Asianet News Hindi

जवानी में ही बूढ़े दिखने लगे हैं यहां 26 गांव के लोग, जमीन से निकल रहा ऐसा 'जहर'

 झारखंड के धनबाद जिले के कुछ गांव ऐसे हैं जहां जवान बूढ़ों की तरह दिखने लगे हैं। उसका कारण है वहां के पानी में अत्यधिक फ्लोराइड व आर्सेनिक की मात्रा का मिलना।
 

dhanbad 26 village problem of Fluoride and arsenic Excessive amounts of water in jharkhand
Author
Dhanbad, First Published Sep 15, 2019, 5:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

धनबाद (झारखंड). अगर कोई इंसान का युवा अवस्था में बुजुर्ग जैसा दिखने लगे तो वह कैसा लगेगा। लेकिन देश में एक ऐसी जगह है जहां जवान बूढ़ों की तरह दिखने लगे हैं। झारखंड के धनबाद जिले के कुछ गांव ऐसे हैं जहां लोग कम उम्र में भी अधेड़ दिखते हैं। उसका कारण है वहां के पानी में अत्यधिक फ्लोराइड व आर्सेनिक की मात्रा का मिलना।

40 साल की उम्र खराब हो रही है रीढ़ हड्डी
दरअसल धनबाद जिले के 26 गांव ऐसे हैं जो जमीन से निकलने वाले इस जहर से प्रभावित हो रहे हैं। जिसकी वजह से कम उम्र के युवा भी बुजुर्ग दिखाई देने लगे हैं। पानी में फ्लोराइड व आर्सेनिक की ज्यादा मात्रा होने से लोगों की हड्डियां जल्दी कमजोर हो जाती हैं। इन लोगों की रीढ़ की हड्डियां 40 साल के बाद सीधी नहीं रहती और वो जल्दी खराब हो जाती है। 

इस गांव में हर घर में है सबसे ज्यादा बुजुर्ग
धनबाद जिले से करीब 35 किलोमीटर दूर एक गांव है जिसका नाम है घड़बड़, जहां 30 साल से ऊपर के लोग अधेड़ दिखाई देने लगे हैं। यहां अधिकतर लोग हड्डी की बीमारी से ग्रसित हैं। उनते दांत पीले दिखाई देते हैं। कमर झुक चुकी है और हाथ-पैर टेढ़े दिखने लगे हैं। शायद ही इस गांव में ऐसा कोई घर हो जहां यह परेशानी देखने को न मिले।

कोई नहीं करता यहां अपनी बेटी की शादी
इन गांवों में आलम यह है कि लोग यहां पर अपनी बेटियों की शादी नहीं करते हैं। गांव को लोग कहते हैं, लोग शादी के लिए आते तो हैं पर जैसे ही उनको इस बारे में पता चलता है तो वह रिश्ता करने को तैयार नहीं होते हैं और आखिर में मना कर देते हैं। इन लोगों के पास सारी सुविधाएं हैं घर में टीवी, गाड़ी, फ्रिज है। लेकिन पाने में निकलने वाला फ्लोराइड सब काम बेकार कर रहा है।

डॉक्टर बोले-यह पानी पीने के लायक नहीं है
डॉक्टरों का कहना है कि फ्लोराइड की वजह से लोगों की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं कई तरह के रोग पकड़ते हैं और वह बुजुर्ग दिखने लगते हैं। इसका एक उपाय यह है कि लोगों को पीने का पानी कहीं दूसरी जगह से मुहैया कराया जाए। क्योंकि इस पानी को आप कितना भी गर्म कर लो, लोकिन इसमे से फ्लोराइड दूर नहीं होता है। वहीं पेयजल विभाग के अफसरों का कहना है कि यहां का पानी पीने योग्य नहीं हैं। जल्द ही यहां 55 करोड़ की लागत दूसरी जगह से पानी पहुंचाने काी योजाना शुरु हो जाएगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios