Asianet News HindiAsianet News Hindi

जब सरकारी हॉस्पिटल पहुंचीं ये गर्भवती IAS, महिलाएं ताकने लगीं मुंह, 'सिस्टम' सुधारने का तरीका बना मिसाल

यह हैं झारखंड के आदिवासी जिले गोड्डा की डिप्टी कलेक्टर(IAS) किरण कुमारी पासी। इन्होंने यहां के सरकारी अस्पताल में अपने बच्चे को जन्म देकर एक मिसाल पेश की है। लेडी अफसर ने ऑपरेशन के जरिये बच्चे को जन्म दिया।
 

IAS Kiran Kumar Passi gave birth of a child in a government hospital in Jharkhand, became an example collector kpa
Author
Ranchi, First Published Mar 2, 2020, 12:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रांची, झारखंड. यहां के आदिवासी बाहुल्य गोड्डा जिले की डिप्टी कलेक्टर(IAS) किरण कुमारी पासी ने सरकारी स्कूल में अपने बच्चे को जन्म देकर एक मिसाल पेश की है। लेडी अधिकारी ने ऑपरेशन के जरिये अपने बच्चे को जन्म दिया। उनकी यह पहल 'सिस्टम' को सुधार कर और बेहतर करने की दिशा में एक मिसाल मानी जा रही है। सिविल सर्जन एसपी मिश्रा ने डीसी के इस फैसले को एक उदाहरण बताया है। उन्होंने कहा कि लोग मामूली-सी भी बीमारी होने पर प्राइवेट डॉक्टर या अस्पताल जाते हैं, ऐसे में एक अधिकारी ने प्रसव के लिए सरकारी अस्पताल को चुनकर अच्छी पहल की है।

IAS Kiran Kumar Passi gave birth of a child in a government hospital in Jharkhand, became an example collector kpa

दूसरी बार बनीं मां..
किरण कुमारी पासी दूसरी बार मां बनी हैं। उनके पहले बच्चे का जन्म भी ऑपरेशन के जरिये हुआ था। इसे ध्यान में रखते हुए डॉक्टर पूरी सतर्कता बरत रहे थे। वे दो दिन डॉक्टरों की निगरानी में रहेंगी। प्रसव के दौरान उनके पति पुष्पेंद्र सरोज भी पूरे समय हॉस्पिटल में मौजूद रहे। वे गोड्डा के ही पुनसिया स्थित कृषि महाविद्यालय में डीन हैं। रविवार सुबह 6 बजे प्रसव पीड़ा होने पर किरण कुमारी को सदर अस्पताल लाया गया था। करीब ढाई घंटे बाद उन्होंने बच्चे को जन्म दिया। उल्लेखनीय है किरण कुमारी स्वास्थ्य और शिक्षा को बेहतर बनाने की दिशा में लगातार प्रयासरत हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios