Asianet News HindiAsianet News Hindi

जमशेदपुर में बैंक डकैती की तरह धनबाद में करना चाहते थे वारदात, पुलिस की अलर्ट्नेस ने सारे मंसूबे किए नाकाम

झारखंड के धनबाद में मंगलवार 6 सितंबर की सुबह हुए मुथूट फिनकॉर्प में डैकेती की कोशिश पुलिस की तत्परता के कारण फैल हो गई। साथ ही पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ने में सफलता पाई है। इनसे पूछताछ में कई और वारदाते के सामने आ सकती है।

dhanbad crime news jharkhand police stopped robbery with there alertness two captured many other crime maybe revealed asc
Author
First Published Sep 6, 2022, 6:07 PM IST

धनबाद (झारखंड): धनबाद के बैंक मोड़ के पास मुथूट फिनकॉर्प में डकैती को योजना जमशेदपुर में 18 अगस्त को बैंक ऑफ इंडिया में हुई डकैती की तरह थी। जमशेदपुर में तो अपराधियों का प्लान सक्सेस हो गया था लेकिन धनबाद में अपराधी सफल नहीं हो पाए। पुलिस की तत्परता से अपराधियों की बड़ी डकैती को योजना विफल हो गई। सुबह फाइनेंस कंपनी का कार्यालय खुलते ही अपराधी एक कॉपरेट कर्मचारी के रुप में बैंक में घुसे। इसी तरह जमशेदपुर में भी अपराधी खुद को सीबीआई का अफसर बताते हुए बैंक में घूसे थे और बैंक कर्मी और ग्राहकों को गन प्वांइंट पर लेते हुए डकैती की घटना को अंजाम दिया था। हथियार लेकर ही अपराधी आज फाइनेंस कंपनी के कार्यालय में घुसे थे। कार्यालय में घूसते ही अपराधियों ने कार्यालय के कर्मचारियों को गनप्वाइंट पर लिया और डकैती करनी शुरु कर दी। लेकिन सूचना मिलने के तुरंत बाद ही बैंक मोड़ थाना प्रभारी प्रमोद कुमार सिंह दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे। कार्यालय को चारों ओर से घेर लिया गया। भागने के लिए अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की तो एक अपराधी ढेर हो गया। 

ज्वैलर की दुकान में हुई डकैती भी हो सकता है हाथ
तीन पहले ही 3 सितंबर को धनबाद के धनसार थाना क्षेत्र में स्थित गुंजन ज्वेलर्स से हथियारबंद अपराधियों ने करीब एक करोड़ रुपए सोना कि डकैती की थी। पुलिस को शक है कि फाइनेंस कंपनी में डाका डालने आए अपराधियों ने ही उस वारदात को अंजाम दिया होगा। ज्वेलर्स दुकान में भी अपराधी वीआईपी बन कर डकैती करने घुसे थे। दुकानदार को गनप्वाइंट पर लेकर डकैती की घटना को अंजाम दिया था। फाइनेंस कंपनी कार्यालय में डकैती करने आए अपराधियों ने एक को पुलिस ने मार गिराया है। जबकि दो पकड़े गए है। दो अपराधियों से पुलिस धनबाद के सरायढेला थाना में पूछताछ की जा रही है। इन दोनों अपराधियों के पकड़ाने से पिछले कुछ दिनों से राज्य में हुए कई डकैती, लूट और चोरी जैसी घटनाओं का खुलासा हो सकता है। पुलिस को शक है कि इन्हीं अपराधियों ने जमशेदपुर में भी बैंक में डकैती की घटना को अंजाम दिया था। 

पूरी प्लानिंग के साथ आए थे अपराधी 
फाइनेंस कंपनी कार्यालय में डकैती करने दो बाइक पांच से छह अपराधी दो बाइक पर आए थे। सुबह 10 बजे कार्यालय खुलते ही सभी अपराधी कार्यालय में घूसे। मुथूट फिनकॉर्प कंपनी सोना लेकर बतौर ऋण रुपये देती है। अपराधियों को पता था कि फाइनेंस कंपनी में कैश और गहनें दोनों हो सकते हैं। बैंक खुलने से करीब आधा घंटा पहले सभी अपराधी बैंक के पास मंडराने लगे। कंपनी खुलते ही अपराधी अंदर घूसे और डकैती की घटना को अंजाम देने का प्रयास किया। लेकिन उनका यह प्रयास विफल हो गया। दो से तीन अपराधियों के भागने की बात बताई जा रही है। 

चोरी की बाइक का किया उपयोग
घटना स्थल से पुलिस ने अपराधियों की दो बाइक बरामद की है। दोनों बाइक चोरी की बताई जा रही है। एक बाइक का रांची तो दूसरी बाइक जमशेदपुर में रजिटर्ड है। पुलिस यह पता लगा रही है कि बरामद बाइक किसकी है। जमशेदपुर में भी बैंक डकैती में अपराधियों ने बाइक का इस्तेमाल किया था। फिर बाइक को सड़क किनारे फेंक एक कार पर सवार होकर सभी अपराधी भाग निकले थे। जांच में बाइक चोरी की निकली थी।

यह भी पढ़े- झारखंड के हजारीबाग का अनोखा मंदिर, फूलों की जगह पत्थरों से होती है पूजा, प्रसाद के रूप में मिलता है पत्थर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios