Asianet News HindiAsianet News Hindi

शॉकिंग मामलाः अंधविश्वास ने नहीं होने दिया व्यक्ति का अंतिम संस्कार, लोग बोले- वहां भूत है...

झारखंड में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहां अंधविश्वास के चलते गांव के लोगों ने वहां के तालाब में डूबे व्यक्ति का वहां अंतिम संस्कार नहीं होने दिया। लोगों को मानना था वह जिस तालाब में डूबा वहां भूत था। मजबूरन पीड़ित के परिजनों को श्मशान घाट ले जाकर फ्यूनरल करना पड़ा।

west singhbhum news villagers did not allow funeral under superstition of haunted place asc
Author
First Published Sep 24, 2022, 11:34 AM IST

पश्चिमी सिंहभूम (झारखंड): झारखंड मे अंधविश्वास का एक अनोखा मामला देखने के मिला है। तालाब में डूब कर मरे व्यक्ति का अंतिम संस्कार गांव में ग्रामीणों ने नहीं होने दिया। ऐसा इसलिए क्योंकि गांव वालों का मानना है कि जिस तालाब में डूबकर व्यक्ति की मौत हुई है उस तालाब में भूत है। ग्रामीणों की हट के कारण मृतक के परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार गांव में ना कर चक्रधरपुर के शमशान घाट में करना पड़ा। यह अनोखा मामला झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिला के कराईकेला थाना क्षेत्र के रायबेरा गांव की है। अंधविश्वास के कारण ग्रामीणों ने डांगोसाई स्थित तालाब में मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार करने नहीं दिया।मजबूरन मृतक के परिजनों को चक्रधरपुर शमशान घाट ले जाकर मृतक का अंतिम संस्कार करने को बाध्य होना पड़ा।

क्या है मामला
कराईकेला थाना क्षेत्र रायबेरा गांव स्थित डांगोसाई तालाब में डूबने से  बोदरो बोदरा (49)  की मौत हो गई थी। ग्रामीणों ने शव को मुखिया कुश पूर्ति की मौजूदगी में तालाब से निकाल मृतक के घर पहुंचा दिया। लेकिन रात हो जाने के कारण शव का पोस्टमार्टम नहीं हो पाया। दूसरे दिन शुक्रवार को मृतक बोदरो बोदरा के शव को गांव में अंतिम संस्कार नहीं करने दिया गया। ग्रामीणों के मुताबिक,तालाब में भूत होने के कारण ही उसकी मौत हुई है। इसलिए मृतक को इस गांव में अंतिम संस्कार करने से रोका गया है। मुखिया द्वारा गांव के लोगों को समझाने पर भी बात नहीं बनी। मजबूरी में परिजन उसका शव लेकर चक्रधरपुर गांव पहुंचे जहां उसका अंतिम संस्कार किया गया। 

अंधविश्वास में जी रहे ग्रामीण 
जानकारी बंदगांव प्रखंड में आज भी ग्रामीण अंधविश्वास में जी रहे हैं।  बीमार पड़ने पर लोग आज भी डॉक्टर के पास ना जाकर ओझा-गुनी के पास जाते हैं। यहां पर डायन बिसाही की बात सभी लोग मानते भी हैं।ग्रामीण डायन बिसाही के कारण बोदरा की मौत की बात कह रहे हैं। यही कारण है कि गांव में उसके शव का अंतिम संस्कार होने नहीं दिया गया। बोदरो बोदरा तालाब में नहाने के दौरान डूब गया था। देर शाम करीब साढ़े छह बजे तालाब में तैरते हुए एक व्यक्ति का शव ग्रामीणों ने देखा। जिसके बाद बोदरा के परिजनों को सूचना दिया गया। जहां परिजन पहुंचकर शव की पहचान की थी।

यह भी पढ़े- 2 छात्र गुट में जबरदस्त फाइट का VIDEO वायरल, जमकर चले लात-घूंसे और लाठी-डंडे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios