Asianet News Hindi

जयमाला हुई..फेरे भी लिए..मांग भरते वक्त दुल्हन ने शादी से किया इंकार..मंडप में ही धरने पर बैठा दूल्हा

शादी के वक्त यह अजीबोगरीब घटना रांची के धुर्वा थाना क्षेत्र के मौसीबाड़ी इलाके से सामने आई है। जहां दुल्हन ने जयमाला के बाद शादी करने से इंकार कर दिया। लेकिन बाराती और दूल्हा भी जिद पर अड़ गए और घर के बाहर धरना देने लगे। 

jharkhand news ranchi news bride refused to marry suddenly groom sitting strike on wedding house  kpr
Author
Ranchi, First Published Jun 30, 2021, 7:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रांची (झारखंड). अक्सर खबरें सामने आती रहती हैं कि दुल्हन ने एन वक्त पर शादी करने इंकार कर दिया और बारात खाली वापस लौट गई। लेकिन झारखंड से जो मामला सामने आया वह बेहद हैरान करने वाला है। क्योंकि यहां दुल्हन की मांग में दू्ल्हा सिंदूर भरने ही वाला था कि दुल्हन मंडप से उठ गई और कहने लगी कि मैं इससे शादी नहीं करूंगी। हैरानी की बात यह है कि दूल्हा और सारे बाराती लड़की के घर के सामने धरने पर बैठ गए और कहने लगे कि वह यहां से नहीं उठेंगे।

दुल्हन के घर  के बाहर धरने पर बैठा दूल्हा और बाराती
दरअसल, शादी के वक्त यह अजीबोगरीब घटना रांची के धुर्वा थाना क्षेत्र के मौसीबाड़ी इलाके से सामने आई है। जहां दुल्हन ने जयमाला के बाद शादी करने से इंकार कर दिया। लेकिन बाराती और दूल्हा भी जिद पर अड़ गए और घर के बाहर धरना देने लगे। वह कहने लगे कि या तो यह शादी हो या फिर शादी में हुए खर्च हमारे पैसे वापस कर दो। जब यह मांगे पूरी नहीं होंगी वह धरना देते रहेंगे।

दू्ल्हे ने मांग भरनी चाही तो दुल्हन मंडप से उठ गई
बता दें कि मांडर के रहने वाले विनोद लोहरा शादी धुर्वा  की रहने वाली चंदा लोहरा के साथ तय हुई थी। 29 जून को दूल्हा विनोद बारात लेकर आया था। बारात पहुंची और शादी की सारे रस्में होने लगीं। जयमाला तक हो गई, बस फेरे और मांग में सिंदूर भरना ही बाकी था। जैसे ही दू्ल्हे ने मांग भरनी चाही तो दुल्हन मंडप से उठ गई और कहने लगी की वह यह शादी नहीं करेगी। यह सुनते सब हैरान थे। जब उससे इसके पीछे की वजह पूछी तो कहने लगी कि उसे यह लड़का पसंद नहीं है। लड़की के माता-पिता ने उसे बहुत मनाया, लेकिन वह फिर भी अपनी जिद पर अड़ी रही।

शादी टूटने के बाद दल्हे ने बयां किया अपना दर्द
वहीं इस मामले में दूल्हे विनोद ने बताया कि यह शादी हम दोनों की मर्जी से तय हुई थी। अगर चंदा को मुझसे शादी नहीं करनी थी तो वह पहले ही बता देती। मेरे माता-पिता बड़ी धूमधाम से यह शादी कर रहे थे। जिसमें करीब 3 लाख रुपए खर्च हो गए। जो कि अब लड़की पक्ष को देना चाहिए। क्योंकि इसमें गलती हमारी नहीं लड़की वालों की है। इस शादी टूटने से हमारी बदनामी हुई है वह अलग है। उसने हमारे साथ धोखा किया है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios