Asianet News HindiAsianet News Hindi

अंकिता सिंह की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासेः 60 रु. के पेट्रोल ने ले ली लड़की की जान

झारखंड के दुमका की  बेटी अंकिता सिंह की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गई है। रिपोर्ट में यह स्पष्ट हो गया है कि अंकिता के जलने से शरीर के अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। क्योंकी उस पर अत्याधिक ज्वलनशील पदार्थ से हमला किया गया था।
 

dumka ankita murder case fast track court amd postmortem report came cause of death bramk kpr
Author
First Published Sep 1, 2022, 12:17 PM IST

दुमका (झारखंड), दुमका के बेटी अंकिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट दुमका पुलिस को भेज दी गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट की एक कॉपी दुमका के डीसी को भी दी गई है। अंकिता के शव का पोस्टमार्टम रांची के रिम्स के फोरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी (एफएमटी) विभाग में हुआ था। रिपोर्ट में अंकित है कि अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ से अंकिता को जलाया गया था। अंकिता के शरीर की परत पर मवाद भर गए थे। इस कारण अंकिता के शरीर के अंगों ने धीरे-धीरे काम करना बंद कर दिया था। जिस कारण उसकी जान चली गई। पोस्टमार्टम के बाद अंकिता के बिसरा सुरक्षित रख लिया गया है। बिसरा की फॉरेंसिक जांच होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसका जिक्र किया गया है कि तीन महीने के भीतर पुलिस उक्त बिसरा को राज्य विधि विज्ञान प्रयोगशाला में नहीं ले जएगी तो रिम्स प्रबंधन उसे निष्पादित कर देगा।

केस में पोक्सो एक्ट की धाराएं जोड़ी गई
अंकिता की हत्या मामले में दुमका पुलिस ने पोक्सो एक्ट की धाराएं केस में जोड़ी है। इससे पहले पुलिस ने अंकिता की उम्र 19 साल बताई थी। अब इसमें सुधार लाते हुए अंकिता की उम्र 15 साल किया गया है। इसके बाद पोक्सो एक्ट की धाराएं अंकिता हत्याकांड के केस में लगाई गई। जानकारी हो कि अंकिता हत्याकांड में पुलिस ने अंकिता के जलाने वाले शाहरुख और शहारुख के साथी नईम को गिरफ्तार कर चुकी है। नईम का आतंकी कनेक्शन भी सामने आया है। 23 अगस्त को अंकिता को जलाया गया था। पांच दिनों बाद उसकी मौत हो गई थी।

अंकिता हत्याकांड में नईम की भूमिका अहम
पुलिस के अनुसार अंकिता हत्याकांड में नईम की भूमिका महत्वपूर्ण है। उसी ने शाहरुख को अंकिता को जलाने के लिए उकसाया था। पुलिस जांच में यह खुलासा हुआ है कि नईम में 60 रुपए का पेट्रोल खरीदकर शाहरुख को दिया था। जिसके बाद शाहरुख में अंकिता को आग के हवाले कर दिया। नईम पूर्व में भी पोक्सो एक्ट के मामले में जुल जा चुका है। उसपर एक शादीशुदा महिला को भी अगवा करने का आरोप है। 

दोनों आरोपी 72 घंटे के लिए रिमांड पर
अंकिता हत्याकांड का मामला मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दुमका की कोर्ट से प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायालय प्रकाश चंद्र की अदालत में ट्रांसफर कर दिया गया है। त्वरित सुनवाई के लिए अंकिता हत्याकांड केस को स्पेशल कोर्ट में ट्रांसफर किया गया। अंकिता हत्याकांड के दोनों आरोपी शाहरुख और नईम को पुलिस ने पूछताछ के लिए 72 घंटे कि रिमांड पर लिया है। पुलिस दोनों से ये पूछेगी की इस हत्याकांड में और कितने लोग शामिल थे। साथ ही नईम कि आतंकी कनेक्शन को लेकर भी उससे पूछताछ की जाएगी।


यह भी पढे़ं-झारखंड: 'बेटी नहीं बेटा थी वो मेरा'... जब भाजपा नेताओं के आगे बिलख पड़े अंकिता के पिता, देखें Video

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios