Asianet News HindiAsianet News Hindi

70 ATM कार्ड वाले 'भाई', पॉकेटमार से 20-30 रु. में ATM खरीदकर हमारा-आपका अकाउंट खाली कर देते थे ये लोग

झारखंड के जमशेदपुर में पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है। ये आरोपी मासूम लोगों के कार्ड बदलकर उनसे ठगी करते थे। उनके पास से इतने ATM कार्ड मिलें की एक बार को तो पुलिस भी हैरान रह गई।  

jamshedpur crime news police arrested two cyber fraud in deoghar seized seventy atm cards asc
Author
Jamshedpur, First Published Aug 16, 2022, 6:12 PM IST

जमशेदपुर (झारखंड). जमशेदपुर पुलिस ने दो साईबर फ्रॉड करने वाले आरोपियों  को पकड़ने में सफलता पाई है। दोनों को देवघर से गिरफ्तार किया गया। अपराधी लोगों का धोखे से एटीएम कार्ड बदल धोखाधड़ी करने में माहिर हैं। पुलिस को इनके पास से विभिन्न बैंको के 70 एटीएम कार्ड मिले हैं। इनके पास मिले कार्ड को देखकर पुलिस भी हैरान रह गई। ठगी के पैसों से अपराधियों ने एक कार भी खरीदी थी। जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। दोनों आरोपी बिहार के गया जिले के रहने वाले हैं। सुधाकर कुमार और पवन कुमार पिछले कई दिनों से जमशेदपुर पुलिस के लिए सिर दर्द बने हुए थे। लोगों का धोखे से एटीएम कार्ड बदल धोखाधड़ी करने की शिकायत लगातार पुलिस को मिल रही थी। फिर पुलिस ने जाल बिछाते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से नगद रुपए भी मिले हैं।

jamshedpur crime news police arrested two cyber fraud in deoghar seized seventy atm cards asc

मंगलवार सुबह पकड़ में आए आरोपी

मंगलवार को जिले के एसएसपी प्रभात कुमार ने मामले का खुलासा किया। एसएसपी ने कहा कि जमशेदपुर के अलावा जमशेदपुर से सटे गम्हरिया में धोखाधड़ी कर चुके हैं। हाल ही के दिनों में जमशेदपुर में तीन लोगों से अपराधियों ने मदद करने के नाम पर धोखे से एटीएम कार्ड बदला और खाते से पैसों की निकासी कर ली। 27 जुलाई को एक ही दिन आजादनगर, बिष्टुपुर और जुगसलाई में लोगों को ठगी का शिकार बनाया था। केस दर्ज करते हुए पुलिस ने अनुशंधान शुरु किया और दोनों बदमाशों को गिरफ्तार किया।

अगल-अलग जगह फैला है गैंग, वारदात के बाद बदल देते है शहर
गिरफ्तार दोनों साईबर अपराधियों के गैंग के सदस्य राज्य के अलग-अलग हिस्सों में फैले हैं। किसी भी शहर में दो या तीन घटना को अंजाम देने के बाद गैंग के सदस्य शहर छोड़ देते हैं। गिरफ्तार दोनों फॉड भी जमशेदपुर में तीन घटनाओं को अंजाम देने के बाद दे‌वघर चले गए थे। वहां भी ये लोगों से धोखाधड़ी ही करने गए थे। लेकिन इससे पहले दोनों पुलिस के हस्थे चढ़ गए। दोनों ने पुलिस को बताया है कि गैंग के सदस्य जगह-जगह फैले हैं। जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। सभी फॉड बिहार के गया जिले के रहने वाले बताए जा रहे हैं। एसएसपी ने बताया कि फॉड अय्यशी के लिए इन घटनाओं को अंजाम देते थे। धोखाधड़ी के पैसे ही इन्होंने हाल ही में एक नई कार खरीदी थी। जमशेदपुर में करीब 3 लाख की धोखाधड़ी ये लोग कर चुके थे। 

चोर-उच्चकों से खरीदते हैं एटीएम कार्ड
जानकारी के अनुसार ये साईबर आरोपी  फ्रॉड करने के लिए चोर-उच्चकों से 20 से 30 रुपए में एटीएम कार्ड खरीददते हैं। ये लोग  ट्रेन या बसों में पॉकेट मारने वाले चोरों से एटीएम कार्ड खरीददते हैं।  इन एटीएम कार्ड को बदल लोगों को चूना लगाते थे। किसी भी शहर में ये फॉड एक सप्ताह तक होटलों में रहते हैं। भोले-भले लोगों का टारगेट करते हैं। एटीएम में मदद के बहाने लोगों से एटीएम कार्ड बदलने में ये माहिर है। मदद के बहाने ही लोगों से एटीएम का पिन कोड भी ये पूछ लेते हैं। फिर कार्ड बदल कर या तो कार्ड से ऑन लाइन शॉपिंग करते हैं या किसी दूसरे एटीएम से पैसों की निकासी करते हैं।  

यह भी पढ़े- झारखंड के पूर्व JPSC अध्यक्ष अमिताभ चौधरी का निधन, राज्य में शोक की लहर, धोनी को इंडिया टीम में लाने का श्रेय

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios