हो जाती है। इसके बाद लिवर फेल्यर हो जाने से मौत हो जाती है। लेकिन समय रहते अगर इस संक्रमण का पता लग जाए तो इस पर काबू पाया जा सकता है। बता दें कि अमिताभ बच्चन फिल्म 'कुली' की शूटिंग के दौरान बुरी तरह घायल हो गए थे। तब उनकी जान बचाने के लिए उन्हें 60 बोतल खून चढ़ाया गया था। इसी में किसी डोनर के ब्लड में हेपटाइटिस बी का वायरस था, जिससे यह बीमारी अमिताभ बच्चन को हो गई। इसका पता तब चला जब उनका लिवर काफी हद तक खराब हो चुका था। जानते हैं, लिवर को ठीक रखने के लिए कौन-सी सावधानियां बरतनी चाहिए।

1. पेनकिलर दवाओं का इस्तेमाल नहीं करें
बहुत लोगों की आदत होती है कि दर्द या मामूली बुखार होने पर भी बिना डॉक्टर की सलाह लिए केमिस्ट से दवाई ले लेते हैं। इसके अलावा, वे फिटनेस और वजन कम करने के लिए भी दवाई ले लेते हैं। इसका लिवर पर बहुत बुरा असर होता है। खास कर पेनकिलर दवाइयां अगर लंबे समय तक ली जाएं तो उनका लिवर और किडनी पर घातक असर होता है। इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा नहीं लेनी चाहिए।

2. कोल्ड ड्रिंक और नशीली चीजों से बचें
कोल्ड ड्रिंक और सोडा में शुगर काफी होता है। इसमें कोई पोषक तत्व भी नहीं होता। साथ ही, इसके सेवन से वजन भी बढ़ता है। इसके अलावा शराब का सेवन भी कम करें या नहीं करें। अधिक शराब पीने से लिवर खराब हो जाता है। स्मोकिंग और दूसरी नशीली चीजों के सेवन से भी से लिवर कमजोर हो जाता है और फिर कोई भी संक्रमण जल्दी हो सकता है।

3. दूसरों का रेजर इस्तेमाल नहीं करें
हेपटाइटिस बी का संक्रमण रक्त के जरिए होता है। अगर एक बार यह वायरस शरीर में चला गया तो लिवर को हमेशा खतरा बना रहता है। इसलिए हमेशा इसका ध्यान रखना चाहिए कि दूसरों के रेजर का इस्तेमाल नहीं करें। अगर हेयर कटिंग या शेविंग के लिए सैलून में जाते हैं तो इसका विशेष ख्याल रखें कि वहां पूरी तरह से स्वच्छ माहौल हो।

4. ब्लड ट्रांसफ्यूजन के समय सावधानी बरतें
कई बीमारियों में, खास कर ऑपरेशन के दौरान ब्लड ट्रांसफ्यूजन की जरूरत पड़ती है। इस दौरान विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत होती है। डॉक्टरों से यह सुनिश्चित करने को कहें कि ब्लड संक्रमित न हो। कई बार संक्रमित ब्लड भी लापरवाही की वजह से बैंक में आ जाते हैं। 

5. सेक्स संबंधों में सुरक्षा अपनाएं
हेपटाइटिस बी का संक्रमण संक्रमित पार्टनर से सेक्स संबंध बनाने से भी होता है। इसलिए इस मामले में सावधानी बरतें। अपिरिचत लोगों के साथ कभी सेक्स संबंध नहीं बनाएं और इस मामले में पर्याप्त सुरक्षा बरतें। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios