स्पोर्ट्स डेस्क : आईपीएल (IPL) के 13वें सीजन का आगाज शनिवार (19 सितंबर) को यूएई के अबुधाबी में हुआ। चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) ने ये मुकाबला 5 विकेट से जीत लिया। मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की शुरुआत तो अच्छी थी, पर डीकॉक और रोहित के आउट होने के बाद सौरभ तिवारी (Saurabh Tiwari) ने मैच को संभालने की कोशिश की। उन्होंने 31 बॉल पर 42 रन बनाकर मुबंई के स्कोर को संभाला। बता दें कि सौरभ को 3 साल बाद आईपीएल खेलने का मौका मिला। उन्होंने इस मौके का फायदा भी उठाया। सौरभ तिवारी की तुलना भारतीय क्रिकेट के पूर्व और सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) से की जाती हैं। आखिर क्यों सौरभ को दूसरा धोनी कहा जाता है, आइए आपको बताते हैं।

धोनी से होती हैं सौरभ की तुलना
क्रिकेटर सौरभ तिवारी आईपीएल 2020 में मुंबई इंडियंस की ओर से खेल रहे हैं। सौरभ की तुलना कभी टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी से होती थी। इसका कारण दोनों का मिडल ऑर्डर का अटैकिंग बैट्समैन होना, बाउंड्री लगाने का स्टाइल और रनिंग बिटवीन द विकेट्स (विकेट के बीच दौड़ना) था। बता दें कि सौरभ को लेफ्ट हेंडर धोनी तक कहा जाता हैं। आईपीएल के तीसरे सीजन में सौरभ के लंबे बालों और धुंआधार हिटिंग के चलते उनकी धोनी से तुलना की जाने लगी।

पहले मैच में सौरभ की आतिशी पारी
मबंई इंडियंस के ओपनिंग बेट्समैन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और क्विटंव डीकॉक (Quinton de Kock) के आउट होने के बाद सूर्यकुमार यादव और सौरभ तिवारी ने पारी को संभाला। सौरभ ने शानदार परफॉमेंस देते हुए ताबड़तोड़ रन बनाए। उन्होंने 3 चौके और एक छक्के के साथ 31 गेंद पर 42 रनों की पारी खेली। इसी बीच रविंद्र जडेजा की बॉल पर वो आउट हो गए।  फाफ डुप्लेसिस ने बाउंड्री पर उनका शानदार कैच लिया। 

सौरभ तिवारी का आईपीएल करियर
आईपीएल 2008 में सौरभ तिवारी ने मुंबई इंडियंस के साथ शुरुआत की थी। आईपीएल 2010 में मुंबई को फाइनल तक पहुंचाने में भी उन्होंने अहम भूमिका निभाई और 16 मैचों में 419 रन बनाए। आईपीएल 2011 सीजन में उन्हें विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने खरीदा। अगले तीन सीजन वो इस टीम के लिए खेले, लेकिन कोई कमाल नहीं दिखा सकें। इसके बाद उन्हें 2014 में उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स और 2016 में उन्हें राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स ने खरीदा। इस साल मुंबई ने उन्हें 50 लाख रुपए में खरीदा है।