Asianet News HindiAsianet News Hindi

झारखंड: 'बेटी नहीं बेटा थी वो मेरा'... जब भाजपा नेताओं के आगे बिलख पड़े अंकिता के पिता, देखें Video

अंकिता की मौत के बाद उनके परिजनों से मिलने के लिए नेतओं और मंत्रियों का तांता लगा हुआ है। इसी बीच दिल्ली भाजपा के नेता कपिल मिश्रा, सांसद मनोज तिवारी और निशिकांत दुबे झारखंड पहुंचे। परिजनों से मुलाकात की और उन्हें ढांढ़स बंधाया।

jharkhand ankita murder case BJP leaders Kapil Mishra Manoj Tiwari and Nishikant Dubey met ankita father see video KPZ
Author
First Published Aug 31, 2022, 5:28 PM IST

झारखंड | एकतरफा प्रेम में सनकी द्वारा 12वीं कक्षा की छात्रा अंकिता सिंह को जलाकर मार डाला गया। इसके बाद से झारखंड सहित पूरे देश के लोगों में इस घटना को लेकर रोष है। सभी हत्यारे के लिए फांसी की मांग कर रहे है। इसे लेकर राज्य सहित देशभर में विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। अंकिता की मौत के बाद उनके परिजनों से मिलने के लिए नेतओं और मंत्रियों का तांता लगा हुआ है। इसी बीच दिल्ली भाजपा के नेता कपिल मिश्रा, सांसद मनोज तिवारी और निशिकांत दुबे अंकिता के घर पहुंचे। परिजनों से मुलाकात की और उन्हें ढांढ़स बंधया। भाजपा नेताओं ने अंकिता के पिता संजीव सिंह को हर संभव मदद देने का आश्वासन किया। इतना ही नहीं भाजपा नेता कपिल मिश्रा की पहल पर क्राउड फंडिग के जरिए इक्कठा किए 25 लाख से ऊपर की सहायता राशि भी अंकिता के परिजनों को दी। 
प्रदेश के कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल
अंकिता के घर पहुंचे भाजपा नेताओं ने इस मामले में झारख्ंड की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए है। उन्होंने कहा कि पूरे मामले में पुलिस भी शक के दायरे में हैं। बता दें कि सांसद निशिकांत दुबे और दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी बुधवार को दुमका में अंकिता के घर पहुंचे। यहां भाजपा नेताओं ने परिजनों से मुलाकात की और पूरी घटना की जानकारी ली। इससे पहले 30 अगस्त को अंकिता मर्डर केस में हत्या के प्रयास की धारा को हत्या में तरमीम कर दिया गया था। पॉक्सो एक्ट भी जोड़ दिया गया था। वहीं झारखंड हाई कोर्ट ने इस मामले में स्वतः संज्ञान भी लिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस मामले में ट्वीट कर दोषी के लिए कड़ी सजा की मांग की है। 
यह है मामला
दुमका में व्यवसायी संजीव सिंह की बेटी अंकिता को पड़ोस में ही रहने वाला शाहरूख काफी समय से परेशान कर रहा था। अंकिता के घर वालों ने बताया कि उनकी बेटी 12 वीं कक्षा की छात्रा है। शाहरूख ने कहीं से अंकिता का नंबर हासिल कर लिया था। तभी से वह एकतरफा प्यार में अंकिता पर दोस्ती करने का दबाव डाल रहा था। आरोप है कि अंकिता जब राजी नहीं हुई और उसे झिड़का तो शाहरुख ने आपा खो दिया और धमकी दी कि अगर मेरा कहा नहीं मानोगी तो मैं तुम्हें मार डालूंगा।  मंगलवार (23 अगस्त) सुबह अंकिता घर में सोई हुई थी। इसी बीच शाहरूख उसके घर पहुंचा और खिड़की से उस पर पेट्रोल फेंक दिया और जब तक वह कुछ समझ पाती आरोपी ने माचिस जला कर उसको आग लगा दी। बाद में रिम्स में उसकी मौत हो गई।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios