Asianet News HindiAsianet News Hindi

Covid-19 effect: कोरोना के बाद लोगों पर वार कर रहा फॉग, जानें इससे होने वाली परेशानियां और बचाव

Winter Care for Post Covid: कोरोना से रिकवर हुए लोगों के लिए फॉग कई बीमारियों का कारण बन गया है। इससे लोगों में सांस से संबंधित कई बीमारियां देखी जा रही हैं।

Winter Care for Post Covid patient: Polluted air and fog is affecting coronavirus recovered patients dva
Author
New Delhi, First Published Nov 17, 2021, 12:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हेल्थ डेस्क : भले ही देशभर में कोरोना वायरस (coronavirus) के केस में कमी आई है, लेकिन जो लोग इस गंभीर संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, वह आज तक इनके लक्षणों से जूझ रहे हैं और सर्दी का मौसम आते ही इसका खतरा और बढ़ गया है। जी हां, कोरोनावायरस से संक्रमित हुए लोगों (Post Covid patient) के लिए ठंड के दिनों में फॉग एक चिंताजनक विषय बन गया है, जो कई बीमारियों का कारण है। वैसे तो ठंड में अधिकतर हवा और धुंध मिलकर फॉग बनाते हैं, लेकिन यह मुसीबत पोस्ट कोविड मरीजों के लिए और ज्यादा बढ़ गई है, क्योंकि इसके चलते उन्हें सांस से संबंधित परेशानियां हो रही हैं। ऐसे में आइए हम आपको बता दें कि किस तरह से आप इससे अपना बचाव कर सकते हैं...

पोस्ट कोविड के बाद फॉग से होने वाली परेशानियां
- कोरोना संक्रमण की चपेट में आए लोग भले ही ठीक हो, लेकिन उन्हें श्वसन संबंधी परेशानियां लगातार हो रही है। ऐसे में घने कोहरे में पार्टिकुलेट मैटर और दूसरे पोल्यूटेंट शामिल होते हैं, जिनसे फेफड़ों की कैपेसिटी कम हो जाती है और लोगों को घबराहट, खांसी और सांस लेने में तकलीफ होने लगती है।

- ठंड के दिनों में पोस्ट कोविड मरीजों को अस्थमा की परेशानी भी बढ़ने लगती है। कोरोना से ठीक हुए लोग अगर लंबे समय तक कोहरे के बीच रहते हैं तो उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो सकती है।

- इतना ही नहीं कोरोना के बाद भी कई लोगों को आंखों में ब्लैक फंगस तक होने लगा था। अब फॉग के चलते भी पॉल्यूटेड एयर से उनकी त्वचा और आंखों में खुजली और जलन होने लगी है, जिससे आंखें लाल और सूज जाती हैं।

- CPOD यानी कि क्रॉनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीज से पीड़ित लोग जो कोरोना की चपेट में आए थे, ठंड में उन्हें फॉग और एयर पॉल्यूशन के कारण लंग कैंसर और हार्ट डिसीज होने का खतरा ज्यादा होता है।

इन बातों का रखें ध्यान
- पोस्ट कोविड के बाद ठंड में फॉग होने वाली परेशानियों से बचने के लिए अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। इतना ही नहीं थोड़ी भी परेशानी होने पर डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

- ठंड के दिनों में वैसे भी इंसानों की इम्यूनिटी बहुत कमजोर हो जाती है। ऐसे में कोरोना की चपेट में आ चुके लोगों को ठंड में अपनी देखभाल करने की ज्यादा जरूरत है, क्योंकि इस समय मौसमी बीमारियों के चलते आप संक्रमण की चपेट में जल्दी आ सकते हैं।

- भले ही कोरोनावायरस अब थोड़ा कम हो गया है, लेकिन घर से बाहर निकलते समय N-95 या P-100 मास्क जरूर पहने। हो सके तो डबल मास्किंग करें।

- सुबह और शाम के वक्त जब बहुत ज्यादा हवाएं चलती हैं, उस समय घर से बाहर निकलने से बचें, क्योंकि इस समय ज्यादा फॉग होता है और आपको सांस संबंधी परेशानी बढ़ सकती है।

- अपनी डेली रूटीन में ब्रीदिंग एक्सरसाइज को शामिल करें। आप चाहे तो श्वसन के लिए कुछ योगासन व प्राणायाम भी कर सकते हैं।

- फॉग में बाहर निकलते समय अपने चेहरे को ढकने की कोशिश करें। हो सके तो मास्क पहने नहीं तो एक कपड़े से अपने चेहरे को जरूर ढककर रखें।

ये भी पढ़ें- Lip Care Tips:सर्दियों में होंठ फटने की समस्या से परेशान हैं तो ये घरेलू नुस्खें आपके आ सकते हैं काम

Healthy Skin: केसर के इस्तेमाल से आपको कभी नहीं होगी स्किन से जुड़ी ये समस्याएं, जानें फायदे
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios