Asianet News HindiAsianet News Hindi

झारखंड सरकार से नाराज हुईं साक्षी धोनी, पूछे इतने तीखे सवाल कि जवाब मुश्किल

साक्षी धोनी के ट्वीट के बाद उस पर कई प्रतिक्रियाएं आईं। कई यूजर्स ने कमेंट करते हुए लिखा कि यह समस्या पूरे राज्य की है, हेमंत सोरेन जी ध्यान दिया जाए। आखिर इस समस्या का समाधान तो निकाला ही जाना चाहिए। 

Ranchi Cricketer Mahendra Singh Dhoni wife Sakshi  Dhoni flags power crisis stb
Author
Ranchi, First Published Apr 26, 2022, 9:28 AM IST

रांची : देश के कई राज्य इन दिनों बिजली के संकट से जूझ रहे हैं। इसमें झारखंड (Jharkhand) भी शामिल हैं। यहां आम लोगों के साथ अब सेलिब्रिटी की भी नाराजगी सरकार पर दिखने लगी है। एक तरफ चुभती गर्मी और दूसरी तरह बिजली संकट से  लोगों को परेशान देख भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की पत्नी साक्षी धोनी (Sakshi Dhoni) ने ट्वीट कर सरकार से तीखे सवाल किए हैं। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि बस ये जानना चाहते हैं कि झारखंड में इतने सालों से आखिर इतनी बिजली संकट क्यों है?

आखिर इतनी संकट क्यों
साक्षी सिंह ने 25 अप्रैल की रात 9 बजे एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने लिखा-'झारखंड के एक करदाता के रूप में बस यह जानना चाहती हूं कि झारखंड में इतने सालों से बिजली संकट क्यों है? हम जिम्मेदारी के साथ यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि हम ऊर्जा की बचत करें।' उनके इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर कमेंट्स की बाढ़ सी आ गई।

 

पहले भी ऐसे मुद्दे उठा चुकी हैं साक्षी
साक्षी धोनी पहले भी इस तरह के मुद्दे को सोशल मीडिया पर उठा चुकी हैं। साल 2019 में भी बिजली संकट को लेकर उन्होंने नाराजगी जाहिर की थी। तब अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा था- 'रांची के लोगों को आए दिन बिजली कटौती का सामना करना पड़ता है। हर दिन चार से सात घंटों के लिए बिजली कटौती की जा रही है। 19 सितंबर 2019 को पांच घंटे से लाइट नहीं है। आज बिजली कटौती का कारण समझ नहीं आता क्योंकि मौसम सही है और कोई त्योहार भी नहीं है। उम्मीद है कि समस्या का समाधान निकाला जाएगा।' 

झारखंड का हाल बेहाल
बता दें कि शहरी क्षेत्रों में औसतन पांच और ग्रामीण अंचल में करीब सात घंटे से ज्यादा की बिजली कटौती हो रही है। जिससे लोग काफी परेशान हैं। राज्य के ज्यादातर हिस्सों का पारा 40 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा है। पश्चिम सिंहभूम, कोडरमा और गिरिडीह जिले हीटवेव की चपेट में हैं। जबकि कई और जिले इसकी चपेट में आ सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें-पंजाब में पावर कट : जिस संकट से निपटने चन्नी सरकार रही फेल, अब वही भगवंत मान की चुनौती बना

इसे भी पढ़ें-देश में बिजली संकट नहीं, कोयला मंत्री का दावा-एक महीना का कोयला अभी स्टॉक में, आपूर्ति भी लगातार

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios