Asianet News HindiAsianet News Hindi

दूसरे को फंसाने के चक्कर में खुद फंस गए साइबर सेल के साहब, घूस लेने का वीडियो वायरल

झारखंड के दुमका जिले से एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसने पूरे पुलिस विभाग में हड़कंप मचा दिया है। दरअसल एक साइबर सेल के पुलिस ने पीड़त को झूठे आरोप में फसाया फिर उससे घूस मांगी। इसके बाद जिला पुलिस ने आरोपी को बर्खास्त कर जांच शुरू कर दी है।

dumka crime news cyber cell police constable taking bribe video goes viral asc
Author
First Published Sep 24, 2022, 12:17 PM IST

दुमका (झारखंड): झारखंड में साइबर पुलिस का घूस लेने का वीडियो वायरल हु्साा है। साइभर सेल के सहायक पुलिस का घूस लेने का एक वीडियो वायरल हुआ है। सहायक पुलिस आनंद कुमार ने दुमका जिला के शिकारीपाड़ा के एक युवक को साइबर अपराधी बनाकर सेल में डाल दिया। फिर उसे छोड़ने के एवज में 75 हजार रुपए मांगे। पैसा लेन-लेन का यह वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस विभाग में खलबली मच गई। जिला पुलिस ने सहायक पुलिस आनंद कुमार को साइबर सेल से हटाकर कार्रवाई शुरु कर दी है। जिससे सहायक पुलिस ने 75 हजार रुपए लिए वह शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के द्वारपहाड़ी गांव निवासी अली हुसैन है। वह बीआरओ के तहत हिमाचल प्रदेश में काम करता है। 

साइबर अपराधी बोल ले गए थाने
पीड़ित युवक के अनुसार 15 सितंबर को दांत दर्द होने पर डॉक्टर के पास गया था। फिर कुरुवा के एक होटल में वह खाना खाने चला गया। इसी दौरान पुलिस कि जिप पर सादे लिबास में तीन लोग आए और उसे साइबर अपराधी बताया। तीनों द्वारा कहा गया कि तुम्हारी लंबे दिनों से पुलिस को तलाश थी। फिर उसने जवानों को सारी बात बताई और डॉक्टर की पर्ची भी उनको दिखाई। फिर भी तीनों उसे अपने साथ थाना ले  गए और जेल में डाल दिया। एक सिपाही ने कहा कि अपराधी बनने से बचना चाहते हो, तो डेढ़ लाख रुपया देना होगा। वरना झूठे केस में फंसा देंगे। शाम तक उसे हाजत में बंद रखा। किसी तरह से 75 हजार देने की बात पर मामला रफा तफा करने को वो तैयार हुए। घर के लोगों से बात की और किसी तरह से ससुर ने आकर सारे रुपये की व्यवस्था की। रुपये मिलने के बाद युवक को देर शाम को छोड़ा गया।

रुपए लेनदेन का वीडियो बनाया
युवक ने सहायक पुलिस आनंद कुमार के साथ रुपए लेन-देन का वीडियो बना लिया। जिसे बाद में वायरल कर दिया गया। इस मामले में साइबर डीएसपी शिवेंद्र ने कहा कि पैसे मांगने का वीडियो वायरल होने के बाद सहायक पुलिस आनंद को हटा दिया गया है। एसपी के आदेश पर यह कार्रवाई की गई है। जांच में पता लगाया जा रहा है कि सहायक पुलिस आनंद के साथ दो लोग और कौन थे। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़े- शॉकिंग मामलाः अंधविश्वास ने नहीं होने दिया व्यक्ति का अंतिम संस्कार, लोग बोले- वहां भूत है...

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios