Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोर्ट ने इस दरिंदे को दी फांसी, 3 साल पहले B.Tech छात्रा से हैवानियत के बाद दी थी दर्दनाक मौत

रांची. झारखंड में CBI की स्पेशल कोर्ट ने 3 साल बाद बीटेक छात्रा के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में आरोपी राहुल राज को शनिवार को फांसी की सजा सुना दी है। दरिंदे ने पहले तो पीड़िता का रेप किया, फिर उसको  जिंदा जलाकर मार डाला था।

btech student murder case cbi court rahul raj to death sentence in ranchi KPR
Author
Ranchi, First Published Dec 21, 2019, 3:17 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रांची. झारखंड में CBI की स्पेशल कोर्ट ने 3 साल बाद बीटेक छात्रा के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में आरोपी राहुल राज को शनिवार को फांसी की सजा सुनाई। दरिंदे ने पहले पीड़िता से रेप किया, फिर हत्या करने के बाद उसके शव को जला दिया था।

बीटेक छात्रा थी मृतका
दरअसल, यह बहु‍चर्चित मामला तीन साल पुराना है। जहां बूटी बस्ती में लड़की को 15 दिसंबर 2016 की रात बीटेक छात्रा के साथ यह हैवानियत की गई थी। पीड़ित परजिन ने इसके बाद पुलस में जाकर मामला दर्ज कराया था। लेकिन इस हत्याकांड में पुलिस कोई खुलासा नहीं कर पाई थी। इसके बाद 28 मार्च 2018 को इस मामले में सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की थी। जहां आरोपी को 22 जून 2019 को रांची के सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया था।

कोर्ट ने 2 दिन में पूरी की बहस
इस मामले में जज एके मिश्र की अदालत ने आरोपी को शुक्रवार को इस मामले मे दोषी माना था। वहीं CBI के एडवोकेट  राकेश प्रसाद ने 25 अक्टूबर से 8 नवंबर के बीच 30 गवाहों के बयान दर्ज कराए थे। जहां दोनों पक्षों की बहस के बाद दिन 13-18 दिसंबर को पूरी कर दी गई।

दरिंदे पर दर्ज हैं कई मामले
बता दें कि आरोपी राहुल ऑटो चलाता था। वह 2016 में नालंदा से भागकर बूटी बस्ती पहुंचा था। वह मूल रुप से बिहार के नवादा जिले का रहने वाला है। उस पर पटना और लखनऊ में भी कई मामले दर्ज हैं। 

पहले किया रेप फिर मारकर जला दी लाश
आरोपी ने पीड़िता के घर के पास ही एक कमरा किराए से लिया था। जानाकारी के मुताबिक, जिस दिन यह घटना घटना घटी उस दौरान छात्रा घर में अकेली थी। वह रोज मृतका पर नजर रखता था। 15 दिसंबर की रात करीब 10 वह लड़की के पास जा पहुंचा। जहां उसने पीड़िता का बलात्कार के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद उसके शव को कमरे में ही जला दिया और मौके से भाग गया।

जिस दिन बेटी की हुई मौत, उसी दिन पिता छोड़कर आए थे रांची
जानकारी के मुताबिक, जिस दिन वह यह घटना घटी उसी दिन पीडिता के पिता उसको बरकाकाना से लेकर रांची आए थे। इसके बाद पिता वापस अपने घर चले गए। लेकिन इसी रात आरोपी राहुल ने उसके साथ हैवानियत की सारी हदे पर कर मौत के घाट उतार दिया। दूसरे दिन यानी 16 दिसंबर को जब मृतका के पिता ने फोन किया तो उसका मोबाइल बंद बताया। फिर इसके बाद पिता ने बच्ची के पड़ोसी कॉल करके उसको देखने के लिए कहा। जहां पड़ोसी ने कमरे का गेट खोला तो वह फर्श पर पड़ी थी और उसका चेहर और पेट बुरी तर जला हुआ था।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios